Top

फिर जहरीली शराब ने छीनी तीन जिंदगियां, 19 लड़ रहे जिंदगी और मौत के बीच

फिर जहरीली शराब ने छीनी तीन जिंदगियां, 19 लड़ रहे जिंदगी और मौत के बीच



अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में जहरीली शराब पीने से ईंट भ_ों में मौत का नया मामला सामने आया है। जहरीली शराब पीने से 3 भ_ा मजदूरों की मौत हो गई है, जबकि 19 भ_ा मजदूरों की हालत गंभीर है। गंभीर हालत में भर्ती मजदूर अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं। कुछ मजदूरों ने बताया कि नहर के किनारे गुड इवनिंग ब्रांड की देशी शराब पड़ी थी। भ_े के कर्मचारियों ने जब शराब लेकर पी ली तो अब तक तीन लोगों ने अपनी जिंदगी को अलविदा कह दिया है। वहीं, 19 भ_ा मजदूरों की हालत नाजुक बनी हुई है।
एसडीएम कोल रंजीत सिंह ने मीडिया को बताया कि मरने वालों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. सभी लोगों का बेहतर इलाज जारी है। मजदूरों ने बताया है कि नहर में गुड इवनिंग ब्रांड की शराब मिली थी, जिसे भ_ा मजदूरों ने दिन भर पी लिया, जिसके बाद अब तक 3 भ_ा मजदूरों की मौत हो चुकी है। 19 मजदूरों का इलाज चल रहा है।
पूरा मामला थाना जावा क्षेत्र के रोहिरा गांव के एक भट्टे का है, जहां गुड इवनिंग ब्रांड की देशी शराब ने भ_ा मजदूरों के जीवन में कोहराम मचा दिया है, इससे पहले भी शराब कांड में 87 लोगों के परिवारों में कोहराम मचा दिया था। जिसमें 35 लोगों की मौत हो गई। बाकी सभी के विसरा को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद आगरा लैब भेज दिया गया है। पूर्व में जहरीली शराब पीने से 13 लोगों की आंखों की रोशनी चली गई थी, तो पुलिस व आबकारी विभाग के खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई, जिसमें दो सीओ, तीन थाना प्रभारी व दो चौकी प्रभारी को निलंबित कर दिया गया तो आबकारी विभाग के सात अधिकारियों और कर्मचारियों को भी निलंबन की कार्यवाही का सामना करना पड़ा।
लेकिन दुख की बात है कि अलीगढ़ जिले में इतनी बड़ी घटना के बावजूद डीएम और एसएसपी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई, जबकि डीएम पिछले 4 साल से अपनी कुर्सी पर बैठे हैं। अब देखना यह होगा कि लंबे समय से जिले में काम कर रहे अधिकारियों के खिलाफ सरकार क्या कार्रवाई करती है। वहीं, जिले में शराब से मौत के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। आखिर कहां से आ रही है यह जहरीली शराब, अभी तक पुलिस और जिला प्रशासन इसकी पुष्टि नहीं कर पाया है।


Next Story
Share it