Top

पुलिस को चकमा देकर एक लाख के इनामी धर्मेंद्र ने कोर्ट में किया सरेंडर

पुलिस को चकमा देकर एक लाख के इनामी धर्मेंद्र ने कोर्ट में किया सरेंडर

आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में चल रहा था वांछित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
कानपुर। बिकरू में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में वांछित एक लाख रुपये के इनामी धर्मेंद्र उर्फ हीरू ने मंगलवार को कोर्ट में समर्पण कर दिया। वह अधिवक्ता की पोशाक पहनकर कोर्ट तक पहुंचा। इस दौरान कोर्ट परिसर से उसे उठाने की कोशिश कर रहे एसटीएफ जवानों व स्वॉट टीम प्रभारी कानपुर को पकडक़र अधिवक्ता सीजेएम कोर्ट में ले गए। वहां कोर्ट ने दो घंटे तक सभी को बैठाने के बाद सख्त हिदायत देकर छोड़ा।
चौबेपुर थानांतर्गत बिकरू गांव निवासी आरोपित धर्मेंद्र उर्फ हीरू घटना के बाद से ही फरार था। पुलिस ने उस पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया था। आरोपित की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार दबिश दे रही थी। मंगलवार सुबह आरोपी के न्यायालय में समर्पण करने की सूचना पर पुलिस व एसटीएफ टीम न्यायालय के आसपास पहले से ही मुस्तैद थी। इसके बाद भी धर्मेंद्र अधिवक्ता की पोशाक पहनकर विशेष न्यायाधीश दस्यु प्रभावित क्षेत्र की अदालत के पास पहुंच गया। भनक लगने पर एसटीएफ के जवानों ने उसे न्यायालय के पास से उठाने का प्रयास किया लेकिन उसने भागकर कोर्ट में घुसकर सरेंडर कर दिया। इसके बाद लामबंद अधिवक्ता एसटीएफ के एसआई विजय दर्शन, विनय कुमार, विष्णुपाल, शमसाद अली व स्वॉट टीम प्रभारी दिनेश सिंह को पकड़ कर सीजेएम कोर्ट ले गए। कोर्ट में पुलिस कर्मियों को करीब दो घंटे तक बैठाने के बाद सीजेएम ने दोबारा ऐसा नहीं करने की हिदायत देकर सभी को जाने दिया। सहायक शासकीय अधिवक्ता प्रशांत मिश्रा ने बताया कि धर्मेंद्र उर्फ हीरू को 31 अगस्त तक की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया है।

संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से आबकारी दारोगा की मौत

मौके पर मिली लाइसेंसी बंदूक, आत्महत्या की आशंका

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
सुलतानपुर। कूरेभार थानाक्षेत्र के संजयनगर में संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से आबकारी विभाग के उपनिरीक्षक की मौत हो गयी। मौके पर लाइसेंसी बन्दूक बरामद हुई है, जिससे आत्महत्या की आशंका व्यक्त की जा रही है। मौके पर पहुंची पुलिस ने पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए शव को भेज दिया है।
थानाक्षेत्र के मुजौना तिवारीपुर निवासी राम भारत तिवारी पुत्र स्व गनेश तिवारी कस्बे के संजय नगर में घर बनाकर रह रहे थे। वह रायबरेली जनपद में आबकारी विभाग में उप निरीक्षक के पद पर कार्यरत थे। राम भारत बीते दस दिनों के चिकित्सीय अवकाश पर घर आये थे। आज तडक़े करीब तीन बजे राम भारत के घर के अंदर गोली चलने की आवाज सुनाई दी। लोग घर के अंदर पहुंचे तो देखा कि राम भारत खून से लथपथ जमीन पर पड़े हैं। पास में ही उनकी लाइसेंसी सिंगल बैरल बन्दूक भी पड़ी थी। गोली गले में लगी थी जो कि सिर को चीरती हुई पार हो गयी थी। क्राइम सीन से आत्महत्या की आशंका जताई जा रही है। थानाध्यक्ष मनबोध तिवारी ने बताया कि हत्या व आत्महत्या दोनों एंगल से मामले की जांच की जा रही है। घटनास्थल पर पहुंचकर फॉरेंसिक टीम ने भी नमूने कलेक्ट किये।

https://www.youtube.com/watch?v=FRitAwpo9oQ

Next Story
Share it