Top

प्रदेश में अब भूख से नहीं मरेगी गायें अलग से बजट जारी करेगी सरकार

प्रदेश में अब भूख से नहीं मरेगी गायें अलग से बजट जारी करेगी सरकार

गौशालाओं में गायों को मिलेगा भरपेट चारा
प्रदेश सरकार ने लिया फैसला, किसानों से खरीदेगी भूसा
खेत में ही किसानों को नकद दिया जाएगा भुगतान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश में अब भूख से गायें नहीं मरेगी। उन्हें गौशालाओं में भरपेट भोजन दिया जाएगा। साथ ही चारे-पानी की पूरी व्यवस्था रहेगी। इसके लिए किसानों के खेतों से सरकार सीधा संवाद करेगी। खेतों में ही भूसा व पराली राज्य सरकार खरीदेगी। खेत में ही किसानों को इस चारे का नकद भुगतान भी दिया जाएगा। इसके लिए सरकार अलग से बजट जारी करेगी।
सीएम योगी के अनुसार अक्सर गायों के भूख से मरने की खबरें पढ़ता रहता हूं। इससे हमें बड़ी पीड़ा होती है। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। अब एक भी गाय भूख से दम नहीं तोड़ेंगी। उन्हें गौशालाओं में खाने को भरपेट चारा दिया जाएगा। सरकार के इस फैसले से गायों का पेट भी भरेगा और यूपी में प्रदूषण भी कम होगा। इसके लिए सरकार अलग से बजट जारी करेगी। इस बारे में पशुपालन विभाग की ओर से सभी पशु चिकित्सा अधिकारियों समेत और भी दूसरे विभागों के अधिकारियों को पत्र भेज दिया गया है। मनोज कुमार (प्रमुख सचिव) ने पत्र जारी करते हुए लिखा है कि फसल कटाई के दौरान बाजार में भूसा सस्ते दाम पर मिल जाता है। लेकिन कुछ दिन बाद ही भूसे के दाम बढ़ जाते हैं। इसके चलते गौशालाओं में भूसे का इंतजाम करना मुश्किल हो जाता है। गौशालाओं के कायदे-कानून के मुताबिक वहां भूसे का स्टॉक भी नहीं किया जा सकता है। ऐसे में गायों को भूसा खिलाना मुश्किल हो जाता है। इसी परेशानी का रास्ता निकालने के लिए यह योजना शुरू की गई है।

अक्सर खेत में ही जला देते हैं किसान

प्रमुख सचिव मनोज कुमार के अनुसार यूपी में भी काफी जगहों पर अब हॉर्वेस्टर से फसलों की कटाई होती है। इसके बाद खेतों में फसल का काफी हिस्सा छूट जाता है। इससे किसान को अगली फसल के लिए खेत तैयार करते समय काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। यहां तक कि किसान उस पराली को खेत में ही जला देते हैं, जिससे प्रदूषण फैलता है।

अब गौशालाओं तक ऐसे पहुंचेगा भूसा

सरकार का कहना है कि किसान जिस पुआल को खेत साफ करने के लिए जला देता है। उसे सीधे गौशालाओं के लिए खरीदा जाएगा। गौशाला रोजनदारी पर मजदूर रखेगी। यह मजदूर खेत में जाकर फसल के उस बचे हुए हिस्से को कटेंगे। उसे जमा करेंगे और ट्रांसपोर्ट कर गौशाला तक पहुंचाएंगे। गौशालाओं में भी गायों की देखभाल के लिए मैनपॉवर बढ़ाई जाएगी। इसके लिए गौशालाओं को अलग से बजट भी दिया जाएगा।

https://www.youtube.com/watch?v=Q_fGTfotb-c

Next Story
Share it