Top

मोदी-योगी के बीच टकराव बढ़ा तो भाजपा को होगा नुकसान

मोदी-योगी के बीच टकराव बढ़ा तो भाजपा को होगा नुकसान

मोदी-योगी के बीच टकराव बढ़ा तो भाजपा को होगा नुकसान

कोर वोटर्स दूर हुए तो विपक्ष होगा मजबूत

4पीएम की परिचर्चा में उठे कई सवाल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। यूपी में आगामी चुनाव से पहले मोदी-योगी के बीच शीत युद्ध जारी है। यदि यह टकराव चुनाव तक जारी रहा तो पार्टी को भारी नुकसान झेलना पड़ सकता है क्योंकि ऐसे टकराव से पार्टी के कार्यकर्ताओं में निराशा होती है। इन सबके बीच चुनाव को देखते हुए संघ और केंद्रीय नेतृत्व चाहता है कि उसका हिन्दू वोट मजबूत रहे और जातियों का समीकरण अलग न हो तो दूसरी ओर विपक्ष चाहता है कि जातियों के समीकरण बंट जाएं और मुस्लिम वोट उनके पक्ष में आ जाएं। यह भाजपा का गणित बिगाड़ देंगी। कुछ ऐसी ही महत्वपूर्ण बातें निकलकर आई वरिष्ठ पत्रकार एन के सिंह, वरिष्ठ पत्रकार व लेखक विजय त्रिवेदी, पत्रकार अभिषेक कुमार व 4पीएम के संपादक संजय शर्मा के साथ एक लंबी परिचर्चा में।

वरिष्ठ पत्रकार एनके सिंह ने कहा कि जब भी राजनीति में दो बड़े नेताओं में वर्चस्व को लेकर टकराव होता है तो पार्टी और कार्यकर्ताओं में विश्वास की कमी होती है क्योंकि राजनीति में विकास नहीं बल्कि नेता की धारणा मायने रखती है। यदि यह चुनाव तक जारी रहा तो टिकट बंटवारे तक स्थितियां और बिगड़ जाएंगी। इसके अलावा यदि पार्टी अपने कोर वोटर्स से दूर होगी तो विपक्ष उभर कर सामने आ जाएगा। वरिष्ठ पत्रकार विजय त्रिवेदी ने कहा कि जब हिंदुत्व का सबसे बड़ा चेहरा एक हिन्दू ह्रदय सम्राट से टकराएगा तो साफ तौर पर इसका भारी नुकसान पार्टी को उठाना पड़ेगा। इसके अलावा एके शर्मा को दरकिनार करने के बाद एक संदेश योगी ने दिया है कि कौन बड़ा नेता है, यह चुनाव तय करेगा। पर चुनाव के विषय में संघ-मोदी-योगी सभी यह चाहेंगे कि जातियां न बंटे, हिन्दू का वोट हमारी तरफ रहे क्योंकि चुनाव में एजेंडा चलता है, मुद्दे नहीं।

पत्रकार अभिषेक कुमार ने कहा कि हम साल 2017 में देख चुके हैं कि जब एक सेनापति अपने परिवार की लड़ाई के कारण दिग्भ्रमित हो गया था और उसे सत्ता से हटना पड़ा था। नरेन्द्र मोदी इस समय पिछड़ी जाति का सबसे बड़ा चेहरा हैं। ऐसे में मोदी-योगी के इस टकराव को जितना आगे बढ़ाया जाएगा, इसे उतना ही अगड़ा बनाम पिछड़ा की लड़ाई बताया जाएगा, जिसका सीधा फायदा विपक्ष को होगा क्योंकि यूपी में चुनाव आते-आते मुद्दा जाति आधारित हो जाएगा।

