अलीगढ़ जहरीली शराब कांड: अब 22 जिंदगियों को निगला जहरीली शराब ने

अलीगढ़ जहरीली शराब कांड: अब 22 जिंदगियों को निगला जहरीली शराब ने


अलीगढ़। यूपी में जहरीली शराब का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। कुछ समय अंतराल के बाद लगातार ऐसी खबरें सामने आती रहती हैं जिसमें जहरीली शराब लोगों की जान ले रही है। हर घटना के बाद लगातार जिम्मेदार ऐसी घटना के दोबारा न होने की बात कहते हैं लेकिन सच्चाई यही है कि ये घटनाएं लगातार हो रही हैं और इन पर लगाम कसने में जिम्मेदार नाकाम साबित हो रहे हैं। जहरीली शराब का कारोबार करने वाले धडल्ले से अपने फायदे के लिए लोगों की जान का सौदा कर रहे हैं। ताजा मामला यूपी के अलीगढ़ से हैं जहां पर अब तक जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या 22 तक पहुंच गई है।
मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक सीएमओ ने बताया कि जहरीली शराब से अब तक 22 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, पुलिस ने मामले में 6 आरोपितों को भी गिरफ्तार किया है। बता दें कि शुक्रवार को पास के गांव के कुछ लोगों ने लोढ़ा क्षेत्र में ठेके की दुकान से शराब पीकर खरीदी थी।
इस घटना के बाद राज्य सरकार ने कड़े कदम उठाते हुए जिला आबकारी अधिकारी समेत पांच लोगों को निलंबित कर दिया है। इस मामले में शराब की दुकान के मालिक समेत 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जिलाधिकारी ने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। अलीगढ़ के जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने संवाददाताओं को बताया कि घटना की समयबद्ध मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दे दिए गए हैं और यह जांच अपर जिलाधिकारी स्तर के अधिकारी द्वारा की जाएगी। उन्होंने कहा कि जांच में दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ प्रशासन रासुका लगा सकता है।
अपर जिलाधिकारी (वित्त) विधान जायसवाल ने बताया कि जिला प्रशासन की जांच में पता चला है कि शराब के शिकार ज्यादातर लोग तीन थाना क्षेत्र लोढ़ा, खैर और जनवा के रहने वाले हैं। अतिरिक्त मुख्य सचिव (आबकारी) संजय भूसरेड्डी ने मीडिया को बताया कि अलीगढ़ के जिला आबकारी अधिकारी धीरज शर्मा, आबकारी निरीक्षक राजेश कुमार यादव और चंद्रप्रकाश यादव, प्रधान आबकारी सिपाही अशोक कुमार, आबकारी आरक्षक रामराज राणा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई शुरू कर दी गई है।
उधर, इस घटना के बाद से सूबे का सियासी पारा चढ़ गया है। कांग्रेस को सरकार पर हमला करने का एक और मौका मिल गया है। जहरीली शराब से लोगों की मौत पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि सरकार बताए कि उनके कार्यकाल में जहरीली शराब के अवैध कारोबार को कौन संरक्षण दे रहा है। किसके दबाव में अवैध शराब कारोबारियों पर कार्रवाई नहीं हो रही है? लल्लू ने एक बयान में नैतिकता के आधार पर राज्य सरकार के आबकारी मंत्री के इस्तीफे की मांग की है। इस घटना को लेकर विपक्ष व्यापक स्तर पर सरकार को घेरने की तैयारी कर रहा है।


Next Story
Share it