Top

बुलंदशहर में दलित किशोरी से पहले रेप फिर जला दिया जिंदा, दो दारोगा लाइन हाजिर पर कप्तान साहब की कुर्सी सलामत, एटा में भी किशोरी से गैगरेप

बुलंदशहर में दलित किशोरी से पहले रेप फिर जला दिया जिंदा, दो दारोगा लाइन हाजिर पर कप्तान साहब की कुर्सी सलामत, एटा में भी किशोरी से गैगरेप

  • मुकदमा वापस नहीं लेने पर आरोपी पक्ष ने दिया वारदात को अंजाम, लीपापोती में जुटी पुलिस
  • एटा में शिकायत लेकर थाने पहुंची गैंगरेप पीडि़ता को भगाया
  • विपक्ष ने साधा सरकार पर निशाना, पूछा कमजोरों को क्यों नहीं मिल रहा न्याय

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
बुलंदशहर। यूपी में बेटियों के साथ हो रहे अपराध थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। बुलंदशहर में एक दलित किशोरी से रेप किया गया और फिर उसे जिंदा जला दिया गया। बुरी तरह झुलसी किशोरी की दिल्ली के अस्पताल में मौत हो गई। मामले पर लीपापोती करने के लिए दो दारोगा को लाइन हाजिर और एक बीट कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया है लेकिन जिले में बढ़ते अपराधों पर लगाम लगाने में नाकाम कप्तान साहब की कुर्सी अभी भी सलामत है। इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं एटा में एक दलित किशोरी से गैंगरेप किया गया है। इस पर विपक्ष ने प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा है। विपक्ष ने सरकार से पूछा है कि कमजोरों को न्याय क्यों नहीं मिल पा रहा है।
बुलंदशहर के जहांगीराबाद क्षेत्र के एक गांव की किशोरी के साथ 14 अगस्त को दुष्कर्म किया गया। इस मामले में पुलिस ने नामजद आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। घटना के बाद से ही आरोपी पक्ष पीडि़ता पर मुकदमा वापस लेने का दबाव बना रहा था। पीडि़ता के पिता ने तहरीर में बताया है कि आरोपी पक्ष की एक महिला समेत सात लोगों ने घर में घुसकर पेट्रोल डालकर उसकी पुत्री को जिंदा जला दिया। गंभीर हालत में उसे दिल्ली के अस्पताल के लिए रेफर किया गया जहां उसने दम तोड़ दिया। तहरीर के आधार पर आरोपी संजय, काजल पत्नी संजय, बनवारी, बदन सिंह, वीर सिंह, जसवंत व गौतम सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी बनवारी, बदन सिंह, वीर सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि परिजनों द्वारा दी गई तहरीर में आरोपी पक्ष द्वारा किशोरी को जलाए जाने की बात है। अभी तक तीन लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। वहीं एटा में एक दलित किशोरी से गैंगरेप का मामला सामने आया है। आरोप है कि पूर्व प्रधान और उसके दो साथियों ने मिलकर किशोरी के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। पीडि़त किशोरी 6 साल के छोटे बच्चे को शौच के लिए ले गई थी। शौचालय के अंदर ही गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया। पीडि़ता के अनुसार, घटना को अंजाम देने वालों में पूर्व प्रधान राजीव, अनिल और आकाश शामिल थे। पीडि़ता और उसकी मां थाने पहुंची तो थाने से उसको भगा दिया गया। अपर पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह ने बताया कि आरोपियों खिलाफ मामला दर्ज किया जा रहा है।

सीओ और इंस्पेक्टर हटाए गए

जहांगीराबाद मामले में एक सीओ, दो इंस्पेक्टर, दो सब-इंस्पेक्टर और एक कांस्टेबल पर कार्रवाई की गई है। इसमें सीओ और इंस्पेक्टर को हटा दिया गया है। वहीं, दो सब-इंस्पेक्टर को लाइन हाजिर कर दिया गया है जबकि एक कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री सिर्फ पुलिस और सलाहकारों से घिरे हुए हंै, उन्ही की बात सुनते हैं। दलितों पर लगतार अत्यचार हो रहे हैं। इस सरकार में सिर्फ छोटे पदों पर तैनात लोगों पर कार्रवाई होती है और बड़ों को बचा लिया जाता है। कमजोरों को न्याय नहीं मिल रहा है।
उदयवीर सिंह, एमएलसी, सपा

