Top

लॉकडाउन में बाजार खुलने का समय सुबह नौ बजे से रात्रि आठ बजे तक रहेगा : डीएम

लॉकडाउन में बाजार खुलने का समय सुबह नौ बजे से रात्रि आठ बजे तक रहेगा : डीएम

  • कोविड-19 से बचाव के लिए 80 टीमें गठित
  • नियम का उल्लंघन करने वालों पर होगी कार्रवाई

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने आज कोविड-19 के बचाव के लिए शहर में 80 टीमें गठित की है। टीम में पुलिस, नगर निगम, स्वास्थ्य और राजस्वकर्मी मुख्य रूप से शामिल है। टीमें अपने क्षेत्र में लॉकडाउन और निर्धारित प्रोटोकॉल का पालन कराएंगी। नियम उल्लंघन करने पर कठोर कार्रवाई होगी।
अटल बिहारी कन्वेंशन सेंटर में कोरोना संक्रमण पर समीक्षा बैठक करते हुए डीएम ने कहा कि थानावार गठित टीमें कोविड-19 से संबंधित प्रोटोकॉल व गाइड लाइन्स का अनुपालन कराएंगी। यह भी सुनिश्चित करेंगी कि संबंधित थाना क्षेत्र के तहत व्यापारिक प्रतिष्ठान/बाजार, सरकारी अद्र्घसरकारी एवं गैर-सरकारी कार्यालयों में मास्क व सेनिटाइजर का प्रयोग एवं सेनिटाइजेशन और सामाजिक दूरी का अनुपालन सुनिश्चित कराएंगे। लॉकडाउन अवधि में बाजार खुलने का समय सुबह नौ बजे से रात्रि आठ बजे तक रहेगा। इस दौरान मॉल, व्यापारिक प्रतिष्ठान, डिपार्टमेंटल स्टोर आदि में सामान पारदर्शी पॉलीथीन कवर में रखा जाए एवं ग्राहकों को छूने से मना किया जाए। दुकान में कार्य करने वाले

कर्मचारी फेसकवर, मास्क, ग्लब्स और शूज कवर का प्रयोग करेंगे तथा वहीं लोग ग्राहकोंको सामान भी देंगे। दुकान पर सामाजिक दूरी, थर्मल स्कैनिंग आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। व्यापारिक संगठनों से वार्ता कर बाजार क्षेत्र में बचाव एवं रोकथाम प्रचार एवं प्रसारण करेंगे। ठेले खोमचे आदि वेंडिंग जोन में ही रहेंगे। सरकारी व निजी कार्यालयों में कोविड-19 के नियमों व गाइडलान का पालन कराया जाए। सार्वजनिक स्थलों तथा औद्योगिक प्रतिष्ठान, अस्पताल एवं चौराहों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से संचारी रोग पर रोकथाम के बारे में प्रचार किया जाए। हॉटस्पॉट/कंटेनमेंट जोन की व्यवस्थाओं को मेडिकल प्रोटोकॉल एवं गाइड लाइन्स के अनुसार सुनिश्चित किया जाए। गाइडलाइन्स का पालन न करने वालों पर राष्टï्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम-205 की धारा-51 एवं धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाए। गाइडलाइन्स का उल्लंघनकर्ताओं के विरूद्ध चालान एवं जुर्माने की कार्यवाही की जाए। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी मनीष बंसल, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमर पाल सिंह, अपर जिलाधिकारी, टी.जी विश्वभूषण मिश्र, अपर जिलाधिकारी, नगर-पूर्वी के.पी सिंह, पुलिस उपायुक्त, पूर्वी सोमेन वर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

फीस वसूली के खिलाफ सीएमएस चौक के प्रिंसिपल का घेराव, प्रदर्शन

  • ऑनलाइन पढ़ाई के नाम पर कर रहे जबरन वसूली
  • योगी सरकार व डीएम को शिकायती पत्र लिखेंग

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के सीएमएस चौक ब्रांच में फीस वसूली के खिलाफ अभिभावकों ने प्रिंसिपल का घेराव किया। फीस में छूट देने को लेकर प्रदर्शन किया। सीएमएस स्कूल विरोधी व सरकार विरोधी नारे लगाए। अभिभावकों का कहना है कि लॉकडाउन में 30 जुलाई तक स्कूल बंद है।
शिक्षा मंत्रालय व योगी सरकार ने स्पष्टï निर्देश दे रखे है कि बच्चों की फीस अवैध तरीके से न वसूली जाए। बावजूद सीएमएस में ऑनलाइन पढ़ाई के नाम पर जबरन अप्रैल माह से फीस वसूली जा रही है। एडमिशन व अन्य चीजों के नाम पर फीस ली जा रही है। फीस न देने पर स्कूल प्रशासन ने जो व्हाटï्सअप ग्रुप बनाया है, उसमें से बच्चों को हटा देते हैं। यहां तक कि उन ग्रुपों में ऑनलाइन क्लॉस शुरू करने से पहले फीस की पाठशाला चलती है। इसी बात को लेकर जब हम लोगों ने नाराजगी जताई तो बच्चों का नाम काटने की धमकी देते हैं। कोई हमारी सुनने को तैयार नहीं है। गुस्साए 200 से अधिक अभिभावकों ने फीस वसूली के खिलाफ चौक ब्रांच पर स्कूल के गेट पर प्रदर्शन किया। बावजूद स्कूल प्रशासन ने कोई बात नहीं सुनीं। गुस्साए अभिभावकों ने कहा स्कूल की हठधर्मिता नहीं चलेगी। कोर्ट जाएंगे। योगी सरकार व जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश को पत्र लिखेंगे कि सीएमएस के सभी ब्रांचों में अप्रैल माह से अब तक की गई फीस वसूली की जांच कराई जाए। तभी अभिभावक राहत महसूस करेंगे।