सीबीआई जांच में फंसी कंपनी का एम्बुलेंस ठेका निरस्त करने की मांग

रिटायर आईपीएस अमिताभ ठाकुर और सोशल एक्टिविस्ट नूतन ठाकुर ने सीएम को भेजा पत्र

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। अमिताभ ठाकुर तथा डॉ. नूतन ठाकुर ने राजस्थान में सीबीआई जांच में फंसी कंपनी को यूपी में एम्बुलेंस का काम दिए जाने पर कड़ी आपत्ति की है। सीएम योगी आदित्यनाथ को भेजी अपनी शिकायत में उन्होंने कहा कि एडवांस लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस सेवा (एएलएस) के लिए 21 जनवरी 2021 को टेंडर निकाला गया। 22 मई को एम्बुलेंस संचालन के लिये फाइनेंशियल बिड खुली जो जिगित्सा हेल्थ केयर प्राइवेट लिमिटेड को दी गयी, जिसके बाद जिगित्सा ने बिना कोई देरी किये इसके लिए मैनपावर हेतु विज्ञापन निकाला।

रिटायर आईपीएस अमिताभ तथा नूतन के अनुसार इस कंपनी को इतना संवेदनशील काम दिया जाना अत्यंत गंभीर एवं आपत्तिजनक मामला है। इसका पहला कारण यह है कि इस कंपनी के खिलाफ राजस्थान में सीबीआई जांच हुई जिसमे सीईओ श्वेता मंगल सहित कई अफसरों पर कोर्ट में चार्जशीट भेजा गया। इसी प्रकार मध्यप्रदेश में इस कंपनी को एम्बुलेंस संचालन के लिए चयन करने के बाद उस पर मरीजों की फर्जी केस आईडी बनाना समेत तमाम गड़बडिय़ों के आरोप हैं तथा मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में भी इस संबंध में पीआईएल चल रहा है। उड़ीसा में भी इस कंपनी के खिलाफ हाईकोर्ट में पीआईएल दायर हुआ जिसकी सुनवाई चल रही है। अमिताभ तथा नूतन ने मुख्यमंत्री को ये सभी अभिलेख भेजते हुए अविलंब इस कंपनी का टेंडर निरस्त करने की मांग की है।

मुनीश्वरनाथ होंगे इलाहाबाद हाईकोर्ट के एक्टिंग चीफ जस्टिस

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। इलाहाबाद हाईकोर्ट के नए चीफ जस्टिस के लिए नामों की तलाश पूरी हो गई । जस्टिस मुनीश्वरनाथ भंडारी एक्टिंग चीफ जस्टिस होंगे। मौजूदा जजों में सबसे सीनियर जस्टिस मुनीश्वर नाथ भंडारी को एक्टिंग चीफ जस्टिस के तौर पर कार्यभार सौंपा जाएगा। सुप्रीम कोर्ट की कोलेजियम ने अधिसूचना जारी की है। वर्तमान चीफ जस्टिस संजय यादव 25 जून को सेवानिवृत्त हो रहे हैं।

तहखाने में पिता व दो बेटों समेत चार की मिली लाश, सनसनी

जहरीली गैस से मौत की आशंका पुलिस कर रही जांच

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। मुरादाबाद स्थित डिलारी थानाक्षेत्र के गांव राजपुर केसरिया में एक घर के तहखाने में पिता और उसके बेटों सहित चार लोगों की लाश मिली है। पुलिस मौत की वजह किसी जहरीली गैस के कारण दम घुटने से होना मान रही है। फॉरेंसिक टीम ने भी मौके का मुआयना किया। चार मौतों से क्षेत्र में सनसनी फैल गई है।

गांव राजपुर केसरिया निवासी 50 वर्षीय राजेंद्र पुत्र नारायण सैनी की गांव में ही सीमेंट की दुकान है। पुलिस ने बताया कि राजेंद्र के घर में ही तहखाना बना है। जहां सोमवार देर रात ढाई बजे चार लोगों की लाश मिली है। इनमें राजेंद्र, उनके दो बेटों हरकेश (30), प्रीतम (25) और एक अन्य व्यक्ति रमेश (40) शामिल हैं। सीओ ठाकुर द्वारा डॉ. अनूप सिंह ने बताया कि शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है। अब तक की जांच में तहखाने में किसी जहरीले पदार्थ के बनाए जाने से गैस बनने का मामला सामने आ रहा है। जिससे दम घुटने से चारों की मौत हुई है।




Next Story
Share it