Top

राजधानी में चरमराया सीवर सिस्टम ढहने लगे नाले, लोग हो रहे परेशान

राजधानी में चरमराया सीवर सिस्टम ढहने लगे नाले, लोग हो रहे परेशान

बजट का रोना रो रहा नगर निगम, जलभराव की समस्या आम
बारिश में हालात हो जाते हैं बेकाबू, उफनाने लगते हैं नाले

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में वर्षों पुराना सीवर सिस्टम चरमराने लगा है। तमाम नाले जर्जर होकर ढहने लगे हैं। इसके कारण कई इलाकों में जलभराव और छोटे नालों के चोक होने जैसी समस्या आम हो गई है। बारिश के दिनों में स्थितियां और भी बदतर हो जाती हैं। दूसरी ओर नगर निगम इनको दुरुस्त नहीं करा पाने की वजह बजट की कमी बता रहा है।
राजधानी में कुल 26 बड़े और 300 से ज्यादा छोटे नाले मौजूद हैं, जिनमें अधिकांश खस्ताहाल स्थिति में हैं। मसलन, जोन तीन में टेढ़ीपुलिया स्थित नाला पिछले तीस दशकों से हजारों घरों के सीवर के पानी को शहर के बाहर निकाल रहा है लेकिन मरम्मत के अभाव में यह ढहने की कगार पर पहुंच चुका है। वहीं इस क्षेत्र में व्यावसायिक भवनों के कारण इस नाले पर दबाव बढ़ता जा रहा है। हालांकि कुछ नाले बनाये गए हैं लेकिन नए बनाये गए नालों में अधिकांश अभी चालू हालत में नहीं है। इसके कारण पुराने नालों पर दबाव लगातार बढ़ रहा है। वहीं उत्पादन इकाइयों से निकलने वाला पानी भी नालों में बहाया जा रहा है। राजधानी में हिंदुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड, टाटा मोटर्स, एवरेडी इंडट्रीज, स्कूटर इंडिया लिमिटेड जैसी इकाइयां हैं। दुग्ध उत्पादन, इस्पात रोलिंग एवं एलपीजी इकाइयों का पानी भी इन्हीं नालों में जाता है।

लगातार बढ़ रहा दबाव

शहर की लघु एवं मध्यम-उद्योग इकाइयां चिनहट, ऐशबाग, तालकटोरा एवं अमौसी के औद्योगिक एंक्लेव में हैं। इसके साथ ही शहर में विभिन्न शॉपिंग मॉल्स, आवासीय एवं व्यावसायिक परिसर बढ़ते जा रहे हैं। पाश्र्वनाथ, डीएलएफ, ओमैक्स, सहारा, यूनिटेक, अंसल एवं एपीआई के आवासों से निकलने वाले पानी से नालों पर दबाव बढ़ गया है लेकिन नगर निगम समेत अन्य विभाग इस मामले में कोई ठोस कदम नहीं उठा रहे हैं।

एलडीए से समन्वय का अभाव
नाले से संबंधित समस्या पर नगर-निगम और एलडीए के बीच समन्वय नहीं है। एलडीए अपनी सीमा तक नाले आदि का निर्माण करता है जबकि निगम के दायरे वाले क्षेत्र में नगर निगम निर्माण कराता है लेकिन नगर-निगम बजट के अभाव का रोना रो रहा है।

नगर निगम के अंतर्गत आने वाले जो भी छोटे-बड़े नाले क्षतिग्रस्त हैं उनकी मरम्मत का कार्य जल्द कराया जाएगा।
अमित कुमार, अपर नगर आयुक्त, नगर निगम लखनऊ

नगर निगम के अंतर्गत आने वाले जो भी छोटे-बड़े नाले क्षतिग्रस्त हैं उनकी मरम्मत का कार्य जल्द कराया जाएगा।
अमित कुमार, अपर नगर आयुक्त, नगर निगम लखनऊ

https://www.youtube.com/watch?v=hiBJ4JVOCLM

Next Story
Share it