अब एसीपी कैंट करेंगी लॉकअप में युवक की मौत मामले की जांच

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गोमतीनगर विस्तार थाने में चोरी के आरोप में पकडक़र लाये गए सीतापुर निवासी उमेश की मौत मामले की जांच अब एसीपी कैंट बीनू सिंह करेंगी। पहले जांच विभूतिखण्ड थाने के प्रभारी निरीक्षक श्याम बाबू शुक्ला के पास थी। जांच उच्च्चाधिकारी को सौंपे जाने से रिटायर्ड डीआईजी के लिए मुसीबत खड़ी हो गई है। एसीपी कैंट ने सभी रिटायर्ड डीआईजी समेत सभी आरोपियों की सीडीआर निकलवाने की जानकारी दी है।
उन्होंने बताया कि उमेश का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों के बयान दर्ज कराएंगे। फिर उमेश की मौत का असल कारण पता चल सकेगा। गौरतलब है कि मृतक उमेश को बीते तीन जुलाई को डीआईजी के खरगापुर स्थित निर्माणाधीन मकान में चोरी के आरोप में उनके नौकरों ने पकड़ लिया था। सूत्रों ने बताया कि नौकर राजकुमार ने रिटायर्ड डीआईजी को इसकी सूचना दी तो वह आधी रात पहुंचे और दोनों ने मिलकर उसे बर्बरता से पीटा। इसके बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया। आरोप यह भी है कि थाने में लॉकअप में भी उमेश की पिटाई की गई। इससे उसकी मौत हो गई। डीसीपी सोमेन वर्मा का कहना है कि उमेश की रिटायर्ड डीआईजी के घर में पिटाई हुई थी। डीआईजी थाने पर भी आए थे। जांच जारी है। बहरहाल डीसीपी ने चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। उमेश के भाई की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है।

क्वीन मेरी अस्पताल में बना 60 बेड का अलग वार्ड

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है, जिसका सीधा असर गर्भवती महिलाओं पर भी पड़ रहा है। इसके पीछे का कारण है कि गर्भवती महिलाओं को अस्पतालों में डिलीवरी की सुविधा का न मिलना। वहीं अब इन महिलाओं के लिए खुशखबरी है।
दरअसल क्वीन मेरी अस्पताल में 60 बेड का अलग वार्ड बनाया गया है। जहां गंभीर मरीजों को कुछ दिन रखने के बाद ग्रीन जोन वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाता है। क्वीन मेरी की विभागाध्यक्ष डॉ. उमा सिंह ने बताया कि लॉकडाउन खुलने के बाद एक जून से अब तक कुल 723 गर्भवती महिलाओं को भर्ती किया गया। 194 डिलीवरी हुईं जिनमें 215 सीजेरियन किए गए। वहीं अब तक कुल 14 कोविड-19 प्रेग्नेंसी पेशेंट आए, जिनमें पांच मरीजों के सीजेरियन किए गए। इमरजेंसी व सेमी इमरजेंसी में औसत 100 से 150 मरीज रोज आ रहे हैं। अस्पताल के गेट पर बैठा डॉक्टर हर मरीज की स्क्रीनिंग करता है। सामान्य बुखार वाली महिलाओं को फीवर क्लिनिक में या पॉजिटिव महिला को केजीएमयू में बनाए गए कोविड हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया जाता है।

तेजरफ्तार गाड़ी ने चार को कुचला, दो की मौत, तीन गंभीर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के दो थाना क्षेत्रों में तेज रफ्तार वाहनों ने चार लोगों को रौंद दिया। हादसे में दो की मौत हो गई। वहीं गंभीर घायल तीन लोग लोहिया अस्पताल में भर्ती है।
गाजीपुर क्षेत्र के अरावली में तेज रफ्तार से आ रही एक कार 32 केजे 7837 तीन युवक को रौंदते हुए अरावली कालोनी में रहने वाले सीपी अवस्थी के घर के बाहर खड़ी गाड़ी के ऊपर जा चढ़ी। हादसे में कार चालक की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि दो लोग गंभीर घायल हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा जबकि घायलों को लोहिया अस्पताल में एडमिट कराया है। प्रभारी निरीक्षक गाजीपुर का कहना है कार चालक नशे में था। इस कारण हादसा हुआ। वहीं फैजाबाद रोड पर गोल्डन ब्लॉसम होटल के सामने तेज रफ्तार बस पीबी 23 एफ 2216 ने तडक़े सुबह बाराबंकी से लखनऊ ड्यूटी पर जा रहे मिथलेश (45) को रौंद दिया, उसकी मौके पर मौत हो गई। प्रभारी निरीक्षक क्षितिज त्रिपाठी ने बताया कि आरोपी चालक की गिरफ्तारी कर ली गई है। उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर विधिक कार्रवाई की जा रही है।

https://www.youtube.com/watch?v=DQb9_O5G94Q

Next Story
Share it