रवि किशन गोरखनाथ मंदिर में बनायेंगे अपना कैंप ऑफिस

  • मुख्यमंत्री योगी से आशीर्वाद लेकर गोरखपुर के लिए रवाना
  • होटल में रुकने की जगह मंदिर के किसी कमरे में रुकेंगे भाजपा प्रत्याशी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सीट (गोरखपुर सदर) से चुनाव लड़ रहे भाजपा प्रत्याशी रवि किशन शुक्ला आज से गोरखपुर में चुनाव प्रचार की शुरुआत करेंगे। रवि किशन ने गोरखपुर जाने से पूर्व लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर उनका आशीर्वाद लिया और चुनाव के दौरान किसी होटल में रुकने के बजाय गोरखनाथ मंदिर के ही किसी कमरे में रुकने का निर्णय लिया है। इतना ही नहीं रवि किशन ने गोरखनाथ मंदिर परिसर में ही अपना चुनावी कैंप ऑफिस बनाने की योजना भी बनाई है। जिसकी सारी तैयारी लगभग पूरी हो गई है।
रवि किशन ने आज सुबह लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलकात की और करीब आधे घंटे तक चुनाव संबंधी रणनीति पर चर्चा की। योगी ने रवि किशर को न सिर्फ विजयी होने का आशीर्वाद दिया बल्कि चुनाव को गोरखनाथ मंदिर में ही रहकर संचालित करने की अनुमति भी दी। मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद रवि किशन ने कहा कि वे योगी जी के साथ ही गोरखपुर जाना चाहते थे। लेकिन उनका कार्यक्रम आज अयोध्या और देवीपाटन में हैं। वे कल गोरखपुर पहुंच जाएंगे। मीडिया से बातचीत में भोजपुरी फिल्म स्टार रवि किशन ने कहा कि यह चुनाव देश का चुनाव है। आतंकवाद के खिलाफ चुनाव है। देश प्रेम के लिए चुनाव है। मैं हर घर जाऊंगा, हर दरवाजा खटखटाऊंगा। योगी जी का मंत्र लेकर जा रहा हूं, विरोधियों का पता नहीं चलेगा।

गोरखनाथ मंदिर के प्रति आस्था का मिलेगा लाभ

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। दरअसल, रवि किशन भले ही बीजेपी के सिंबल पर चुनाव लड़ रहे हों, लेकिन वह दिखाना चाहते हैं कि वे गोरखनाथ मंदिर के प्रत्याशी हैं। इसके पीछे की वजह इस मंदिर को लेकर लोगों की आस्था भी है। 1989 से इस सीट पर गोरखनाथ मंदिर का कब्जा रहा है। 2018 के उपचुनाव में बीजेपी ने उपेन्द्र शुक्ला को मैदान में उतारा था, लेकिन सपा के सिंबल पर लडऩे वाले निषाद पार्टी के प्रवीण निषाद से वह हार गए थे। जिसके बाद कहा जा रहा था कि मंदिर का कैंडिडेट न होने की वजह से यह सीट बीजेपी हारी थी। इसलिए रवि किशन ने गोरखनाथ मंदिर में ही अपना चुनावी कैंप ऑफिस बनाने का निर्णय लिया है। रवि किशन यह जता रहे हैं कि वह योगी और मंदिर के कैंडिडेट हैं। साथ ही खुद को बाहरी की जगह बड़हलगंज के शुक्ला बता रहे हैं।

  • 1989 से इस सीट पर गोरखनाथ मंदिर का कब्जा रहा है।
  • 2018 के उपचुनाव में बीजेपी ने उपेन्द्र शुक्ला को मैदान में उतारा था।

गठबंधन एक फ्लॉप शो

सपा-बसपा गठबंधन पर रवि किशन ने कहा कि यूपी में गठबंधन एक फ्लॉप शो की तरह है। कांग्रेस अपना पता ढूंढ़ रही है। सपा-बसपा अपने लाभ की वजह से एकजुट हुई हैं। इसलिए चुनाव में बीजेपी जीतेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए चुनाव हो रहा है। प्रधानमंत्री के पास कोई बैंक बैलेंस नहीं है। एक एकड़ जमीन नहीं है। उनका भाई किराने की दुकान पर रहता है। उनकी मां एक छोटे से कमरे में रहती हैं। यह चुनाव देश की अस्मिता का चुनाव है। देश की सुरक्षा का चुनाव है। उन्होंने कहा कि विपक्ष के लिए एक ही बात कहूंगा ‘जिंदगी झंड बा, फिर भी घमंड बा।’

सपा प्रत्याशी से सीधा मुकाबला

भाजपा प्रत्यासी रवि किशन का मुकाबला सपा के रामभुआल निषाद से है। रवि किशन को उम्मीद है कि बीजेपी की प्रचंड लहर में वह इस सीट से जीत जरूर दर्ज करेंगे। इससे पहले वे मंगलवार देर शाम लखनऊ पहुंचे। यहां कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा था कि गठबंधन से उनकी कोई टक्कर नहीं है और वे चुनाव जीत रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने तलाक पीडि़त महिलाओं से की मुलाकात

