Top

लखनऊ में कोविड की रोकथाम के लिए बनाए विशेष रणनीति: सीएम

लखनऊ में कोविड की रोकथाम के लिए बनाए विशेष रणनीति: सीएम

सॢवलांस और टेस्टिंग को और सुदृढ़ करने के दिए निर्देश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रसार पर अंकुश लगाने को गंभीर प्रयास कर रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी टीम को विशेष रणनीति बनाने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने राजधानी लखनऊ के साथ ही कानपुर व मेरठ में बढ़ते पॉजिटिव केस को लेकर जिलों के साथ शासन के अधिकारियों को बेहद सक्रिय रहने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम-11 के साथ सरकारी आवास पर कोरोना संक्रमण, अनलॉक- 4.0 के साथ विकास कार्य को लेकर समीक्षा की।
उन्होंने मुख्य सचिव आरके तिवारी को निर्देश दिया कि माइक्रो कंटेनमेंट जोन, टेस्टिंग और सर्विलांस के सम्बन्ध में निरन्तर फीडबैक लेते हुए उचित कार्रवाई करें। कोविड की रोकथाम के लिए लखनऊ, कानपुर नगर व मेरठ के लिए विशेष रणनीति बनाई जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि टेस्टिंग और सॢवलांस जितना सुदृढ़ होगा, कोरोना के प्रसार को रोकने में उतनी ही अधिक सफलता मिलेगी। उन्होंने कहा कि यूपी में कोरोना संक्रमण की दर को नियंत्रित करने में सफलता मिली है। पिछले एक सप्ताह में सक्रिय कोरोना के मामलों की संख्या में काफी कमी आई है, यह एक अच्छा संकेत है। कोविड-19 नियंत्रण संबंधी कार्य सक्रियता के साथ निरन्तर जारी रखें जाएं। उन्होंने फोकस्ड टेस्टिंग करने पर बल देते हुए कहा कि कोविड बेड्स की संख्या में बढ़ोतरी सुनिश्चित की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा आगामी त्योहारों के दृष्टिगत कोविड-19 के सम्बन्ध में पूरी सतर्कता व बचाव के उपाय अपनाते हुए कार्य संचालित करें। महत्वपूर्ण चौराहों व स्थानों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से कोविड-19 के सम्बन्ध में जागरूकता फैलाने का काम प्रभावी रूप से किया जाए।

दुर्गा पूजा पर इस बार नहीं सजेंगे पंडाल

योगी सरकार ने इस बार दुर्गा पूजा को लेकर बड़ा फैसला किया है। सरकार का निर्णय है कि इस बार न तो पूजा के पंडाल सजेेंगे और न ही कहीं पर भी मेला लगेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना के खतरे को देखते हुए राज्य में दुर्गा पूजा के सार्वजनिक आयोजन पर रोक रहेगी। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि दुर्गा पूजा का आयोजन भी सार्वजनिक नहीं होगा बल्कि लोग अपने घरों में दुर्गा प्रतिमाएं स्थापित कर पूजन-अर्चन कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि कोई भी सार्वजनिक आयोजन सडक़ों या पांडालों में नहीं होगा। इस अवसर पर लोग अपने घरों में दुर्गा प्रतिमा की स्थापना कर सकते हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी से अपील की है कि इस बार मां दुर्गा को अपने-अपने घर में स्थापित करें।

रामलीलाओं के मंचन की परम्परा नहीं टूटेगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि दशहरा पर रामलीलाओं के मंचन की परम्परा नहीं टूटेगी। सीएम योगी ने कहा कि दुर्गा पूजा में होने वाले रामलीला का मंचन कुछ शर्तों और कोरोना गाइडलाइंस के अनुरूप होगा। इस दौरान रामलीला के मंचन के दौरान वहां पर सौ से अधिक दर्शक नहीं होंगे। साथ ही कोविड-19 के संक्रमण के मद्देनजर रामलीला कमेटियों को फिजिकल डिस्टेसिंग का पालन सख्ती से करना होगा। इस दौरान हर जगह पर सेनेटाइजेशन, मास्क और हाथ धोने के निर्देशों का सख्ती से अनुपालन होगा। न तो कोई जुलूस नहीं निकाला जाएगा और न ही कोई मेला लगेगा।

गरीब कल्याण रोजगार अभियान में उत्तर प्रदेश को पहला स्थान

गंदगी मुक्त भारत अभियान में यूपी दूसरे नंबर पर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुआई में वैश्विक महामारी कोरोना के संकट के दौरान गरीब कल्याण रोजगार योजना में उत्तर प्रदेश सरकार ने एक कीर्तिमान रचा है। गरीब कल्याण रोजगार अभियान में उत्तर प्रदेश को पहला स्थान मिला है। गंदगी मुक्त भारत अभियान में भी समग्रता में उप्र दूसरे नंबर पर है।
सीएम योगी आदित्यनाथ के कुशल नेतृत्व में उत्तर प्रदेश ने कोरोना काल में ही शुरू हुई इस गरीब कल्याण रोजगार योजना में बाजी मारी है। गरीब कल्याण रोजगार अभियान में उत्तर प्रदेश को पहला स्थान मिला है। यह योजना देश के 116 जिलों में चल रही थी। यूपी को पहले पुरस्कार के साथ ही प्रयागराज जिले को भी देश में अव्वल रहने पर प्रथम पुरस्कार मिला है। उत्तर प्रदेश सरकार ने वैश्विक महामारी कोरोना के संकट के दौरान भी गरीब कल्याण रोजगार योजना में कीर्तिमान रचा है। पीएम नरेंद्र मोदी के बड़े कदम के तहत कोविड-19 संक्रमण में लॉकडाउन के दौरान गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत श्रमिकों को मनरेगा के तहत काम मिला। जिसकी दैनिक मजदूरी 182 रुपए से बढ़ाकर 202 रुपए कर दी गई। इस योजना के तहत श्रमिकों को 125 दिनों तक के लिए रोजगार उपलब्ध कराया गया। इसमें समग्रता में उत्तर प्रदेश नंबर एक पर है।
केंद्रीय जलशक्ति मंत्रालय के घोषित सामुदायिक शौचालय अभियान पुरस्कारों में से सात उत्तर प्रदेश के हिस्से में आना भी सीएम योगी आदित्यनाथ की लगातार मेहनत का परिणाम है। नॉन गरीब कल्याण रोजगार योजना में पहले नम्बर पर बरेली और और दूसरे नंबर पर अलीगढ़ हैं। अलीगढ़ के खाते में स्पेशल रिकॉगनिशन का भी पुरस्कार आया है। इसी तरह गंदगी मुक्त भारत अभियान में भी समग्रता में उत्तर प्रदेश दूसरे नंबर पर है।

2 अक्टूबर को दिए जाएंगे पुरस्कार

गरीब कल्याण रोजगार अभियान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गत 20 जून को इस अभियान को प्रारंभ किया था। इसे प्रवासी श्रमिकों को सहायता देने के लिए शुरू किया गया था। अभियान में उत्तर प्रदेश समेत छह राज्यों के 116 जिलों को शामिल किया गया था। प्रदेश के पंचायती राज विभाग को कुल आठ पुरस्कारों के लिए चुना गया है। यह पुरस्कार दो अक्तूबर को आयोजित समारोह में दिए जाएंगे। गांधी जयंती पर नई दिल्ली में सम्बंधित विभाग के अपर मुख्य सचिव/ प्रमुख सचिव/ एमडी को यह पुरस्कार दिया जाएगा।

https://www.youtube.com/watch?v=ydF6ojI7psY

Next Story
Share it