राजधानी: अब बच्चों पर शिकंजा कसने लगा कोरोना वायरस, दोगुनी हुई संख्या

राजधानी: अब बच्चों पर शिकंजा कसने लगा कोरोना वायरस, दोगुनी हुई संख्या

4 प्रतिशत से बढक़र नौ फीसदी पहुंचा आंकड़ा परिवार की लापरवाही पड़ रही भारी
14 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों की रिकवरी कम, आंकड़ों ने बढ़ाई चिंता

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। परिवार की लापरवाही बच्चों पर भारी पड़ रही है। राजधानी में कोरोना ने अब बच्चों को तेजी से अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक बच्चों के वायरस से संक्रमित होने की रफ्तार काफी तेज हो गई है। यह चार फीसदी से बढक़र नौ प्रतिशत हो गई है। यही नहीं 14 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों की रिकवरी रेट भी काफी कम है। इन आंकड़ों ने स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं बढ़ा दी हैं।
राजधानी में कोरोना ने कोहराम मचा रखा है। अब तक यहां सैकड़ों लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं। वहीं बच्चों पर कोरोना संक्रमण दोगुनी गति से अटैक कर रहा है। लखनऊ में एक ओर जहां लोगों ने प्रशासन के नियमों के पालन नहीं किया, वहीं कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। परिवार की लापरवाही बच्चों को झेलनी पड़ रही है। परिवार के सदस्य बाहर घूमते हैं और घर आकर बच्चों के सम्पर्क में आते हैं जिससे कोरोना वायरस के संक्रमण बच्चों के शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। एक से सात जुलाई के बीच मिले मरीजों की संख्या 509 रही, इनमें बच्चों की संख्या 48 रही। डॉ. केपी त्रिपाठी का कहना है कि बच्चों की संख्या बढऩे की मूल वजह ज्यादातर परिवारों का चपेट में आना है। 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों की रिकवरी दर अधिक और इससे अधिक उम्र के बच्चों की रिकवरी दर कम है। संक्रमण के मामले में बच्चों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। जून में यह ग्राफ चार प्रतिशत के आसपास था जो अब 9 फीसदी तक पहुंच गया है। मार्च, अप्रैल में मिलाकर मरीजों में 14 साल से कम उम्र के बच्चों की संख्या पांच थी मई में 24 वायरस की चपेट में आए। जून में यह संख्या 52 पहुंच गई।

संक्रमण रोकने को फिर लॉकडाउन

लखनऊ। संक्रमण रोकने के लिए प्रदेश में तीन दिन का लॉकडाउन घोषित किया गया है। लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने कोरोना के बचाव के लिए शहर में 80 टीमें गठित की है। टीम में पुलिस, नगर निगम, स्वास्थ्य और राजस्वकर्मी मुख्य रूप से शामिल हैं। टीमें अपने क्षेत्र में लॉकडाउन और निर्धारित प्रोटोकॉल का पालन कराएंगी। नियम का उल्लंघन करने पर कठोर कार्रवाई होगी। डीएम ने कहा कि थानावार गठित टीमें प्रोटोकॉल व गाइड लाइन्स का अनुपालन कराएंगी। साथ ही टीमें संबंधित थाना क्षेत्र के तहत व्यापारिक प्रतिष्ठान/बाजार, सरकारी अद्र्घसरकारी एवं गैर-सरकारी कार्यालयों में मास्क व सेनेटाइजर का प्रयोग एवं सेनेटाइजेशन और सामाजिक दूरी का अनुपालन सुनिश्चित कराएंगी। लॉकडाउन अवधि में बाजार खुलने का समय सुबह नौ बजे से रात्रि आठ बजे तक रहेगा।

डॉक्टर भी हो रहे संक्रमित

लखनऊ में कोरोना वॉरियर्स भी संक्रमित हो रहे हैं। पिछले दिनों लोकबंधु अस्पताल के एक डॉक्टर और नर्स और लोहिया संस्थान के दो कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं 102 एंबुलेंस के कई कर्मचारी भी चपेट में आ गए हैं।

https://www.youtube.com/watch?v=GTvV4jkXu0g

Next Story
Share it