Top

बलरामपुर में जलाकर मार दिया पत्रकार को, विपक्ष ने बोला सरकार पर हमला

बलरामपुर में जलाकर मार दिया पत्रकार को, विपक्ष ने बोला सरकार पर हमला

  • घर में लगा दी गई थी आग, साथी की मौत पत्रकार राकेश सिंह ने इलाज के दौरान तोड़ा दम
  • विपक्ष ने पूछा, पत्रकारों की हत्याओं पर खामोश क्यों रहती है प्रदेश सरकार
  • उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति ने जांच की उठाई मांग

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश में एक और पत्रकार को मार दिया गया। बलरामपुर में एक पत्रकार के घर में दबंगों ने आग लगा दी, जिसमें पत्रकार के एक साथी की मौके पर ही मौत हो गई जबकि पत्रकार राकेश सिंह की ट्रामा सेंटर में इलाज के दौरान मौत हो गई। पत्रकार की मौत को लेकर विपक्ष ने सरकार पर हमला बोला है। विपक्ष का कहना है कि प्रदेश में न केवल पत्रकारों का उत्पीडऩ किया जा रहा है बल्कि उनकी हत्याएं हो रही हैं लेकिन सरकार खामोश है। वहीं उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति ने इस मामले में जांच की मांग की है।
बलरामपुर में दबंगों ने घर में आग लगा दी, जिसमें पत्रकार राकेश सिंह निर्भीक बुरी तरह झुलस गए। इलाज के लिए उन्हें लखनऊ के ट्रामा सेंटर भेजा गया है जहां आज उनकी मौत हो गई। राकेश सिंह ने बताया था कि दबंगों ने उनके घर में आग लगाई और उनको जिंदा जलाने की कोशिश की। आग इतनी भीषण थी कि घर का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया और दीवार टूट कर गिर गई। मकान के क्षतिग्रस्त हिस्से में एक युवक का बुरी तरह जला हुआ शव बरामद हुआ है। यह शव पत्रकार राकेश सिंह निर्भीक के मित्र पिंटू साहू का बताया जा रहा है, जो घटना के समय राकेश सिंह के घर में मौजूद थे। अस्पताल में भर्ती पत्रकार राकेश सिंह ने बताया था कि दबंगों ने उसके घर में आग लगाई है। कुछ नकाबपोश लोग उसके घर में घुसे थे और पहले मारपीट की उसके बाद आग लगा दी।

दोषियों के खिलाफ हो कार्रवाई: हेमंत तिवारी

इंडियन फेडरेशन आफ वर्किंग जर्नलिस्ट्स (आईएफडब्ल्यूजे) उपाध्यक्ष और उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के अध्यक्ष हेमंत तिवारी ने कहा कि बलरामपुर जिले में तैनात अधिकारियों की नाक के नीचे बीते काफी समय से पत्रकारों का उत्पीडऩ और उन पर हमले होते रहे हैं पर सरकार ने कोई एक्शन नहीं लिया। बलरामपुर जिले में लंबे समय से तैनात जिलाधिकारी ने न केवल पत्रकार की सुरक्षा की मांग की अनदेखी की बल्कि कई पत्रकारों पर मुकदमे दर्ज कराए। जिलाधिकारी से दिवंगत पत्रकार ने अपनी हत्या की आशंका भी जताई थी। राकेश ने कई पत्रकारों की मौजूदगी में डीएम से कहा था कि उन पर हमला हो सकता है तो जवाब मिला था कि अरे, आप पर कौन हमला करेगा। उन्होंने कहा कि बलरामपुर में पत्रकार के घर पर दबंगों ने हमला बोल कर आग लगा दी जिसमें एक व्यक्ति की मौके पर जलकर मौत हो गई। बुरी तरह से जले पत्रकार राकेश सिंह की लखनऊ ट्रामा सेंटर में मौत हो गई। तिवारी ने कहा कि प्रदेश सरकार अविलंब दोषियों को गिरफ्तार कर रासुका मे निरुद्ध करे और जिले के जिम्मेदार अधिकारियों को हटाए। संवाददाता समिति अध्यक्ष हेमंत तिवारी व वरिष्ठ उपाध्यक्ष अजय श्रीवास्तव ने प्रदेश सरकार से दिवंगत पत्रकार राकेश सिंह के परिजनों को 25 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की मांग के साथ ही आश्रित पत्नी को नौकरी देने का अनुरोध किया है।

ये आदित्यनाथ का राज है। यहां पत्रकार पर मुकदमा होता है, जेल होती है, हत्या होती है, पत्रकार को जलाकर मार दिया जाता है लेकिन सरकार कुंभकरण की नींद सोती है।
संजय सिंह, संासद ,आम आदमी पार्टी

यूपी में पत्रकार सुरक्षित नहीं है। पत्रकारों को खुलेआम धमकी दी जा रही है। उनकी हत्याएं हो रही हैं। यदि कोई पत्रकार सरकार के खिलाफ लिखता है तो सरकार ही सबसे पहले उसका उत्पीडऩ करती है।
जीशान हैदर, प्रवक्ता, कांग्रेस

