राजधानी में रैंडम सर्वे से रोका जाएगा कोरोना का कहर

राजधानी में रैंडम सर्वे से रोका जाएगा कोरोना का कहर

ऑटो, रिक्शा चालक व सब्जी विक्रेता का किया जाएगा रैंडम सर्वे, होगी सैंपलिंग
95 प्रतिशत से अधिक शहरी व 5 प्रतिशत ग्रामीण संक्रमित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में अपने पैर पसार लिए हैं। इसके बचाव के लिए सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है। कोरोना संक्रमण से जनहानि कम से कम हो, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने फिर से रैंडम सैंपलिंग की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसमें ऑटो, रिक्शा चालकों और सब्जी विक्रेताओं के सैंपल लिए जाएंगे। संक्रमित व्यक्ति को आइसोलेट करके संक्रमण बढऩे से रोका जा सकेगा।
रैंडम सर्वे लखनऊ मंडल के तहत आने वाले जिलों में विशेष अभियान चलाया जा रहा है। मंडल की सभी ग्राम सभाओं में 65 साल से अधिक आयु वाले बुजुर्गों, 10 साल से कम आयु वाले बच्चों और गर्भवतियों की सूची तैयार की गई है। इसके अलावा पूरे मंडल में स्क्रीनिंग भी करवाई जा रही है। कोरोना संक्रमण अधिक आयु व बीमार व्यक्तियों को जल्दी चपेट में ले रहा है, जिससे इन व्यक्तियों पर फोकस बना हुआ है। सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल के अनुसार जून में सर्वाधिक जांच के चलते कोरोना संक्रमित भी ज्यादा मिले थे।

सोशल डिस्टेंटिंग का पालन नहीं कर रहे लोग

कोरोनाकाल में राजधानी के 95 प्रतिशत संक्रमित लोग शहरी इलाके के हैं तथा ग्रामीण इलाके के 5 प्रतिशत लोग हैं। इसके पीछे शहर के लोगों में सावधानी न बरतना हो सकता है। शहरों में सोशल डिस्टेंटिंग से लेकर मास्क न लगाना जैसे एहतियात नहीं बरते जा रहे हैं, जिस कारण कोरोना स्प्रेड की चेन लगातार बनती जा रही है। जून माह में 195 पॉजीटिव मरीज मिले, इनमें कुछ मरीज निगोहां, नगराम, मोहनलालगंज, मलिहाबाद, बीकेटी के रहने वाले हैं। इसके अलावा 11 मार्च से राजधानी कोरोना संक्रमित मिलने शुरू हो गए थे। अप्रैल माह में 204 मरीजों में से 8 मरीज ग्रामीण इलाके के थे।

24 घंटे में 16 ने जीती कोरोना से जंग

मंगलवार को 16 मरीजों ने कोरोना संक्रमण से जंग जीत ली है। केजीएमयू से 5 मरीज ठीक होने के बाद घरों के लिए लौट गए हैं। लोकबंधु राज नारायण अस्पताल में 9 मरीज ने कोरोना को मात दी है और अस्पताल में डिस्चार्ज हुए हैं। ईएसआई अस्पताल से 2 मरीज ठीक हुए हैं। केजीएमयू के प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह के अनुसार शहरी इलाके में छोटे- छोटे मकान में लोग रहते हैं, जिससे सोशल डिस्टेंटिंग का पालन नहीं हो पाता है। ग्रामीण इलाके में जगह का फैलाव होने से वायरस कम स्प्रेड हो पाता है।

हेड कांस्टेबल की कोरोना से मौत

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में कोविड-19 ने एक और जान ले ली है। सिग्नेचर बिल्डिंग स्थित एंटी करप्शन मुख्यालय में तैनात हेड कांस्टेबल की कोरोना की चपेट में आकर मौत हो गई है। कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद सोमवार रात को ही हेड कांस्टेबल को केजीएमयू के कोविड वार्ड में भर्ती कराया गया था। 45 वर्षीय हेड कांस्टेबल गोमती नगर के उजरियांव में रहता था। यूपी पुलिस मुख्यालय की सिग्नेचार बिल्डिंग के सातवें और आठवें तल पर एंटी करप्शन विभाग का कार्यालय है। हेड कांस्टेबल के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद एंटी करप्शन ऑफिस को 48 घंटे के लिए सील कर दिया गया है।

https://www.youtube.com/watch?v=o5nkbVUvgbU

Next Story
Share it