Top

विपक्ष के प्रति बदले की भावना से काम कर रही सरकार: अखिलेश

विपक्ष के प्रति बदले की भावना से काम कर रही सरकार: अखिलेश

कोरोना संक्रमण और अपराध हुए बेकाबू, लोगों को नहीं मिल रहा रोजगार
सपा प्रमुख ने पार्टी के विधायकों के साथ तमाम समस्याओं पर की चर्चा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में कोरोना से दो मंत्रियों की दुखद मौतों के बाद भी भाजपा सरकार सिर्फ राजनीति में उलझी है। टेस्टिंग और इलाज का हाल बहुत बुरा है। जनता का काम-व्यापार, नौकरी, रोजगार सब निम्न स्तर पर है अगर कुछ उच्चतम स्तर पर है तो वह है अपराध और सरकार की विपक्ष के प्रति बदले की भावना से की जा रही कार्यवाही।
उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी और कानून व्यवस्था की स्थिति पर विपक्ष ही नहीं खुद सत्तारूढ़ दल भाजपा के सांसद और विधायक शासन-प्रशासन पर आरोप लगा रहे हैं। प्रदेश में सरकारी सेवाओं में आरक्षण खत्म है। अब दलित और पिछड़े वर्ग के युवकों को सडक़ पर उतर कर साइकिल चलाने को कमर कस लेनी चाहिए। इससे पहले सपा प्रमुख अखिलेश यादव पार्टी मुख्यालय में सपा के प्रमुख नेताओं और विधायकों से मिले और उनके साथ प्रदेश के समक्ष पेश तमाम समस्याओं पर चर्चा की। विधान परिषद सदस्यों ने बताया कि सदन में विपक्ष का बहुमत होने के बावजूद उनकी मांग को अनसुना कर दिया। सत्तारूढ़ दल ने अल्पमत में होने पर भी क्रम संख्या 94 पर अंकित आर्थिक आधार पर आरक्षण विधेयक की त्रुटियों को देखते हुए प्रमुख सचिव विधान परिषद को प्रतिवेदन देकर इसे प्रवर समिति को सौंपने का अनुरोध किया था। समाजवादी पार्टी ने इस पर मत विभाजन की मांग की थी। सत्तारूढ़ भाजपा ने आनन-फानन इसे पारित करा कर लोकतंत्र की हत्या की है।
वहीं विधायकों ने कहा कि कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या में लगातार वृद्धि चिंताजनक है। इलाज और अस्पतालों की दशा खराब है। भाजपा सरकार गम्भीर नहीं है। सरकार विपक्ष के प्रति बदले की भावना से काम करती है। विभिन्न जनपदों में समाजवादी कार्यकर्ताओं के खिलाफ फर्जी केस बनाए जा रहे हैं। संकट काल में पलायन कर आ रहे श्रमिकों की मदद में लगे समाजवादी नेताओं पर भी मुकदमे लगा दिए गए हैं। पुलिस फर्जी एनकाउण्टर कर रही है। मानवाधिकार आयोग और अदालत ने भी इसका संज्ञान लिया है। भाजपा सरकार ने जनहित में कोई काम नहीं किया सिर्फ बड़े-बड़े वादे किए जिनमें एक भी पूरा नहीं हुआ है। लोग भाजपा से बुरी तरह निराश है।

एयरफोर्स स्टेशन परिसर में सार्जेंट ने खुद को गोली से उड़ाया

मौके पर ही मौत, आत्महत्या के कारणों का नहीं चला पता
१११ 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
गोरखपुर। एयरफोर्स स्टेशन परिसर में शुक्रवार की दोपहर सार्जेंट धर्मेंद्र कुमार (हवलदार) ने सरकारी राइफल से गले में गोली मारकर खुदकशी कर ली। गोली चलने की आवाज सुनकर पहुंचे ड्यूटी पर मौजूद दूसरे जवानों ने घटना की जानकारी अधिकारियों को दी। 10 दिन पहले धर्मेंद्र छुट्टी से लौटे थे।
कानपुर के रावतपुर, कल्याणपुर निवासी धर्मेंद्र कुमार एयरफोर्स में सार्जेंट थे। उनकी तैनाती गोरखपुर एयरफोर्स स्टेशन में थी। पत्नी और चार साल की बेटी के साथ सैनिक विहार कॉलोनी निवासी वीके शुक्ला के मकान में किराए पर कमरा लेकर धर्मेंद्र रहते थे। शुक्रवार की सुबह नौ बजे के करीब ड्यूटी करने निकले थे। दोपहर 12 बजे के करीब एयरफोर्स स्टेशन परिसर में गार्ड रूम के पास सुरक्षा ड्यूटी के दौरान अपनी राइफल से गले में गोली मारकर ली। घटनास्थल पर ही धर्मेंद्र की मौत हो गई। प्रभारी निरीक्षक कैंट मनोज राय ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि सार्जेंट ने आत्महत्या क्योंकि इस बारे में पता किया जा रहा है। अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी।

फतेहपुरसीकरी स्मारक के अंदर मिला शव, सनसनी

हत्या की जताई जा रही आशंका, पुलिस कर रही जांच
१११ 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
आगरा। सुरक्षा के घेरे में रहने वाले संरक्षित स्मारक फतेहपुरसीकरी में आज सुबह दीवान-ए-खास में मिले शव को देखकर सनसनी फैल गई है। खबर मिलने पर आसपास के लोगों की भीड़ भी जुट गई। लोगों ने इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी।
पुलिस ने काफी प्रयास के बाद शव को बाहर निकाला तो उसकी शिनाख्त राजेश पुत्र कत्तो वाल्मीकि के रूप में हुई। राजेश, नगर पालिका परिषद फतेहपुरसीकरी में संविदा पर कार्यरत था। शुक्रवार शाम को हाजिरी लगाने की कहकर घर से निकला था। रात में वापस न लौटने पर स्वजन उसकी तलाश में जुटे थे। ग्रामीण खुदकशी या हत्या, दोनों के ही कयास लगा रहे हैं। सीकरी पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए आगरा भेजा है।

https://www.youtube.com/watch?v=m6k7TxJc2Nc

Next Story
Share it