बलरामपुर में पत्रकार को जलाकर जघन्य हत्या कर दी गई। सीएम योगी आदित्यनाथ अर्णव पर आंसू बहा रहे थे, अब खामोश हैं।
आईपी सिंह, सपा प्रवक्ता

सीएम योगी आदित्यनाथ ने जीरो टालरेंस की नीति लागू की है। अपराधी जो भी होगा,उसे गिरफ्तार कर कड़ी सजा दिलवाई जाएगी।

कुमार अशोक पांडेय
प्रवक्ता, भाजपा

मामला संदिग्ध है,वरिष्ठ अधिकारियों ने घटना स्थल का गहनता से निरीक्षण किया है। दो को हिरासत में लिया गया है। पूछताछ की जा रही है। इसके साथ ही साक्ष्यों के आधार पर छानबीन भी शुरू कर दी गई है।
देव रंजन वर्मा, पुलिस अधीक्षक,बलरामपुर

भाजपा सरकार ने किसानों को कर दिया बर्बाद: अखिलेश यादव

  • कृषि सुधार कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के साथ है सपा
  • किसानों पर किया जा रहा है अत्याचार, व्यापारी भी परेशान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि देश में किसान के ऊपर इतना अन्याय किसी भी सरकार ने नहीं किया होगा जितना भाजपा सरकार कर रही है। यह वही भाजपा है जिसने किसानों को भरोसा दिलाया था कि अगर सत्ता में आयी तो पैदावार की कीमत बढ़ा कर देगी। किसानों की आय दोगुनी कर देगी। लेकिन जब से भाजपा सरकार आई है किसी न किसी तरीके से किसानों को बर्बाद किया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में लूट हो रही। किसानों के धान लूट की जा रही है। जिन केंद्रों को धान खरीदना था वहां उसे खरीदा नहीं जा रहा है। किसी को एमएसपी का रेट नहीं मिला। पंजाब हरियाणा और उत्तर प्रदेश के किसान काले कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। सपा किसानों का पूरा समर्थन करती है। जो कृषि सुधार कानून लाए गए हैं उनसे किसान की मदद नहीं होगी। सरकार के फैसलों से व्यापारी भी बर्बाद हो रहे हैं।

बसपा व कांग्रेस के कई नेता सपा में शामिल
सपा प्रमुख अखिलेश यादव की मौजूदगी में बसपा और कांग्रेस के कई नेता सपा में शामिल हुए। चौधरी बृजेंद्र सिंह पूर्व सांसद कांग्रेस सपा में शामिल हुए। पूर्व ब्लाक प्रमुख सिधौली राम दुलारे भार्गव बसपा छोडक़र समाजवादी पार्टी में शामिल हुए। पूर्व कैबिनेट मंत्री सहारनपुर चौधरी लियाकत अली, बसपा के पूर्व जोनल इंचार्ज लखनऊ मंडल डॉ. सुनील कुमार राजवंशी, बसपा के बहराइच प्रभारी अब्दुल रशीद खान, विष्णु जाटव और कृष्ण कुमार एडवोकेट, मोहम्मद सगीर सपा में शामिल हुए। प्रधान संगठन के अध्यक्ष अर्जुन सिंह सहित 40 प्रधान भी सपा में शामिल हुए।

सपा मुखिया ने पत्रकार को जलाने वाली खबर की कटिंग प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिखायी
सपा मुखिया अखिलेश यादव ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में भड़ास ४ मीडिया में प्रकाशित बलरामपुर में पत्रकार को जिंदा जलाने वाली खबर की कङ्क्षटग दिखाते हुए पत्रकारों पर लगातार हो रहे हमले और उत्पीडऩ पर सवाल उठाये।

राजधानी में शराब की बिक्री पर प्रतिबंध

  • एमएलसी चुनाव को देखते हुए लिया गया फैसला
  • अवैध तरीके से बिक्री करने वालों पर होगी कार्रवाई

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एमएलसी चुनाव के मद्देनजर डीएम अभिषेक प्रकाश ने राजधानी में शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने के आदेश दिए हैं। आदेश के अनुसार रविवार शाम पांच बजे के बाद से शराब की दुकानें आगामी एक दिसंबर तक बंद रहेगी। तीन दिसंबर को काउंटिंग के दिन भी दुकाने बंद रहेंगी।
राजधानी में एक दिसंबर को एमएलसी चुनाव की वोटिंग होनी है। सुरक्षा की दृष्टि से जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने राजधानी में शराब बिक्री को पूरी तरह प्रतिबंधित करने के आदेश जारी किए हैं। इस दौरान शराब की अवैध बिक्री करने वाले के खिलाफ सख्त कार्यवाही किए जाने के आदेश भी जारी किए गए हैं। वहीं 3 दिसंबर को वोटों की काउंटिंग की जानी है। इस दौरान भी पूरे दिन शराब की बिक्री प्रतिबंधित रहेगी।

https://www.youtube.com/watch?v=ykLx0cok_Uw

Next Story
Share it