साइकिल चलाकर रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा रहे लखनऊराइट्स

साइकिल चलाकर रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा रहे लखनऊराइट्स

सत्य प्रकाश
लखनऊ। यूं तो साइकिल को गरीबों की सवारी माना जाता है लेकिन कोरोना काल में साइकिल हर किसी के लिए मददगार साबित हुई है। साइकिल की सवारी से जहां सोशल डिस्टेंसिंग की पालना होती है। वहीं रोजाना साइकलिंग से रक्त संचार ठीक रहता है। शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। कोरोना से लडऩे के लिए साइकिल का इस्तेमाल रामबाण दवाई से कम नहीं। यही कारण है कि राजधानी लखनऊ में इन दिनों साइकिल की जमकर बिक्री हुई और लोग इसका भरपूर उपयोग करने लगे हैं।
लखनऊ की सडक़ों पर साइकिलिंग करने वाली ठाकुरगंज निवासी सिमरन ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते समूचे देश में लॉकडाउन था। आमजन घर में ही कैद होकर अपने स्वास्थ्य की देखभाल करने में असहज महसूस कर रहा था। स्कूटर, बाइक और कार आदि वाहनों पर प्रतिबंध था। ऐसे में एक मात्र साइकिल ही थी जो कि मेरे लिए ही नहीं, फिटनेस सहित सभी जरूरी काम के लिए लोगों का सहारा बनी। इससे जहां रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद मिली वहीं जरूरी कामकाज निपटाने के लिए इसका खूब उपयोग किया। सिमरन ने बताया कि संक्रमण के इस दौर में पार्कों में टहलने एवं दौड़ लगाने से बेहतर साइकिल चलाना है। सिमरन प्रतिदिन एक घंटे साइकिल चलाती हैं। आशुतोष त्रिपाठी ने बताया कि वे भी प्रतिदिन दस किमी साइकिल चलाते हैं। इससे स्टेमना तो बढ़ता ही है और शरीर भी चुस्त-दुरुस्त रहा है। जानकीपुरम निवासी कक्षा आठ की छात्रा सौम्या एवं उसकी छोटी बहन स्नेहा ने भी अपने पिता से कहकर नई साइकिल मंगवाई है। साइकिल से मोर्निंग वॉक के जरिए शरीर को स्वस्थ्य रखना इन बच्चियों की प्राथमिकता है। अर्पित रत्न श्रीवास्तव बताते हैं कि योग के अलावा साइकिल का व्यायाम सबसे अच्छा है, इससे शरीर हमेशा चुस्त-दुरस्त रहता है। अलीगंज के कपूरथला स्थित अग्रवाल साइकिल शोरूम के थोक विके्रता बताते हैं कि अनलॉक में मिली ढील के बाद इसकी बिक्री में सुधार हुआ है।

क्या कहते हैं डॉक्टर ?

केजीएमयू में दंत विशेषज्ञ डॉ. अविनाश वर्मा कहते है कि साइकिल के माध्यम से व्यक्ति अपने कामकाज तो करता ही है। साथ ही इससे मनोरंजन के साथ-साथ अनेक बीमारियां दूर भागती हैं। रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। कोरोना जैसी महामारी के दौर में तो सोशल डिस्टेंसिंग की पालना हो जाती है और संक्रमण फैलने का खतरा भी नहीं रहता है। सिविल अस्पताल में फीवर क्लीनिक के डॉॅ. विवेक का कहना है कि अनलॉक में जिम एवं पार्कों में जाने के बजाए खेल के मैदानों एवं सडक़ों पर सुबह के समय साइकिल चलाकर सेहत को दुरुस्त रखना सबसे बड़ा व्यायाम हैं। साइकिल चलाने से कई बीमारियों से भी बचा जा सकता है।

पहले लोग रोजमर्रा की जरूरत के लिए साइकिल खरीदते थे लेकिन अब खुद को फिट रखने के लिए साइकिल की खरीदारी कर रहे हैं। साइकिल के व्यायाम से कई बीमारियों से भी बचा जा सकता है। यही कारण है कि कोरोना काल में जब लोगों को साइकिल की जरूरत महसूस हुई तो लॉकडाउन खुलने के साथ ही लोगों ने खूब साइकिलें खरीदी।
-नवीन अरोरा, अध्यक्ष लखनऊ साइकिल एसोसिएशन

साइकिल चलाना स्वास्थ्य के लिए अत्यन्त लाभदायक है। साइकिलिंग करने से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इससे हमारा मस्तिष्क सतर्क और सजग रहता है। साइकिल चलाने से शरीर की सभी मांसपेशियां क्रियाशील हो जाती है, इसका फायदा पूरा दिन इनर्जी के रूप में मिलता है।
-डॉ. आशुतोष दुबे, चिकित्सा अधीक्षक सिविल अस्पताल

सीलिंग के बाद भी अवैध निर्माण, एलडीए ने साधी चुप्पी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ विकास प्राधिकरण के लिए कोरोना वायरस कामधेनू साबित हो रहा है। विहित अधिकारी ऋतु सुहास एक ओर सीलिंग की कार्रवाई का दावा कर रही हैं। वहीं दूसरी ओर सील किए गए अवैध निर्माण पर धड़ल्ले
से काम चल रहा है।
खुर्रमनगर के भूखंड संख्या 7 व 8, खसरा संख्या 276 की पांच हजार वर्ग फीट जमीन पर हो रहे अवैध निर्माण को बीते 13 अगस्त को सील कर दिया था। बावजूद इसके कॉलम बना कर स्लैब ढालने के लिए शटरिंग का काम चल रहा है। एलडीए द्वारा इस अवैध निर्माण को लेकर कई बार नोटिस भी जारी की गई लेकिन निर्माण कार्य नहीं रुका। निर्माणकर्ता ने ढलाई का काम शुरू कर दिया और अब बेरोकटोक वह दिन रात बिल्डिंग के निर्माण का कार्य कर रहा है। वहीं इस बाबत में एलडीए के सभी अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं। मामला पूरा संज्ञान में होने के बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। सूत्रों का कहना है यह अवैध निर्माण किसी बड़े नेता के कहने पर कराया जा रहा है ।

हाउस टैक्स में अब पांच प्रतिशत ही छूट

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। हाउस टैक्स में एक अक्टूबर से पांच प्रतिशत ही छूट मिल सकेगी। दस प्रतिशत छूट का आज अंतिम दिन था। महापौर संयुक्ता भाटिया व नगर आयुक्त अजय कुमार द्विवेदी ने लोगों को छूट का लाभ लेने की अपील की है। लॉकडाउन के कारण बड़ी संख्या में लोग वंचित रह गए थे। नगर आयुक्त ने बताया कि लाभ का अवसर देने के लिए 31 जुलाई को समाप्त हो चुकी समय सीमा को दो बार बढ़ाया जा चुका है। पहले 31 अगस्त व उसके बाद 30 सितम्बर की गई थी। एक अक्टूबर से 31 दिसम्बर तक पांच प्रतिशत छूट का लाभ मिल सकेगा।

https://www.youtube.com/watch?v=NhCjjbc6Cdo

Next Story
Share it