  • पीडि़ता को न्याय का भरोसा दिलाया

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज तीन तलाक पीडि़त महिलाओं से मुलाकात की। इस दौरान महिलाओं ने मुख्यमंत्री के सामने अपनी समस्या को विस्तार से बताया। वहीं मुलाकात के बाद एक महिला ने कहा कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि महिलाओं को कूड़ा-कचरा समझने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। तलाक पीडि़त महिला ने बताया कि उसके पति ने जबरन तलाक देकर दूसरी शादी कर ली। अब सीएम योगी ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है।
तलाक पीडि़त मुस्लिम महिला नियाज बेगम ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुस्लिम महिलाओं का समर्थन कर रहे हैं, इससे हम लोग खुश हैं। उनका कहना है कि महिलाओं को कोई भी व्यक्ति खिलवाड़ न समझे। सरकार मुस्लिम महिलाओं के लिए काम कर रही है। इसलिए पीडि़ता को न्याय अवश्य मिलेगा। बता दें कि योगी आदित्यनाथ पर आचार संहिता उल्लंघन के मामले में चुनाव आयोग ने उनके चुनाव प्रचार करने पर 72 घंटे की रोक लगा रखी है। प्रतिबंध के बाद यूपी के सीएम प्रचार तो नहीं कर रहे हैं, लेकिन हनुमान मंदिर में दर्शन जरूर कर रहे हैं। इसी क्रम में आज योगी अयोध्या पहुंच रहे हैं। यह उनका दूसरा निजी दौरा है। अयोध्या के बाद वह बलरामपुर जिले में स्थित शक्ति पीठ देवीपाटन भी जाएंगे।

परिवारवाद के नारे का समर्थक नहीं रहा है आजमगढ़: यशवंत सिंह

  • कहा, लोकतंत्र के नये राजा-रानी को हराएगी जनता

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
आजमगढ़। भारतीय जनता पार्टी के एमएलसी यशवंत सिंह ने आजमगढ़ में चंद्र शेखर स्मारक ट्रस्ट की तरफ से आयोजित कार्यक्रम में युवा तुर्क व पूर्व पीएम चंद्रशेखर को उनकी 93वीं जयंती पर याद किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि समाजवाद का मतलब सबका उदय है, समाज के अंतिम आदमी का उदय है, सबका साथ-सबका विकास है, समाजवाद के नाम पर सबके ऊपर नए राजा -रानी, उनके परिजनों और उनके कारोबार की स्थापना नहीं है।
यशवंत सिंह ने कहा कि डॉक्टर लोहिया ने नारा दिया था, पावें पिछड़े सौ में साठ। इस नए राजा का नारा है-हम, हमारी पत्नी, हमारा परिवार। इस नई रानी का नारा है- एक नारायण, नकद नारायण। उन्होंने कहा कि इन नए राजा रानी के वर्चस्व के रथ को रोक देना ही राष्ट्रपुरुष चंद्रशेखर को सच्ची श्रद्धांजलि है। इस अवसर पर आजमगढ़ सदर लोकसभा क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार दिनेश लाल यादव उर्फ निरहू ने कहा राष्ट्र सर्वोपरि है। चंद्रशेखर जी ने देश के नाम पर कभी कोई समझौता नहीं किया उन्हें सत्ता से नहीं बल्कि देश से प्यार था। इसलिए जातिवाद, परिवारवाद के नारे को मिटाकर राष्ट्रवाद के नारे को सार्थक करना आवश्यक है।

कांग्रेस सत्ता में आई तो भारत पर होगी आईएसआईएस की हुकूमत: रिजवी

  • शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन ने दिया विवादित बयान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है। रिजवी ने कहा कि अगर देश में कांग्रेस सत्ता में वापस आती है तो भारत पर आईएसआईएस की हुकूमत होगी।
रिजवी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदी को हटाने की साजिश पाकिस्तान और अफगानिस्तान से हो रही है। आईएसआईएस ये समझ रहा है कि हिंदू वोट कई जगह बंट रहा है। अगर मुसलमानों को एक जुट करके मोदी के खिलाफ वोट करवा दिया जाए तो हिंदुस्तान में कांग्रेस की हुकूमत बनवाई जा सकती है। ऐसे में वसीम रिजवी ने मतदाताओं से अपील करते हुए कहा कि हर हिंदुस्तानी को राष्ट्रीय हित और आतंकी साजिश को समझते हुए अपने मताधिकार का इस्तेमाल करना चाहिए।

कैलाश विजयवर्गीय ने चुनाव लडऩे से किया इनकार

  • कहा, देश हित और पार्टी हित में लिया निर्णय

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने लोकसभा चुनाव लडऩे से इनकार कर दिया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि इंदौर की जनता, कार्यकर्ता और देशभर के शुभचिंतकों की इच्छा है कि मैं लोकसभा चुनाव लड़ूं, पर हम सभी की प्राथमिकता समर्थ और समृद्ध भारत के लिए नरेंद्र मोदी को फिर से पीएम बनाना है। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल की जनता मोदी जी के साथ खड़ी है, मेरा बंगाल में रहना कर्तव्य है, अत: मैंने चुनाव नहीं लडऩे का निर्णय लिया है।
विजयवर्गीय ने आगे लिखा कि आशा है कि आप भी देशहित एवं पार्टीहित के मेरे निर्णय से सहमत होंगे और पार्टी जिन्हें भी प्रत्याशी बनाएगी उनकी जीत के लिए जी जान से जुट जाएंगे। मेरी न सिर्फ इंदौर बल्कि पूरे देश के मतदाताओं से विनती है कि एनडीए जैसी मजबूत सरकार और मोदी जी जैसे मजबूत पीएम के लिए मतदान करें। यह सच्चे अर्थों में राष्ट्र की सेवा होगी।

Loading...
Pin It