Top

राजधानी के ग्रीन बेल्ट पर अतिक्रमणकारियों का कब्जा, डिवाइडर बने कूड़ेदान

राजधानी के ग्रीन बेल्ट पर अतिक्रमणकारियों का कब्जा, डिवाइडर बने कूड़ेदान

नगर निगम के स्वच्छता दावों की उड़ रहीं धज्जियां
कोरोना काल में गंदगी से बढ़ रहा संक्रमण का खतरा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में ग्रीन बेल्ट के तहत आने वाले फुटपाथों और डिवाइडरों पर अतिक्रमणकारियों ने कब्जा कर रखा है। अवैध कब्जा करने वालों ने डिवाइडरों और फुटपाथों का स्वरूप ही बदल दिया है। एक ओर ग्रीन बेल्ट कहे जाने वाले डिवाइडर कूड़े के ढेर से पटने लगे हैं वहीं दूसरी ओर फुटपाथों पर पूरी तरह दुकानदारों का कब्जा हो चुका है। कहीं सब्जी की दुकानें सजी हैं तो कहीं वाहनों को पार्क किया जा रहा है। इसने नगर निगम के स्वच्छता और अतिक्रमण के खिलाफ चलाए जा रहे अभियानों की पोल खोल दी है। गंदगी के कारण कोरोना काल में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। वहीं इन स्थानों पर अवैध कब्जे के कारण राहगीरों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।
शहर की कोई भी सडक़ ऐसी नही है, जहां अतिक्रमण न किया गया हो। जानकीपुरम के 70 फीसदी डिवाइडरों पर अतिक्रमणकारी कब्जा जमाए बैठे हैं। यही हाल रामराम बैंक चौराहे से ताड़ीखाना जाने वाले मार्ग व महादेव होटल से सब्जी मंडी जाने वाले रास्ते पर बने डिवाइडर का है। लोगों ने यहां डिवाइडर पर कब्जा करके गौशाला बना ली है। कुर्सी रोड पर तो पटरी दुकानदार आधी से अधिक सडक़ पर कब्जा किए हुए हैं। साथ ही पूरे दिन बड़े वाहन यहां पार्क रहते हैं। जिसके चलते पैदल चलने वाले राहगीर भी यहां से नही निकल पाते हैं जबकि वाहन चालकों को आगे जाने के लिए काफी देर इंतजार करना पड़ता है। इसके अलावा गुडंबा में भी दुकानदार सडक़ों पर दुकान लगाए रहते हैं, जिसके चलते मुख्य सडक़ बहुत ही संकरी हो चुकी हैं। दुकानदार, दुकानों के आगे लोहे का जाल लगाए हैं। वे बोर्ड भी सडक़ पर ही रखते हैं। दोनों ओर से आमने-सामने वाहन फंसने से कई बार जाम लग जाता है जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

पेड़ काटकर सजा ली दुकानें

अवैध कब्जों के कारण डिवाइडर पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। यही नहीं डिवाइडर में लगे तमाम पेड़ नष्ट हो गए हैं। अतिक्रमणकारियों ने पेड़ काटकर वहां अपनी दुकानें सजा ली हैं।

कार्रवाई से कतरा रहा नगर निगम

डिवाइडरों और फुटपाथों पर हुए अवैध कब्जे को लेकर नगर निगम भी लापरवाह बना हुआ है। तमाम शिकायतों के बावजदू वह इनके खिलाफ कार्रवाई से कतरा रहा है। वह शिकायतकर्ताओं को कार्रवाई का आश्वासन देकर टरका देता है। इसके कारण अतिक्रमणकारियों के हौसले बुलंद हैं। नगर निगम की लापरवाही के कारण राजधानी की हरियाली भी नष्टï हो रही है।

मामला संज्ञान में आया है। जल्द ही अभियान चलाकर डिवाइडरों व फुटपाथों को कब्जा मुक्त कराया जाएगा और वहां की हरियाली को नष्टï करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
अमित कुमार, अपर नगर आयुक्त

https://www.youtube.com/watch?v=6Fwdps7eCjU

Next Story
Share it