यूपी उपचुनाव: पूरा जोर लगा रही भाजपा मुख्यमंत्री योगी खुद संभाल रहे कमान

यूपी उपचुनाव: पूरा जोर लगा रही भाजपा मुख्यमंत्री योगी खुद संभाल रहे कमान

  • सीएम कार्यकर्ताओं से लगातार कर रहे वर्चुअल संवाद, सात सीटों पर होना है उपचुनाव
  • पदाधिकारियों से फीड बैक मिलने के बाद जिताऊ प्रत्याशी खोज रही पार्टी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश की सात सीटों पर होने वाले उपचुनाव में फतह हासिल करने के लिए भाजपा ने पूरा जोर लगा दिया है। खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कमान संभाले हुए हैं और लगातार कार्यकर्ताओं से वर्चुअल संवाद कर रहे हैं। वहीं पदाधिकारियों से फीड बैक मिलने के बाद पार्टी नेतृत्व जिताऊ प्रत्याशी खोजने में जुटी है। प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया अंतिम चरण में हैं और कभी भी नामों का ऐलान किया जा सकता है।
भाजपा ने उपचुनाव वाले सातों विधान सभा क्षेत्रों में अपने सात पदाधिकारियों को फीडबैक के लिए भेजा था। तीन से पांच अक्टूबर तक पार्टी पदाधिकारी प्रवास पर रहे और उन्होंने अपनी फीडबैक रिपोर्ट पार्टी प्रदेश नेतृत्व को सौंप दी है। फीडबैक मिलने के बाद से भाजपा नेतृत्व तेजी से सक्रिय हो चुका है। जिताऊ प्रत्याशियों की खोज तेज हो चुकी है। माना जा रहा है कि प्रत्याशियों के नामों पर महामंत्री संगठन सुनील बंसल और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के मंथन और सीएम योगी आदित्यनाथ की राय के आधार पर पार्टी का केन्द्रीय नेतृत्व फैसला करेगा। उपचुनाव में जीत सुनिश्चित करने के लिए खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मोर्चा संभाल लिया है। वे उपचुनाव वाली विधान सभा क्षेत्रों के पार्टी कार्यकर्ताओं से लगातार संवाद कर रहे हैं और उनको जीत का मंत्र बता रहे हैं। पार्टी के पदाधिकारी भी पूरे जोर-शोर से इन क्षेत्रों में पार्टी को आगे बढ़ाने में जुटे हैं। बूथों को मजबूत बनाने की रणनीति बनाई गई और इसी आधार पर काम किया जा रहा है। यह देखना दिलचस्प होगा कि भाजपा अपनी पूर्व में जीती सीटों पर कब्जा बनाए रख पाती है या नहीं। वहीं इस उपचुनाव के नतीजों का असर आगामी विधान सभा चुनाव पर भी दिखाई पड़ सकती है।

इनको दी गई थी जिम्मेदारी

भाजपा ने सातों विधानसभा से फीड बैक के लिए पांच महामंत्रियों और दो उपाध्यक्षों को लगाया था। मल्हनी विधानसभा क्षेत्र में प्रदेश महामंत्री जेपीएस राठौर, देवरिया विधानसभा क्षेत्र के लिए गोविंदनारायण शुक्ला, टुंडला विधानसभा क्षेत्र के लिए अश्वनी त्यागी, नौगांवा सादात के लिए सुब्रत पाठक, बांगरमऊ विधानसभा क्षेत्र के लिए प्रदेश उपाध्यक्ष सलिल विश्नोई और घाटमपुर की फीडबैक के लिए प्रदेश उपाध्यक्ष विजय बहादुर पाठक को भेजा गया था।

तीन नवंबर को इन सीटों के लिए होंगे मतदान

कानपुर के घाटमपुर, जौनपुर के मल्हनी, रामपुर के स्वार, बुलंदशहर के सदर, आगरा के टूंडला, देवरिया के देवरिया सदर, उन्नाव के बांगरमऊ और अमरोहा के नौगावां सादात विधान सभा की कुल सीटें रिक्त है। इनमें रामपुर के स्वार सीट को छोड़ कर बाकी सात सीटों के उपचुनाव का ऐलान कर दिया गया है।
इन सीटों के लिए तीन नवंबर को मतदान होंगे। सात में से छह सीटें भाजपा के पास थीं, जिनमें से दो सीटें योगी सरकार के मंत्रियों के निधन के चलते खाली हुई हैं। जौनपुर की मल्हानी सीट पर सपा का कब्जा था। फिरोजाबाद की टूंडला सीट भाजपा के डॉ. एसपी सिंह बघेल के 2019 में सांसद निर्वाचित होने के बाद इस्तीफा देने से खाली हुई थी। यहां अब तक उप-चुनाव नहीं हो सके थे। उन्नाव की बांगरमऊ से भाजपा के कुलदीप सिंह सेंगर जीते थे, लेकिन उनकी सदस्यता बलात्कार के एक मामले में उम्र कैद की सजा होने के बाद खत्म हो गई है, जिसके चलते उपचुनाव हो रहे हैं। वहीं, देवरिया सदर से भाजपा विधायक जन्मेजय सिंह , बुलंदशहर से भाजपा के वीरेंद्र सिरोही के निधन के चलते दोनों सीटें रिक्तहुई हैं। इसके अलावा कानपुर की घाटमपुर सीट भाजपा विधायक कमल रानी वरुण और अमरोहा की नौगावां सादात से विधायक रहे चेतन चौहान की कोरोना वायरस के संक्रमण से निधन होने से रिक्त हुई है। कमला रानी और चेतन चौहान योगी सरकार में मंत्री थे। इसके अलावा जौनपुर के मल्हनी क्षेत्र से सपा के विधायक रहे पारसनाथ यादव के निधन से खाली हुई है।

भाजपा में प्रत्याशी चयन की एक प्रक्रिया है। उसके तहत पार्टी पदाधिकारी प्रवास पर थे और आगे भी पार्टी नेतृत्व के आदेश पर काम करेंगे। प्रत्याशी चयन पार्टी पार्लियामेंट्री बोर्ड करती है और वही करेगी। जल्द ही नामों की घोषणा होगी।
विजय बहादुर पाठक प्रदेश उपाध्यक्ष, भाजपा

https://www.youtube.com/watch?v=87daJFAc8k4

Next Story
Share it