Top

यूपी 112 ने सालभर में 56 लाख लोगों तक पहुंचाई सहायता

यूपी 112 ने सालभर में 56 लाख लोगों तक पहुंचाई सहायता

लॉकडाउन में सात लाख लोगों तक मानवीय राहत पहुंचाई

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी 112 ने अपने एक साल के सफर में 56.36 लाख लोगों तक सहायता पहुंचाई। पिछले वर्ष 26 अक्टूबर के ही दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डायल 100 से यूपी 112 की शुरुआत की थी। इस सफर में यूपी 112 का 1090, 181 व उत्तर प्रदेश राज्य सडक़ परिवहन निगम के साथ एकीकरण हुआ। इसका फायदा जनता को मिला।
दूसरी सरकारी एजेंसियों के साथ एकीकरण के बाद 112 के माध्यम से मदद का दायरा भी बढ़ गया। अब इस एक नंबर (112) पर कॉल कर के प्रदेश के 24 करोड़ लोग विभिन्न तरह की योजनाओं व सेवाओं का लाभ ले रहे हैं। समाज के हर वर्ग के लोगों को ध्यान में रखते हुए 112 की ओर से कई तरह की सेवाएं शुरू की गईं। इसमें महिला पीआरवी, महिला एस्कॉर्ट, बुजुर्गों के लिए सवेरा योजना व घरेलू हिंसा का शिकार महिलाओं का पंजीकरण प्रमुख हैं। महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए प्रदेश भर में 300 महिला पीआरवी संचालित की जा रही है। रात्रि 10 बजे से सुबह 6 बजे तक अकेली महिला को सुरक्षित आवागमन के लिए महिला एस्कॉर्ट की सुविधा शुरू की गई है।

इमरजेंसी नंबर 1070 के साथ एकीकरण का भी चल रहा काम

सवेरा योजना के तहत प्रदेश भर में 7 लाख बुजुर्गों का पंजीकरण किया गया है। पंजीकृत बुजुर्ग 112 को कॉल कर के कई तरह की सहायता ले रहे हैं। इसी तरह यूपी 112 ने लॉक डाउन के समय 6.57 लाख लोगों तक मानवीय राहत पहुंचाई। इस कार्य में प्रशासन ने 112 का पूरा सहयोग किया। एडीजी 112 असीम अरुण ने बताया कि प्रदेश में उद्यमियों को सुरक्षित माहौल प्रदान करने के लिए लिंक सेवा शुरू जा रही है। इसके तहत पंजीकृत प्रतिष्ठानों का अलार्म सिस्टम 112 से जोड़ा जा रहा है, ताकि किसी भी आपात स्थिति में तत्काल मदद पहुचाई जा सके। इसके अलावा इमरजेंसी नंबर 1070 के साथ एकीकरण का काम भी चल रहा है।

क्लीन शेव नहीं रखने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त एक्ïशन की तैयारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी पुलिस के कर्मियों की अनुशासनहीनता पर प्रदेश के पुलिस प्रमुख बेहद सख्त हैं। डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने प्रदेश की फोर्स में अनावश्यक रूप से दाढ़ी रखने के साथ ही वर्दी में फूहड़पना दिखाने वालों के खिलाफ सख्त एक्ïशन की तैयारी कर ली है। डीजीपी की ओर से जारी निर्देशों का पालन सिपाही से लेकर आईपीएस अधिकारी को भी करना होगा। माना जा रहा है कि डीजीपी के निर्देश की अवहेलना करने वाले ऐसे पुलिसकर्मियों पर अब गाज
गिरना भी तय है।
बागपत के रमाला थाना में तैनात सब इंस्पेक्टर इंतसार अली की दाढ़ी पर मचे बवाल के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस के महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी अब अनुशासनहीनता पर बेहद सख्त नजर आ रहे हैं। उन्होंने स्पष्ट निर्देश जारी किया है कि ड्यूटी के दौरान रौब झाड़ रहे दबंग पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की जाए। बागपत में बिना अनुमति के दाढ़ी बढ़ाने वाले उपनिरीक्षक इंतसार अली पर कार्रवाई के बाद डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने अन्य पुलिसकर्मियों को दाढ़ी बनाकर बावर्दी दुरुस्त रहने की कड़ी हिदायत दी है। डीजीपी ने वर्दी धारण करने के नियमों का उल्लंघन करने वाले पुलिस अधकारियों व कर्मियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई के निर्देश भी दिए हैं। डीजीपी के सर्कुलर में कहा गया है कि धार्मिक आधार पर अस्थायी अवधि के लिए दाढ़ी रखने व लंबे बाल उगाने की अनुमति कार्यालय के प्रमुख दे सकते हैं। यह अनुमति भी निश्चित समय के लिए ही होगी। अवधि समाप्त होने के बाद संबंधित पुलिस अधिकारी व कर्मी के लिए तय नियमों का अनुपालन करना अनिवार्य है।

वर्दी की गरिमा से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं

डीजीपी ने फिल्मस्टार की स्टाइल में वर्दी पहन कर ड्यूटी करने वाले सभी पुलिसकर्मियों पर सख्त तेवर दिखाए हैं। साथ ही इस पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। डीजीपी की तरफ से सभी को स्पष्ट निर्देश दिया गया है कि दाढ़ी रखने के शौकीन पुलिसकर्मियों पर सख्त रवैया अपनाया जाए। इसके साथ ही बिना वर्दी के ड्यूटी कर रहे दबंग पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी जिला के साथ राज्य स्तर पर कार्रवाई का निर्देश जारी किया है।

सिध धर्म के पुलिसकर्मियों को छोडक़र सब पर होगी कार्रवाई

डीजीपी की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि कई पुलिस अधिकारी व कर्मी जो पुलिस सेवा में आने से पहले दाढ़ी नहीं रख रहे थे, अब अपने धार्मिक दायित्वों का निर्धारण करने के लिए दाढ़ी रखने की इच्छा प्रकट कर रहे हैं। इसमें कहा गया है कि सिख धर्म के पुलिसकर्मियों को छोडक़र अन्य सभी के लिए क्लीन शेव किया जाना अनिवार्य है। यदि सक्षम अधिकारी किसी पुलिसकर्मी को दाढ़ी रखने की अनुमति देते हैं तो भी उसकी दाढ़ी के बाल छोटे व सही ढंग से कटे होने चाहिए। पुलिसकर्मी मूंछे अपनी इच्छा के अनुरूप रख सकते हैं, लेकिन उनका रखरखाव भी अच्छा होना चाहिए।

https://www.youtube.com/watch?v=JjS-d9Vaamc

Next Story
Share it