Top

यूपी में अपराधियों की ढाल बन रही भाजपा सरकार: अखिलेश

यूपी में अपराधियों की ढाल बन रही भाजपा सरकार: अखिलेश

प्रदेश के विकास का नहीं कोई रोडमैप, चारों ओर फैली है अव्यवस्था

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा प्रदेश की सुख-शांति को जंगलराज की आग में जलाना चाहती है। बेटियों के लिए तो भाजपा की सरकार ‘काल‘ बन गयी है। सडक़ पर चलना तो दूर अपने घरों, कार्यालयों और सार्वजनिक स्थानों पर भी वे सुरक्षित नहीं है। मुख्यमंत्री ‘मिशन शक्ति‘ का नया राग अलापने लगे हैं। पिंक बूथ बना रहे हैं। इन टोटकों से महिलाओं को कोई राहत नहीं मिलने वाली है। इससे पहले उनका रोमियो स्क्वाड फ्लाप साबित हो चुका है। सत्ता से विदाई की बेला में इन हथकंडों का परिणाम शून्य ही होगा। जब सत्ता का संरक्षण रहेगा तो इस तरह के कागजी ड्रामें से क्या हासिल होगा?
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का दावा है कि उनके रहते अपराधी या तो जेल भेज दिए गए हैं या फिर राम नाम सत्य की राह पर चले जाएंगे। वहीं अपराधी बेखौफ मुख्यमंत्री की ठोको नीति को अपनाए हुए हैं। अपहरण, लूट, हत्या की घटनाएं हो रही हैं। जब पुलिस और अपराधी मिलजुल कर काम करेंगे तो जनता की सुरक्षा का क्या होगा? भाजपा राज में अपराधी तत्वों के हौंसले कितने बढ़े हुए हैं। इससे जाहिर है कि शामली में चुनौती देकर 10 दिन में दूसरा बिजलीघर लूट लिया गया। बरेली में नफरत की सियासत तले सत्ताधीशों द्वारा थाने में घुसकर तोडफ़ोड़ और अराजकता की गई। जौनपुर से लेकर मेरठ तक अपराधियों ने दुष्कर्म की कई घटनाओं को अंजाम दिया। महोबा के पनवाड़ी क्षेत्र में एक 19 वर्षीया नवयुवती, जो एक आरती कार्यक्रम से लौट रही थी, गैंगरेप का शिकार बनी।
उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता में सरकार के कामकाज के प्रति कितना उबाल है इससे स्पष्ट है कि जनपदों में न्याय न मिलने, दबंगों की दबंगई पर रोक न लगने की वजह से लोग लखनऊ में विधान भवन के सामने आत्मदाह करने को मजबूर हो रहे हैं। असफल सरकार की असफल नीतियों के चलते कानून व्यवस्था पर शासन-प्रशासन का नियंत्रण नहीं है। सरकार खुद अपराधियों की ढाल बन रही है। जब भाजपा के विधायक थाने से आरोपी को जबरन छुड़ा लेंगे और भाजपा का झंडा लगी गाड़ी में दुष्कर्म किया जाएगा तो फिर जनसामान्य के परिवारीजनों की सुरक्षा कौन-कैसे करेगा? सच तो यह है कि मुख्यमंत्री के पास प्रदेश को विकास और सुरक्षा के रास्ते पर ले जाने का कोई रोडमैप ही नहीं है। वे तो अव्यवस्था और अराजकता के ही संवाहक है। प्रदेश की जनता भाजपा राज से ऊब चुकी है। अब उसे सिर्फ 2022 के आम चुनावों का इंतजार है।

डेंगू से निपटने को नगर निगम ने कसी कमर, रोजाना होगी फागिंग

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। डेंगू के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए नगर निगम लखनऊ ने शुक्रवार से विशेष फागिंग अभियान शुरू कराया है। 32 टाटा एस माउंटेड फागिंग मशीनों को विशेष अभियान में लगाया गया। फागिंग के लिए इसमें 60 लीटर डीजल में मैलाथियान मिक्स करते हुए जोन-तीन के खदरा, फैजुल्लागंज, अलीगंज सहित आसपास के अन्य क्षेत्रों में पहले दिन वृहद फागिंग करायी गयी। इन फागिंग मशीनों को पुरनिया चौराहे से नगर आयुक्त ने रवाना किया।
नगर आयुक्त अजय द्विवेदी ने बताया कि इसके अलावा चिकित्सा विभाग की ओर से उपलब्ध कराई गई सूची वाले ऐसे स्थानों पर भी फागिंग कराई जाएगी जहां अधिक संख्या में डेंगू के मरीज पाए गये है। इन्दिरा नगर, तकरोही, कल्याणपुर, विनीतखंड, विनयखंड, विनम्रखंड, वास्तुखंड, त्रिवेणीनगर, खदरा, विकासनगर, बालागंज, चौक, आलमबाग, तेलीबाग, चिनहट, जानकीपुरम में भी फागिंग करायी गयी। इसके अलावा विभिन्न वार्डों में साइकिल माउंटेड मशीनों से फागिंग हुई। एंटी लार्वा का छिडक़ाव कराया गया है। नगर निगम की यह मशीनें एक राउंड में डेढ़ से दो घंटे तक फागिंग करेंगी। जिनसे तीन राउंड में फागिंग करायी जायेगी। एक वाहन प्रतिदिन 5 से 6 घंटे फागिंग करेंगी। लगभग 200 घंटे तक फागिंग का कार्य डेंगू के बढ़ते प्रभाव को समाप्त करने के लिए किया जायेगा।

https://www.youtube.com/watch?v=rOHy2fZ0cRc

Next Story
Share it