पुलिस महकमे में अब छुट्टी घोटाला, भागे आरआई

  • कप्तान की पैनी नजर ने पकड़ा, सख्ती पर अनिश्चितकालीन मेडिकल पर चले गए आरआई
  • एएसपी ग्रामीण को सौंपी गई मामले की जांच, सीओ बनने वाले हैं आरआई

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पुलिस लाइन में चल रहे छुट्टी घोटाले का मामला सामने आने पर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने जब सख्ती दिखाई तो पकड़े जाने के डर से आरआई प्रथम राणा महेंद्र प्रताप सिंह भाग खड़े हुए। उन्होंने अनिश्चितकालीन मेडिकल ले लिया है। इससे महकमे में हडक़ंप मचा हुआ है। कप्तान की इस सख्ती के कारण जहां कई पुलिसकर्मियों को पसीना आ रहा है, वहीं दूसरी तरफ कई पुलिसकर्मी भी कप्तान के रडार पर हैं।
बता दें कि पुलिस लाइन व अन्य स्थानों पर तैनात पुलिसकर्मी एक-एक माह की छुट्टïी लेकर चले जाते थे लेकिन उनके रोल में यह अवकाश नहीं चढ़ता था क्योंकि इसके पीछे आरआई की मिलीभगत थी। इस मामले को लेकर कप्तान ने एएसपी ग्रामीण गौरव ग्रोवर को जांच दी। इसकी जांच में जब अंदर की पर्तें खुलने लगीं तो आरआई को फंसने का डर लगा और वह दो दिन पूर्व अनिश्चितकालीन मेडिकल पर चले गए। पुलिस सूत्रों का कहना है कि आरआई का स्वास्थ्य एकदम सही था उनको कुछ नहीं हुआ है। इसके बाद भी वह छुट्टी पर क्यों चले गये, यह सवाल महकमे में चर्चा का विषय बना हुआ है।

300 लोगों की छुट्टिïयों का हुआ घोटाला

कप्तान कलानिधि नैथानी ने कहा कि 300 पुलिसकर्मी ऐसे हैं जो अवकाश पर गए हैं लेकिन उनके रोल में अवकाश दर्ज ही नहीं है। यह घोर लापरवाही है। जबकि लगभग 25 से 30 पुलिस लाइन में ही तैनात हैं। कप्तान की मानें तो इस सख्ती के बाद प्रतिदिन लगभग एक दर्जन पुलिसकर्मी रोज आमद करा रहे हैं। जबकि इससे पहले ऐसा नहीं होता था।

बर्दाश्त नहीं की जाएगी लापरवाही: कप्तान

इस संदर्भ में कप्तान कलानिधि नैथानी का कहना है कि इस तरह की लापरवाही कभी बर्दाश्त नहीं होगी। इसमें जांच सौंपी गई है। रिपोर्ट आने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल 300 लोग अवकाश पर गए हैं जिनका अवकाश दर्ज ही नहीं है।

भागने की फिराक में दूसरा आरआई
पुलिस सूत्रों की मानें तो आरआई प्रथम के जाने के बाद सारा बोझ आरआई द्वितीय राम लखन मिश्रा पर आ गया है। इससे दूसरा आरआई भी कोई बहाना बनाकर भागने के चक्कर में है।

ऐसे होता है खेल
कई पुलिसकर्मी जिनकी ड्यूटी ऐसी जगह लग जाती है जिसका कोई मतलब नहीं होता या फिर पुलिस लाइन में रहते हैं, वह आरआई के माध्यम से अपनी सेटिंग कर घर का कार्य व अन्य रोजगार करने लगते हैं। इसके बदले में एक मोटी रकम आरआई को हर माह मिलती है ताकि वह अवकाश को रोल में दर्ज न करें। फिलहाल प्रथम दृष्टया मामला जांच में सही पाया गया है। जांच रिपोर्ट में दोषी पाए जाने पर वह सीओ नहीं बन पाएंगे। शायद इसी कारण से वह चले गए हैं।

सुधरने वालों को दिया मौका
कप्तान कलानिधि नैथानी ने अपनी गलती सुधारने वालों को एक मौका देने का निर्णय लिया है। यदि कोई अपनी गलती को सुधारना चाहता है और भविष्य में इस तरह की गलतियां नहीं करने का वादा कर रहा है तो कप्तान उसे माफ कर दे रहे हैं। उन्होंने एक सप्ताह के अंदर लगभग 23 पुलिसकर्मियों को बहाल किया है। उन्होंने स्वयं ही कहा है कि यदि कोई अपनी गलती सुधारना चाहता है उसे माफ कर देंगे।

