Top

विभागों में बिना मास्क कर्मचारी मिलें तो वसूला जाए जुर्माना: मंडलायुक्त

विभागों में बिना मास्क कर्मचारी मिलें तो वसूला जाए जुर्माना: मंडलायुक्त

  • मंडलायुक्त मुकेश कुमार मेश्राम ने विभागों का किया औचक निरीक्षण

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मंडलायुक्त मुकेश कुमार मेश्राम ने आज कई विभागों का औचक निरीक्षण किया। निर्यात भवन कैंट रोड, जिला उद्योग केंद्र, संयुक्त आयुक्त उद्योग, एक्सपोर्ट प्रमोशन ब्यूरो एवं जैम सेल का जायजा लिया। निरीक्षण के समय जिला उद्योग केंद्र कार्यालय में स्थापित हेल्प डेस्क में कोई कर्मचारी बैठा नहीं मिला। इस पर मेश्राम ने अधिकारियों को फटकार लगाते हुए हेल्प डेस्क पर एक कर्मचारी की उपस्थिति अनिवार्य करने के निर्देश दिए। संयुक्त आयुक्त उद्योग के कार्यालय में चैम्बर में एक टेबल पर 8-10 व्यक्ति सटकर बैठे मिले। इस पर नाराजगी जताते हुए सभी को दो गज की दूरी बनाने के निर्देश दिए। बिना मास्क लगाए लोगों को डांटा भी। दो कर्मचारियों को चेतावनी भी दी कि यदि यदि पुन: बिना मास्क के मिले तो इनके विरूद्व 500-500 रुपए का जुर्माना वसूला जाए।
मेश्राम ने कहा कि सभी कार्यालयों में सभी कर्मचारी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करे, जो कर्मचारी बिना मास्क के मिले या सोशल डिस्टेसिंग का पालन न करें। ऐसे कर्मचारी को चिन्हित कर उनको चेतावनी पत्र जारी किया जाए और यदि भविष्य में वह कर्मचारी दोबारा उसकी पुनरावृत्ति करता है, तो उसके विरूद्व विभागीय कार्यवाही की जाए। जिला उद्योग केंद्र कार्यालय में साफ-सफाई के निर्देश दिए। इसके अलावा कहा कि 50 प्रतिशत कर्मचारियों को रोस्टर के अनुसार बुलाया जाए। साथ ही विलम्ब से आए कर्मचारियों को देरी से आने का कारण पूछे अधिकारी। उपायुक्त उद्योग कार्यालय के खस्ताहाल भवन के जीर्णोधार का कार्य में तेजी लाने की बात कही। इस अवसर पर संयुक्त आयुक्त उद्योग पवन अग्रवाल, जिला उद्योग अधिकारी मनोज कुमार सहित सभी सम्बन्धित अधिकारी मौजूद थे।

बाहरी लोगों का न लगे जमावड़ा

जिला उद्योग केंद्र कार्यालय में फाइलों का रख-रखाव सही ढंग से करने की बात कही तथा स्थापित कोविड हेल्प डेस्क के पीछे एक बैनर कोविड-19 का लगवाने के निर्देश दिए। मुकेश मेश्राम ने निर्यात भवन के पीछे कैम्पस से मलबा हटाकर उसमें वृक्षारोपण करने के निर्देश दिए। इसके अलावा भवन में बाहरी व्यक्तियों का जमावड़ा अधिक रहता है। इसके लिए भी निर्देशित किया कि मेन गेट बन्द करवाकर कर्मचारियों के आने-जाने के लिए छोटे गेट का प्रयोग किया जाए। साथ ही कहा कि बाहरी लोगों का भवन के अन्दर जमावड़ा न लगे।

