Top

पिंटू सेंगर की हत्या की सुपारी लेने वाला हैदर गिरफ्तार

पिंटू सेंगर की हत्या की सुपारी लेने वाला हैदर गिरफ्तार

तय हुई थी 40 लाख की रकम, मुख्य शूटर राशिद कालिया की तलाश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
कानपुर। चकेरी में बसपा नेता पिंटू सेंगर की हत्या की सुपारी लेने वाले 25 हजार का इनामी मीरपुर निवासी साफेज सैफी उर्फ हैदर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से वारदात में प्रयुक्त .32 बोर की पिस्टल, 315 बोर का तमंचा, पांच कारतूस व सुपारी की रकम में बचे 1.04 लाख बरामद हुए हैं। सोमवार शाम पुलिस ने आरोपी को जेल भेज दिया।
20 जून को चकेरी के तिवारीपुर में सपा के पूर्व नगर अध्यक्ष चंद्रेश सिंह के घर के बाहर बसपा नेता पिंटू सेंगर की ताबड़तोड़ गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। जांच में सामने आया था कि हिस्ट्रीशीटर पप्पू स्मार्ट, उसके भाई कक्कू ने प्रापर्टी डीलर मनोज गुप्ता के कहने पर हत्या का ठेका हैदर को दिया था। रविवार देर रात पुलिस को सूचना मिली कि हैदर शहर से भागने की फिराक में है। चकेरी इंस्पेक्टर रवि श्रीवास्तव व कोयलानगर चौकी प्रभारी जितेंद्र सिंह ने पीएसी मोड़ स्थित चौधरी ढाबा के पास से हैदर को गिरफ्तार कर लिया। एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि हैदर से पूछताछ में कुछ अन्य लोगों के बारे में जानकारी मिली है। मुख्य शूटर राशिद कालिया की तलाश जारी है। हैदर ने पिंटू की हत्या के लिए 40 लाख रुपये की सुपारी ली थी। एसपी ने बताया कि तनवीर बादशाह ने पप्पू स्मार्ट की मुलाकात हैदर से करवाई थी। पप्पू ने तनवीर को आठ लाख रुपये एडवांस दिए थे। शेष रकम काम होने के बाद देने का वादा था, लेकिन तनवीर पूरी रकम हैदर को नहीं दे रहा था। हैदर ने बताया कि वारदात के बाद उसे एक पैसा भी नहीं मिला।

सिपाही के जन्मदिन में हर्ष फायरिंग गोली लगने से दारोगा घायल

अस्पताल में भर्ती फायरिंग के शक में सिपाही से पूछताछ

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
बरेली। प्रदेश के बरेली के कैंट थाने के सिपाही की जन्मदिन पार्टी में हर्ष फायरिंग की गई। इस दौरान एक गोली समारोह में शामिल दारोगा की कमर में जा लगी। उन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। वहीं, फायरिंग के शक में एक सिपाही से थाने में पूछताछ की जा रही है।
बरेली कैंट थाने में तैनात एक सिपाही अश्वनी का सोमवार को जन्मदिन था। कोविड प्रोटोकॉल लागू होने के बाद भी अश्वनी का जन्मदिन मनाने के लिए थाने के पुलिसकर्मियों ने कैंट के युगवीणा बरात घर बुक कराया। देर रात रात दस बजे वहां जन्मदिन की पार्टी शुरू हुई। केक कटने के करीब एक घंटे बाद नाच-गाना हो रहा था। उसी दौरान अचानक फायरिंग की जाने लगी। इस समारोह में कैंट थाने के दारोगा संजय सिंह भी समारोह में शामिल थे। वहां फायरिंग के बीच एक गोली अचानक उनकी कमर में लगी। गोली लगते ही वह चीख पड़े। उन्हें शहर के निजी अस्पताल ले जाया गया। वहां प्राथमिक उपचार के दौरान उनकी हालत खतरे से बाहर बताई गई। हालांकि इसके बाद साथी पुलिसकर्मी रात बारह बजे उन्हें भोजीपुरा स्थित मेडिकल कॉलेज ले गए। एसएसपी शैलेश पाण्डेय ने बताया कि सिपाही अश्वनी के जन्मदिन समारोह में अचानक किसी ने गोली चलाई जोकि दारोगा को जा लगी। उनकी हालत खतरे से बाहर है। गोली किसने चलाई, इस बाबत एक सिपाही से पूछताछ की जा रही है।

https://www.youtube.com/watch?v=AK9MFEeofcU

Next Story
Share it