हर तरफ गणपति बप्पा के जयकारे

  • बिरहाना समिति ने आयोजित किया भव्य कार्यक्रम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में गणेश चतुर्थी पर हर तरफ आकर्षक पंडाल सजाये गए हैं। पंडालों में बड़ी-बड़ी गणेश प्रतिमाओं को स्थापित कर बप्पा का अवाहन किया गया है। आधुनिक दौर में विकास और श्रद्धा के साथ ही सामाजिक सरोकारों का आइना इस बार श्री गणेशोत्सव के पंडाल में नजर आ रहा है। बिरहाना समिति ने तरह-तरह के कार्यक्रम प्रस्तुत कर सैकड़ों लोगों को मोहित किया, वहीं बप्पा की मूर्ति स्थापना और उनकी पूजा से पूरा इलाका भक्तिमय हो गया है। मनौतियों के राजा के नाम से स्थापित पंडाल का इस बार भी बीमा कराया गया है। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की थीम श्रद्धालुओं को अपनी ओर खींच रही है तो दूसरी ओर ग्रीन इंडिया व क्लीन इंडिया के प्रति श्रद्धालुओं को जागरूक किया जा रहा है।
महोत्सव में डॉलर की बढ़ती कीमत और पेट्रोल के दाम कम करने की प्रार्थना गजानन से की जा रही है। इस पंडाल में हर दिन भक्तिमय आयोजन होंगे। आयोजक मंडल के सागर गुप्ता ने बताया कि 7 दिवसीय आयोजन में हर दिन सुबह विशेष पूजन और शाम को नृत्य नाटिका होगी। इसमें 56 भोग भी लगाया जाएगा।
पंडाल में महाराष्ट्र की झलक नजर आती है। यहां हर भक्तिमय कार्यक्रम के साथ ही फैंसी ड्रेस, जादू शो व सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। हर दिन पूजन के बाद प्रसाद भोग बंटेगा। राजा की ऊंचाई 18 फीट है। चौराहे पर भी बप्पा रंग बिरंगी लाइटों संग विराजे। बिरहाना गणेश पूजा में नारायन दत्त, रामसागर, पीएस शुक्ला समेत कई अन्य उपस्थित रहे।

बहराइच: 45 दिनों में बुखार से 70 मासूमों की मौत, हडक़ंप

  • मरीजों से पटे पड़े अस्पताल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बहराइच जिले में बुखार से 45 दिनों में 70 मासूमों की जिला अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई है। जबकि 86 लोगों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जिनमें से कई मासूमों की हालत गंभीर बताई जा रही है। इस बीमारी के सबसे ज्यादा शिकार बच्चे हो रहे हैं मरीजों की संख्या में तेजी से हो रही वृद्धि के चलते अस्पताल में बेड खाली नहीं बचे हैं। जिसके चलते मरीजों का जमीन पर उपचार किया जा रहा है। इन मौतों से हडक़ंप मच गया है।
सीएमएस डॉक्टर ओपी पांडेय ने बताया कि अस्पताल में बहराइच ही नहीं श्रावस्ती गोंडा और बलरामपुर के मरीज भी आते हैं, जिसके चलते अस्पताल में मरीजों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है। 24 घंटे के दौरान 5 बच्चों की मौत हो चुकी है।

बेहिसाब पानी दोहन पर शासन ने तलब की रिपोर्ट

  • विधायक सुरेश कुमार श्रीवास्तव ने सरकार से की मांग, लागू हो भूजल विनियमन अधिनियम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। विधायक सुरेश कुमार श्रीवास्तव की मांग पर शहर के गिरते भू-जल स्तर पर शासन की ओर से जांच के निर्देश दिए गए हैं। संयुक्त सचिव राधे कृष्ण ने इस संबंध में जिलाधिकारी, नगर आयुक्त समेत प्रबंध निदेशक जल निगम को इस संबंध में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए निर्देश दिए हैं।
विधायक ने पत्र में कहा है कि शहर का भू-गर्भ जल स्तर बहुत तेजी से गिर रहा है। शहर के ग्यारह इलाकों का जल स्तर पांच मीटर से ज्यादा गिरा है। जरूरत के हिसाब से शहर वासियों को पानी नहीं मिल पा रहा है। पानी का दोहन काफी बढ़ गया है। बोरिंग व अवैध रूप से पानी निकाला जा रहा है। इसी के चलते उन्होंने सरकार से मांग की है कि सरकार भूजल विनियमन अधिनियम को लाते हुए भूजल दोहन पर प्रतिबंध लगाए। इसी क्रम में शासन की ओर से संबंधित विभागों से रिपोर्ट तलब की गई है।

रेप पीडि़ता ने न्याय पाने के लिए सीएम योगी को लिखा खून से खत

  • कौशांबी की महिला का आरोप, एक तांत्रिक पांच साल से कर रहा ब्लैकमेल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी के कौशाम्बी में एक मुस्लिम रेप पीडि़ता ने सीएम योगी आदित्यनाथ को अपने खून से खत लिखकर मदद की गुहार लगाई है। महिला का आरोप है कि एक तांत्रिक पिछले पांच सालों से उसे ब्लैकमेल कर उसके साथ रेप कर रहा था। जिले के सांसद व भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चे के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनोद सोनकर अपने राजनीतिक फायदे के लिए दुराचार के आरोपी बाबा अजमल शाह का बचाव कर रहे है, जिसके चलते उसे इंसाफ नहीं मिल रहा है।
पीडि़ता ने लिखा है कि पांच साल पहले वह बीमारी से निजात पाने के लिए तांत्रिक बाबा अजमल शाह के पास गई थी, उसने धोखे से कुछ नशीला पदार्थ खिलाकर उसके साथ रेप किया। इसके बाद वह लगातार ब्लैकमेल कर उसे अपने पास बुलाता रहा। जब वह कुछ दिन पहले आरोपी तांत्रिक के खिलाफ शिकायत लेकर थाने गई तो वहां उसकी मदद करने के बजाय उल्टा उसके व पति के साथ मारपीट की गई और थाने से भगा दिया गया। सीएम को खून से लिखे गए खत में पीडि़ता ने कई गंभीर आरोप भी लगाए हैं। वहीं मामले के तूल पकडऩे के बाद बैकफुट पर आई कौशाम्बी पुलिस ने आरोपी तांत्रिक के खिलाफ रेप का मुकदमा दर्ज कर लिया है। हालांकि आरोपी तांत्रिक को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। यह मामला करारी इलाके का है।
एएसपी अशोक कुमार का कहना है कि दुराचार के आरोपी बाबा अजमल शाह के विरुद्ध आईपीसी की धारा 452, 376 के तहत केस दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। फिलहाल पुलिस घटना की जांच कर रही है।

 

Loading...
Pin It