ये जघन्य अपराध हैं। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जो भी इस अपराध में लिप्त हैं, उनको बक्शा नहीं जाएगा।
हरीशचंद्र श्रीवास्तव, भाजपा प्रवक्ता

जिस तरह प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़े हैं, उससे लगता है कि सरकार के साथ अधिकारी अपराधियों का साथ दे रहे हैं। यहां अफगानिस्तान जैसा माहौल बन गया है।
दीपक सिंह, एमएलसी, कांग्रेस

एक ओर सरकार मिशन शक्ति चला रही है, दूसरी तरफ रोज वीभत्स कांड हो रहे हैं। पुलिस ज्यादातर मामलों में जातिगत भेदभाव के आधार पर एक्शन लेती है। दलित होना गुनाह बन गया है। यहां दलित की कोई सुनवाई नहीं है।
वैभव माहेश्वरी, प्रवक्ता, आम आदमी पार्टी

शिक्षक भर्ती: यूपी सरकार के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट की मुहर

  • बढ़े कटऑफ को दी मंजूरी
  • शिक्षामित्रों को मिलेगा एक और मौका

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश के प्राथमिक स्कूलों में 69000 सहायक शिक्षक भर्ती के मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने आज फैसला सुना दिया। कोर्ट ने इलाहाबाद हाइ कोर्ट के फैसले के खिलाफ शिक्षामित्रों की अपील को खारिज कर दिया है। साथ ही सर्वोच्च आदालत ने यूपी सरकार के फैसले पर मुहर लगाते हुए बढ़े हुए कटऑफ को अनुमति दे दी है। हालांकि कोर्ट ने यूपी सरकार के इस वक्तव्य को रिकॉर्ड पर लिया कि नए कटऑफ की वजह से नौकरी से वंचित रह गए शिक्षामित्रों को अगले साल एक और मौका दिया जाएगा।
सहायक शिक्षक भर्ती मामले में सर्वोच्च आदालत ने 24 जुलाई को अपना फैसला सुरक्षित रखा था। कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए यूपी सरकार के 60 और 65 फीसदी कटऑफ को सही ठहराया। इसके साथ 31277 पदों की चयन सूची विवाद पर भी विराम लगेगा, जिस पर हाई कोर्ट में सुनवाई चल रही है। शिक्षक भर्ती में जारी कट ऑफ माक्र्स को लेकर शिक्षामित्रों ने विरोध किया था।

सीएम ने किया फैसले का स्वागत

सीएम योगी आदित्यनाथ ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि ऐसे शिक्षामित्र जिन्हें मौका नहीं मिला है, उनको सरकार द्वारा एक और अवसर दिया जाएगा। साथ ही उन्होंने बेसिक शिक्षा विभाग को शीघ्र ही चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र जारी करने के निर्देश दिए हैं।

देश में फिर बढ़ी कोरोना की रफ्तार दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर रैंडम टेस्ट

  • 24 घंटे में मिले 38617 नए केस, 89 लाख के पार संक्रमितों का आंकड़ा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। कोरोना वायरस ने एक बार फिर रफ्तार पकड़ ली है। पिछले 24 घंटे में 38,617 नए मामलों के सामने आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या 89 लाख को पार कर गई है। मंगलवार को 29,164 मामले रिपोर्ट किए गए। वहीं दिल्ली में बढ़ रहे कोरोना संंक्रमण को देखते हुए नोएडा प्रशासन ने दिल्ली से आने वाले लोगों की बॉर्डर पर रैंडम टेस्टिंग शुरू कर दी है। पांच एंट्री प्वाइंट और 11 मेट्रो स्टेशनों पर जांच चल रही है। यहां रैपिड एंटीजन टेस्ट किया जा रहा है, जिसकी रिपोर्ट 8-10 मिनट में दी जा रही है।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 38,617 नए मामले रिपोर्ट किए गए हैं। देश में कुल 89,12,908 लोग इस खतरनाक वायरस की चपेट में आ चुके हैं। संक्रमणमुक्तहोने वाले लोगों की संख्या बढक़र 83,35,110 हो गई है। अब तक कुल 1,30,993 लोगों ने अपनी जान गंवाई है।

https://www.youtube.com/watch?v=Eafx9BmYc60

Next Story
Share it