दो दिन बाद भी कारोबारी के हत्यारों का सुराग नहीं लगा सकी पुलिस

  • पीजीआई क्षेत्र में मिला था शव, कुछ लोगों से हो रही पूछता

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पीजीआई थाना क्षेत्र में व्यवसायी की हत्या के मामले में पुलिस अभी भी खाली हाथ है। दो दिन बाद भी पुलिस हत्यारों को पकडऩे में नाकाम है। इस मामले में थानाध्यक्ष रविन्द्र नाथ राय का कहना है कि कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। जल्द ही मामले का पर्दाफाश किया जाएगा।
मोहनलालगंज के कल्ली पूरब गांव निवासी राकेश कुमार गौतम (40) अपने भाई सुंदरलाल के साथ ही पीजीआई क्षेत्र में बंद पड़े पंप के पास कपड़ों का ठेला लगाता था। सुंदरलाल के अनुसार शनिवार रात करीब दस बजे घर लौटते समय गांव से आधा किमी पहले ओमेक्स सिटी के पास राकेश शौच के लिए रुक गया। इसके बाद सुंदर ठेला लेकर घर चला गया। दो घंटे बाद भी राकेश के न पहुंचने पर परिवार ने मोबाइल नंबर मिलाया। फोन बंद होने पर तलाश शुरू की गई। उसका शव बाग किनारे खून से लथपथ मिला। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस को शव के पास से दो सिरिंज मिली हैं। इसके बाद आसपास खंगालने पर करीब सौ मीटर आगे बाग में लगे ट्यूबवेल की टंकी में भी वैसी ही दो दर्जन से ज्यादा सिरिंज, नशे के इंजेक्शन और शराब की खाली बोतलें बरामद हुईं। आशंका है कि लूट के इरादे से ही नशेडिय़ों ने राकेश की हत्या की होगी। शव पर हथियार से वार के निशान भी थे। वहीं इसकी सूचना मिलने पर लोग आक्रोशित हो गए और शव रायबरेली हाई-वे पर रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। नायब तहसीलदार ज्ञानेंद्र सिंह ने सडक़ दुर्घटना बीमा योजना के तहत पांच लाख रुपये की सहायता और प्रशासन की तरफ से तीस हजार देने का आश्वासन दिया।

Loading...
Pin It