Top

हमीरपुर व लखनऊ में साधुओं की हत्या से सनसनी, फिरोजाबाद में छात्रा को उतारा मौत के घाट

हमीरपुर व लखनऊ में साधुओं की हत्या से सनसनी, फिरोजाबाद में छात्रा को उतारा मौत के घाट

  • सिद्ध बाबा मंदिर के पुजारी को लाठी-डंडों से पीट-पीटकर मार डाला
  • लखनऊ में साधु का पेड़ से लटका मिला शव, क्षेत्रवासियों में दहशत
  • छेड़छाड़ का विरोध करने पर छात्रा को घर में घुसकर मारी गोली

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी में बदमाशों के हौसले बुलंद हैं। पुजारी और महिलाएं उनके निशाने पर हैं। अपराधियों ने हमीरपुर में एक पुजारी और लखनऊ में एक साधु की हत्या कर दी। दूसरी ओर फिरोजाबाद में तीन बदमाशों ने घर में घुसकर एक छात्रा को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। छात्रा की हत्या मामले में दो आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। तीसरा फरार है। प्रदेश में हुई इन ताबड़तोड वारदातों से पुलिस महकमे में हडक़ंप मच गया है। पुलिस मामलों की जांच कर रही है।
यूपी में महंतों और पुजारियों की हत्या का दौर थम नहीं रहा है। आज फिर दो साधुओं की हत्या हो गई। हमीरपुर के मुस्करा कोतवाली क्षेत्र के बसायक के पास सिद्ध बाबा मंदिर के पुजारी महंत रतीराम की बदमाशों ने निर्मम हत्या कर दी। बदमाशों ने महंत को लाठी-डंडे से पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया। बिवांर क्षेत्र के चंदौली गांव निवासी रतीराम यादव उर्फ रविद्र स्वरूप महाराज मंदिर में 10 साल से रहकर पूजा करते थे। तबीयत खराब होने पर वह स्थानीय युवक अनिल के साथ बाइक से इलाज करवाने बिवार जा रहे थे। रास्ते में मुस्करा क्षेत्र के बसवारी गांव के मौदहा तिराहे में दोनों पानी पीने रुके। इसी बीच सामने से आ रहा ट्रैक्टर बाइक से टकरा गया। ट्रैक्टर चालक और उसके साथियों ने अनिल को पीटना शुरू कर दिया तो पुजारी बीच बचाव करने लगे। अनिल मौका पाकर भाग निकला। ट्रैक्टर चालक व उसके साथियों ने पुजारी को पीटकर मरणासन्न कर दिया। कानपुर में इलाज के दौरान पुजारी की मौत हो गई। मुस्करा के कोतवाली प्रभारी बांके बिहारी सिंह का कहना है कि घटना के बाद ट्रैक्टर लेकर चालक भाग निकला। आरोपियों की तलाश की जा रही है। वहीं लखनऊ में काकोरी के जंगल में साधु सुखदेव साहू का शव पेड़ से लटका मिला है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया है। आशंका है कि साधु की हत्याकर शव को पेड़ से लटका दिया गया है। क्षेत्राधिकारी काकोरी कासिम आब्दी का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद कुछ कहा जा सकता है। इसके पहले भी प्रदेश में कई पुजारियों और साधुओं की हत्याएं हो चुकी हैं। दूसरी ओर फिरोजाबाद में शुक्रवार की देर रात घर में घुसकर एक छात्रा की गोली मारकर हत्या कर दी गई। किशोरी एससी समुदाय से है। घटना रसूलपुर थाना क्षेत्र के प्रेमनगर मुहल्ले की है। यहां 17 वर्षीय किशोरी 12वीं की छात्रा थी। स्कूल से लौटते में शोहदों ने उससे छेड़छाड़ की, जिसका उसने विरोध किया। परिजनों के मुताबिक रात लगभग 12 बजे शोहदों ने घर का दरवाजा खटखटाया। किशोरी के माता पिता छत पर टहल रहे थे। किशोरी पहली मंजिल के कमरे में थी। गोली चलने की आवाज सुनी तो वे नीचे भागे। देखा तो तीन युवक हवा में तमंचा लहराते हुए भाग रहे थे। पुलिस के मुताबिक तीन आरोपितों गौरव चक, मनीष यादव और सोपाली यादव के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर तलाश शुरू कर दी। दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

सामूहिक दुष्कर्म के बाद युवती को छत से फेंका
मऊ। वलीदपुर क्षेत्र के एक मोहल्ले में शुक्रवार की देररात एक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसे छत से फेंक कर हत्या करने के प्रयास का मामला सामने आया है। युवती को गंभीर हालत में आजमगढ़ के सरकारी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। पुलिस के अनुसार कल रात बिजली आने के बाद युवती का अपने घर से कुछ दूरी पर बने पावर लूम में बुनकारी का कार्य करने के लिए जा रही थी। रास्ते में एक व्यक्तिका सूनसान जगह पर मकान है। उसमें कोई नहीं रहता है। वहां पहले से ही घात लगाए कुछ लोग युवती को पकड़ कर कमरे के अंदर ले गए। आरोप है कि उसके साथ इस दौरान सामूहिक दुष्कर्म किया गया। उसके शोर मचाने पर आसपास के लोग जुट गए जिस पर आरोपियों ने पीडि़ता को छत से नीचे फेंक दिया और फरार हो गए। पुलिस आरोपितों की धरपकड़ के लिए उसके संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।

डीआईजी चंद्रप्रकाश की पत्नी ने की आत्महत्या

  • नहीं मिला कोई सुसाइड नोट

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पीटीएस उन्नाव में तैनात डीआईजी चंद्र प्रकाश की पत्नी पुष्पा प्रकाश ने आज लखनऊ के सुशांत गोल्फ सिटी स्थित अपने आवास पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। आसपास के लोगों की सहायता से डीआईजी की 36 वर्षीय पत्नी पुष्पा प्रकाश को लोहिया अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। आत्महत्या की वजह क्या है यह अभी साफ नहीं हुआ है। पुलिस जांच में जुटी है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही मामले का खुलासा किया जाएगा। हाथरस कांड की एसआईटी टीम में डीआईजी चंद्र प्रकाश सदस्य रहे हैं। वे पत्नी की मौत की खबर सुनकर लखनऊ पहुंच चुके है। उच्चाधिकारियों व पुलिस सहकर्मियों ने उन्हें ढाढ़स बंधाया है।

https://www.youtube.com/watch?v=DVsTGfpobvA

Next Story
Share it