चरित्रहीनता में आईपीएस के निलंबन बर्खास्तगी की मांग

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सोशल एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने सीबीआई में कार्यरत यूपी कैडर के आईपीएस अफसर अखिलेश कुमार चौरसिया के विरुद्ध उनकी पत्नी स्फूर्ति मिश्रा द्वारा दी गयी शिकायत के आधार पर उन्हें निलंबित करते हुए उनके विरुद्ध विभागीय कार्यवाही की मांग की है।
गृह मंत्री अमित शाह को भेजी शिकायत में उन्होंने कहा कि स्फूर्ति द्वारा बताए गए तथ्य अत्यंत गंभीर प्रकृति के हैं, जिसमें चौरसिया द्वारा लम्बे समय से अनैतिक व चरित्रहीन आचरण किये जाने के आरोप साक्ष्य सहित प्रस्तुत किये गए हैं। नूतन के अनुसार चौरसिया का यह आचरण अखिल भारतीय सेवा आचरण नियमावली 1968 के नियम 3 के सर्वथा विपरीत है। यदि ये आरोप सही हैं तो वे इस सेवा में रहने लायक नहीं है। अत: उन्होंने चौरसिया को अविलंब निलंबित करते हुए उनके खिलाफ विभागीय कार्यवाही शुरू करने तथा आरोप सही पाए जाने पर उन्हें सेवा से बर्खास्त करने की मांग की है।

जोन-2 के अफसरों को अपने क्षेत्र का ही पता नहीं, समस्याओं का क्या करेंगे निदान

  • 15 दिन से वार्ड 74 में बोरिंग जाम, पानी के लिए परेशान हरदीन राय वार्ड के लोग
  • नगर निगम पर ठीकरा फोड़ रहा पार्षद, नहीं हुई अब तक कोई कार्रवाई

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। योगी सरकार का स्पष्टï निर्देश है कि कोरोना काल में किसी को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो। अगर कहीं समस्या है तो संबंधित अफसर सीधे तौर पर जिम्मेदार होंगे। मगर जोन-2 के निगम अफसर कान में तेल डालकर बैठे हैं। बड़ी बात तो यह है कि जोन-2 के अफसरों को अपने क्षेत्र का ही पता नहीं, तो समस्याओं का निदान कैसे करेंगे।
वार्ड 74 के हरदीन राय वार्ड में कोठारी बंधु स्थित कई पार्कों में लगी पानी की टंकियां खराब होने से शुद्घ पानी के लिए बीते 15 दिन से बाशिंदें तरस रहे हैं। मामला उनकी जानकारी में है बावजूद जोन-2 अधिकारी लगातार लापरवाही बरत रहे हैं। दबंग पार्षद अजय कुमार दीक्षित के आगे नतमस्तक है। जबकि नगर आयुक्त ने जोन-2 के अफसर को संबंधित समस्या सुलझाने को कहा था पर वे मान हीं नहीं रहे हैं। उल्टा रिपोर्टर से लोकेशन पूछ रहे हैं कि समस्या किस जगह पर है। इससे साफ है कि वे सिर्फ कागजों में सरकारी नौकरी कर रहे हैं, उन्हें वाडऱ्ों की समस्याओं से कोई लेना-देना नहीं है। वार्ड 74 के दबंग पार्षद अजय कुमार दीक्षित उल्टा नगर निगम पर अपना ठीकरा फोड़ते हैं। खरी-खोटी सुनाते हैं। हर समस्या पर यही जवाब देते हैं कि बजट आएगा तो ही काम होगा। ऐसे में सवाल यह है कि निगम से अब तक पास किए गए बजट का पैसा कहा जा रहा है। वार्ड 74 में स्थानीय लोगों में यह कौतहूल का विषय है।

अनुशासनहीनता : नगर आयुक्त आदेशों को भी नहीं मानते कर्मचारी

नगर निगम में एक बार फिर अनुशासनहीनता देखने को मिली है। नवनियुक्त नगर आयुक्त अजय द्विवेदी ने क्षेत्रीय कर्मचारियों को आदेश किया था कि वह सुबह साढ़े छह बजे अपने जोनों में पहुंचकर उन्हें रिपोर्ट करेंगे लेकिन, जब संवाददाता ने इसकी पड़ताल की तो पता चला कि कोई भी अधिकारी क्षेत्र में नहीं पहुंचा जबकि सडक़ों पर झाड़ू लगाने वाले सफाई कर्मचारी सुबह छह बजे से क्षेत्रों में पहुंच गए थे और सफाई करने लगे थे। आलम यह रहा कि आठ बजे तक नगर निगम कार्यालय के बाहर भी सन्नाटा पसरा रहा।

