Top

यूपी में फिल्म सिटी का खाका लेकर फिर मुंबई जाएगी योगी सरकार

यूपी में फिल्म सिटी का खाका लेकर फिर मुंबई जाएगी योगी सरकार

दिसंबर में ही नियुक्त होगा कंसल्टेंट, प्रोजेक्ट पर चर्चा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश की अपनी फिल्म सिटी बनाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बॉलीवुड दिग्गजों के साथ मेलजोल भले ही महाराष्टï्र में सत्तासीन शिवसेना को अखर रहा हो, लेकिन यूपी सरकार अब कमर कस तैयार है। हाल ही में फिल्म जगत की कई हस्तियों के साथ अपने प्रोजेक्ट पर चर्चा कर सीएम योगी लौटे हैं। अब फिल्म सिटी का पूरा खाका लेकर फिर मुंबई जाने की तैयारी है। इसके लिए कंसल्टेंट चयन की प्रक्रिया शुरू हो रही है।
विश्व प्रसिद्ध फिल्म सिटी उत्तर प्रदेश में बनाने की घोषणा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कर चुके हैं। इस घोषणा को जमीन पर लाने के लिए भी सरकार ने तुरंत ही काम शुरू किया। मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर मुंबई से बॉलीवुड के फिल्म निर्माताओं को बुलाकर प्रोजेक्ट पर चर्चा की। प्रस्तुतीकरण से बता भी दिया कि नोएडा में यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे एक हजार एकड़ में फिल्म सिटी प्रस्तावित है। डेडीकेटेड इन्फोनमेंट फिल्म सिटी जोन में फिल्म स्टूडियो, पांच सितारा सहित विभिन्न श्रेणियों के होटल और सभी सुविधाएं होंगी। योगी सरकार ने दावा किया है कि फिल्म निर्माता यहां स्किप्ट लेकर आए और पूरी फिल्म की शूटिंग कर निकले, ऐसी व्यवस्था की जाएगी। सीएम योगी के इस प्रोजेक्ट से कई फिल्म निर्माता आकर्षित हैं। वह लगातार सुझाव भी दे रहे हैं। इसे लेकर ही पिछले दिनों योगी ने मुंबई में कई फिल्म अभिनेता, निर्माता-निर्देशकों से बातचीत की। रविवार को जाने-माने निर्माता-निर्देशक प्रकाश झा भी योगी से मिलने आए। अब इस दिशा में सरकार और आगे कदम बढ़ाने जा रही है।

योगी सरकार ने नौकरी देने का बनाया रिकॉर्ड

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में सरकार चार साल में चार लाख नौकरियां देने की ओर आगे बढ़ रही है। प्रदेश सरकार के प्रवक्ता ने दावा किया है कि कोरोना काल में देश में किसी भी राज्य में नौकरियां देने का यह रिकॉर्ड है। साथ ही बड़े पैमाने पर रोजगार भी दिए गए हैं। अब तक सरकार 3 लाख 57 हजार 429 नौकरियां दे चुकी है। मुख्यमंत्री ने 3209 नलकूप चालकों को नियुक्ति पत्र बांटे हैं। प्रवक्ता ने दावा किया है कि हर भर्ती प्रक्रिया के पश्चात सीएम योगी खुद अभ्यर्थियों से संवाद कर परखते हैं कि भर्ती प्रक्रिया की शुचिता और पारदर्शिता के साथ संपन्न हुई है या नहीं। इसके अलावा समय-समय पर अदालत ने भी यूपी की भर्ती प्रक्रिया की सराहना की है।

कंसल्टेंट के चयन की प्रक्रिया शुरू : सहगल

अपर मुख्य सचिव सूचना डॉ. नवनीत सहगल ने बताया कि इस माह के अंत तक कंसल्टेंट का चयन कर लिया जाएगा। उसके लिए प्रक्रिया शुरू की जा रही है। जल्द ही कंसल्टेंट से फिल्म सिटी की पूरी प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कराई जाएगी, जिसमें फिल्म जगत से आए सुझावों को भी शामिल किया जाएगा। उसके बाद सरकार एक बार फिर से मुंबई जाकर अपने प्रोजेक्ट को बताएगी-दिखाएगी, ताकि फिल्म निर्माता इसके प्रति आकर्षित हों। सहगल ने कहा कि सरकार यूपी में फिल्म सिटी को विकसित करने का पूरा प्रयास कर रही है। ताकि यहां के कलाकार उपेक्षा का शिकार न हो सके।

प्रदेश के श्रमिक सरकारी योजनाओं का लाभ उठाएं : भराला

उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद की 75वीं बैठक

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद की 75वीं बैठक लखनऊ स्थित बापू भवन में परिषद के अध्यक्ष पंडित सुनील भराला की अध्यक्षता में हुई। इस बैठक में कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर विचार-विमर्श किया गया। बैठक में यूपी श्रम कल्याण परिषद के वित्तीय वर्ष 2020-21 का पुनरीक्षित बजट 2.5750 करोड़ तथा आगामी वित्तीय वर्ष 2021-22 का बजट 3.20 करोड़ पारित किया गया। साथ ही परिषद द्वारा शुभारंभ की गर्ई तीन नई योजनाएं महादेवी वर्मा पुस्तक क्रय आर्थिक सहायता योजना, स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना, चेतन चौहान क्रीड़ा प्रोत्साहन योजना के तहत चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 तथा आगामी वित्तीय वर्ष 2021-22 के तहत 60 लाख रुपए का प्रावधान किया गया। यह तीनों योजनाएं एक जनवरी 2021 से प्रभावी होगी।
बैठक में श्रमायुक्त संगठन के कार्यालयों, सीडीओ कार्यालय व अन्य कई कार्यालयों में होर्डिंग तथा वालपेंटिंग कराने का निर्णय लिया गया ताकि प्रदेश के श्रमिक सेवायोजकों को परिषद की योजनाओं की समुचित जानकारी मिल सके तथा प्रदेश के श्रमिक इन योजनाओं का लाभ उठा सकें। इसके अलावा वर्तमान में गठित श्रम कल्याण परिषद का कार्यकाल पूर्ण होने पर उसके द्वितीय वर्षगांठ के उपलक्ष्य में मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में कार्यक्रम आयोजित करने का भी निर्णय लिया गया।

https://www.youtube.com/watch?v=9zrv9Ofd-gk

Next Story
Share it