Top

संवैधानिक मूल्यों को मिटाने पर तुली है भाजपा सरकार: अखिलेश

संवैधानिक मूल्यों को मिटाने पर तुली है भाजपा सरकार: अखिलेश

बुनियादी मुद्दों से भटकाया जा रहा है जनता का ध्यान
प्रदेश में विकास ठप, किसान है आंदोलित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि जीवन मूल्यों तथा आदर्शों को तिलांजलि देकर सत्तादल का नेतृत्व नाटकीयता तथा इवेंट मैनेजमेंट जैसी चीजों में अपने दिन बिता रहा है। बुनियादी मुद्दों पर उसका ध्यान नहीं जाता है। उससे जनता को भटकाने के लिए आए दिन समारोह, लोकार्पण और उत्सव आयोजित किए जाते हैं। आज देश का अन्नदाता किसान आंदोलित है। नौजवान अपने अंधेरे भविष्य को लेकर निराशा में है। महंगाई-भ्रष्टाचार से सभी परेशान है।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री लगातार राष्ट्रीय पर्यटन पर रहते हैं। विकास के काम ठप हैं किन्तु वे फिल्म सिटी जल्द से जल्द बना लेना चाहते हैं। भाजपा नेता कलाकार न बनें, अपने संवैधानिक दायित्व का निर्वाह करें। प्रदेश में कानून व्यवस्था का भाजपा राज में राम-नाम सत्य हो गया है। महिलाओं और बच्चियों के साथ दुष्कर्म में उत्तर प्रदेश की बदनामी देश की सीमाओं से बाहर चली गई है। भाजपा लोकतंत्र और संवैधानिक मूल्यों को मिटाने पर तुली हुई है। जनता की एकजुटता से आपातकाल के काले दिन भी बीत गए थे आज तो अधिवक्ता, नौजवान सहित सभी प्रबुद्ध एकजुट हैं। इनके रहते वादा खिलाफी की ताकतें मात खाएंगी। भारत के स्वतंत्रता सेनानियों ने जो आदर्श स्थापित किए थे और संविधान में लोकतंत्र, समता एवं पंथनिरपेक्षता को अपनी उद्देशिका में शामिल किया था, उनकी रक्षा में पूर्ववत अधिवक्ताओं को अपनी भूमिका निभाने की आज बड़ी जरूरत है। सच को सच और झूठ को झूठ बताने तथा अन्याय के विरोध की क्षमता अधिवक्ताओं में ही होती है। आज सत्ता दल ने झूठ, नफरत और भय-भ्रम के जरिए जो राजनीतिक प्रदूषण फैला रखा है उसे अधिवक्ता समाज ही आगे आकर समाप्त कर सकता है।

मनाया गया अधिवक्ता दिवस

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भारत के प्रथम राष्टï्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद के जन्मदिन को अधिवक्ता दिवस मनाये जाने पर समाजवादी अधिवक्ता सभा द्वारा पार्टी मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि भारत में न्यायालयों पर लोगों का आज भी भरोसा है। सबके साथ उससे न्याय होने का विश्वास है। किसी के साथ अन्याय न हो, असमानता समाप्त हो इसके साथ संविधान आर्थिक सामाजिक तथा राजनीतिक न्याय का भी भरोसा देता है। संविधान निर्माताओं ने शोषण मुक्त समाज का सपना देखा था। व्यक्ति की गरिमा तथा प्रतिष्ठा को महत्व दिया था।

प्रदेश सरकार का ऐलान, अर्जुन और द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेताओं को हर माह मिलेंगे बीस हजार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। योगी सरकार ने इस साल राज्य के अर्जुन और द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेताओं को हर महीने 20-20 हजार रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। खेल निदेशक डॉ. आरपी सिंह ने बताया कि दो दिन पहले ही शासन से इसकी मंजूरी मिलने के बाद गुरुवार को संबंधित खिलाडिय़ों को जानकारी दे दी गई है।
खेल निदेशक के मुताबिक जिन अर्जुन अवार्ड से सम्मानित खिलाडिय़ों को यह मदद मिलेगी, उनमें मेरठ के निशानेबाज सौरभ चौधरी, वाराणसी निवासी और भारतीय बास्केटबाल टीम के कप्तान विशेष भृगुवंशी, मुजफ्फरनगर की पहलवान दिव्या काकरान, बागपत के पैरा एथलीट अंकुर धामा और आगरा से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर दीप्ति शर्मा शामिल हैैं। इसके अलावा लखनऊ के पैरा बैडमिंटन कोच और द्रोणाचार्य अवार्डी गौरव खन्ना को सरकार हर महीने 20 हजार आर्थिक सहायता देगी। सभी को इसी महीने से आर्थिक सहायता मिलनी शुरू हो जाएगी। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार 45 अर्जुन पुरस्कार विजेता, सात द्रोणाचार्य और चार ध्यानचंद पुरस्कार विजेता समेत 215 खिलाडिय़ों को हर महीने आर्थिक सहायता दे रही है। महिला क्रिकेटर दीप्ति शर्मा ने विश्व कप समेत कई अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में टीम इंडिया की जीत में अहम भूमिका निभाई। निशानेबाज सौरभ चौधरी ने एशियाई खेल में स्वर्ण पदक जीता। महिला पहलवान दिव्या काकरान ने जर्काता एशियाई खेल और कामनवेल्थ गेम में स्वर्ण जीता। बास्केटबाल खिलाड़ी विशेष भृगुवंशी ने अपने प्रदर्शन की छाप छोड़ी।

https://www.youtube.com/watch?v=llddAntt2NM

Next Story
Share it