हरदीनराय वार्ड में अव्यवस्थाओं का बोलबाला

राजाजीपुरम के सेक्टर-सी ब्लॉक में कोठारी बंधु स्थित हरदीन राय वार्ड 74 स्थित एएनएस कोचिंग के पास मां अन्नपूर्णा पार्क सहित कई पार्कों में नगर निगम द्वारा कालोनीवासियों को पानी उपलब्ध कराने के लिए कराई गई बोरिंग जाम पड़ी है। टंकी में पानी न चढ़ पाने के कारण लोगों को पेयजल किल्लत का भारी सामना करना पड़ रहा है। इससे लोग दूर-दराज इलाकों से पानी लाने पर मजबूर हैं। वहीं तमाम शिकायतों के बावजूद न तो पार्षद और ना ही नगर निगम व जलकल विभाग का अमला सुनवाई कर रहा है। क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि यहां अव्यवस्थाओं का बोलबाला है। कोरोना जैसी महामारी में जहां क्षेत्र में सफाई नहीं की जाती है। वहीं सैनेटाइजेशन के नाम पर खानापूर्ति की जा रही है। पार्षद और नगर निगम की अनदेखी का खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है।

विशेषज्ञों ने किया नई शिक्षा नीति पर मंथन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। महाराजा बिजली पासी पीजी कॉलेज में आज नई शिक्षा नीति 2020: उच्च शिक्षा का बदलता परिदृश्य विषय पर एक राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में दिवंगत पूर्व राष्टï्रपति प्रणब मुखर्जी को श्रद्धांजलि दी गई। इस वेबिनार को शिक्षा क्षेत्र के विशेषज्ञों द्वारा संबोधित किया गया।
वक्ताओं में विभूति पटेल पूर्व प्रोफेसर, एडवांस्ड सेंटर फॉर वुमेन स्टडीज़, टीआईएसएस, मुंबई ने अनुसंधान और बुनियादी ढांचे के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला। निशि पांडे, अंग्रेजी और आधुनिक भारतीय भाषाओं के विभाग की प्रमुख, लखनऊ विश्वविद्यालय ने राज्य में एनईपी के कार्यान्वयन के बारे में जानकारी दी। प्रोफेसर राकेश चंद्र, दर्शनशास्त्र विभाग, लखनऊ विश्वविद्यालय ने एनईपी के बारे में विस्तार से जानकारी दी। वेबिनार का आयोजन डॉ. सनोबर हैदर, डॉ. सरिता सिंह और डॉ. श्वेता मिश्रा ने आयोजित कराई थी। डॉ. हैदर ने धन्यवाद ज्ञापन किया गया। इस मौके पर प्रोफेसर मंजू दीक्षित भी मौजूद रहीं।

पीटीआई के होनहार पत्रकार अमृत नहीं रहे

  • मान्यता संवाददाता समिति ने की तीस लाख देने की मॉग
  • डीएम अभिषेक प्रकाश पहुंचे और पिता के साथ बांटा दुख

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पीटीआई के विशेष संवाददाता अमृत मोहन का आज निधन हो गया। वे बीते चार दिनों से बीमार थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनके निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। वहीं पत्रकारों ने भी उनके निधन पर शोक जताया है। राज्य मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के अध्यक्ष हेमंत तिवारी, उपाध्यक्ष अजय श्रीवास्तव और कोषाध्यक्ष ने सीएम से मांग की है कि उनके परिजनों को तीस लाख रुपए की सहायता के साथ उनके परिवार में किसी को सरकारी नौकरी दी जाए। अमृत के निधन पर जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश उनके घर पहुंचे। वहां डीएम ने उनके पिता से मिलकर दुख व्यक्त किया और अपनी संवेदनाएं व्यक्त की। अमृत मोहन को बीते चार-पांच दिनों से बुखार आ रहा था। वे घर पर ही इलाज करा रहे थे। बताया जा रहा है कि उनमें कोरोना संक्रमितों जैसे लक्षण थे। इस कारण उनकी मृत्यु हुई। रिपोर्ट आने पर ही कारण स्पष्टï हो सकेगा। पीटीआई के अभिनव पांडे का कहना है कि अमृत जैसा शांत और सौम्य पत्रकार होना मुश्किल है। 4पीएम के संपादक संजय शर्मा ने कहा कि कल नीलांशु और आज अमृत का जाना बहुत दुख की घड़ी है।

https://www.youtube.com/watch?v=VA1pne1lAAs

Next Story
Share it