Top

हिमालय क्षेत्र से अवैध कब्जा हटाये चीन वरना चुकानी होगी भारी कीमत: यशवंत

हिमालय क्षेत्र से अवैध कब्जा हटाये चीन वरना चुकानी होगी भारी कीमत: यशवंत

घर में घुसकर सबक सिखाना जानता है भारत, चीन के सामान का करें बहिष्कार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लोकतंत्र सेनानी कल्याण समिति के संरक्षक व विधान परिषद सदस्य यशवंत सिंह ने कहा है कि चीन सम्पूर्ण हिमालय क्षेत्र को अपने अवैध कब्जे से तत्काल मुक्त करे। यदि उसने ऐसा नहीं किया तो उसे आर्थिक मोर्चे पर भारी कीमत चुनानी पड़ेगी। केवल हिमालय नहीं तिब्बत को भी आजाद करने के लिए विवश होना पड़ेगा।
चन्द्रशेखर की 8 जुलाई को होने वाली 13वीं पुण्यतिथि को लेकर शुक्रवार को हुई लोकतंत्र सेनानी कल्याण समिति की ऑनलाइन बैठक में समिति के संरक्षक विधानपरिषद सदस्य श्री सिंह ने कहा कि चीन को यह समझना चाहिए कि भारत अब 1962 वाला भारत नहीं है। अब भारत मोदी और योगी के नेतृत्व वाला भारत है जो दुश्मन को उसके घर में घुसकर सबक सिखाना जानता है। उन्होंने कहा कि आर्थिक मोर्चे पर चीन को सबक सिखाने का दायित्व इस देश के हर नागरिक का है। इसके लिए हम लोगों को लेकर चीन निर्मित सामग्री का उपयोग बन्द कर देना है। इससे आर्थिक मोर्चे पर चीन की कमर टूट जाएगी। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र सेनानी कल्याण समिति के तत्वावधान में चार वर्ष से चल रही चीन निर्मित सामग्री बहिष्कार आंदोलन जन आंदोलन बन चुका है। लोग स्वत: चीन निर्मित सामग्री का बहिष्कार कर रहे हैं। बैठक की अध्यक्षता लोकतंत्र सेनानी समिति के अध्यक्ष रामसेवक यादव ने की। संयोजन और संचालन चीन निर्मित सामग्री बहिष्कार मोर्चा के संयोजक लोकतंत्र सेनानी धीरेन्द्र नाथ श्रीवास्तव ने किया। ऑनलाइन बैठक में लोकतंत्र सेनानी समिति के यमुना प्रसाद अवस्थी, अनिल सिंह, रविन्द्र सिंह, रामाश्रय यादव, फूलसिंह, रामचन्द्र यादव, रामबाबू खंडेलवाल, रामेश्वर दयाल यादव और सहदेव सिंह शामिल हुए। बैठक में तय किया गया कि लॉकडाउन नियमों का पालन करते हुए कुछ साथी 8 जुलाई को चन्द्रशेखर चबूतरा दारूलशफा लखनऊ पर पहुंचेंगे। यहां चन्द्रशेखर की पुण्यतिथि पर चीन निर्मित सामग्री बहिष्कार संकल्प समारोह में शामिल होंगे।

https://www.youtube.com/watch?v=rQ1MaTRqeno

Next Story
Share it