Top

देव दिवाली देखने काशी आ रहे पीएम मोदी, सीएम योगी करेंगे अगवानी

देव दिवाली देखने काशी आ रहे पीएम मोदी, सीएम योगी करेंगे अगवानी

काशी के घाटों पर 15 लाख से अधिक दीये जलाने की तैयारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। वाराणसी में होने वाली भव्य देव दिवाली के दीदार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल होंगे। यह पहला मौका होगा जब देव दिवाली पर पीएम मोदी अपने संसदीय क्षेत्र में होंगे। देव दिवाली का कार्यक्रम 30 नवंबर को है। प्रधानमंत्री दोपहर तीन बजे मिर्जामुराद के खजुरी गांव में आयोजित जनसभा में पहुंचेंगे। वहां शारीरिक दूरी के नियम का पालन करते हुए पांच हजार लोग जुटेंगे। जनसभा को संबोधित करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हेलीकाप्टर से डोमरी गांव पहुंचेंगे।
बाबा अवधूत भगवान रामघाट से क्रूज पर सवार होंगे व गंगा में सफर करते हुए देव दीपावली की आभा निहारेंगे। दशाश्वमेध घाट पर आयोजित गंगा आरती में भी उनके शिरकत करने की संभावना है। इसके बाद क्रूज से राजघाट जाएंगे और वहां से सारनाथ पहुंचेंगे। वहां लाइट एंड साउंड शो देखने के बाद रिंग रोड होते हुए रात नौ बजे तक बाबतपुर स्थित लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्टï्रीय एयरपोर्ट से दिल्ली रवाना हो जाएंगे। जिला प्रशासन और भाजपा संगठन को प्रधानमंत्री के आगमन की मिली प्रारंभिक जानकारी के अनुसार रविवार को तैयारियां पूरी करने को अफसरों ने मौका-मुआयना किया। बता दें कि अयोध्या में दिवाली पर भव्य दीपोत्सव के सफल आयोजन के बाद अब उत्तर प्रदेश की योगी सरकार काशी की विश्व प्रसिद्ध देव दीपावली को और भी भव्य बनाने की तैयारी कर रही है। देव दीपावली पर पिछले साल काशी के घाटों को दस लाख दीयों से रोशन किया गया था, जबकि इस बार देव दीपावली को भव्य बनाने के लिए 15 लाख से अधिक दीये जलाने की तैयारी है। गंगा नदी में पानी की लहरों पर लेजर शो एवं प्रोजेक्टर के माध्यम से काशी की महिमा, शिव की महिमा एवं गंगा अवतरण आदि का भव्य प्रदर्शन होगा।

यूपी के 44 जिलों में 10 लाख और बनाए जाएंगे पीएम आवास

वर्ष 2022 तक सबको घर का सपना साकार करने के लिए राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में ही अभी 54 लाख 95 हजार और आवास बनाने होंगे। इस लक्ष्य को पाने के लिए राज्य सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत केंद्र सरकार से चालू वित्तीय वर्ष के लिए और 10 लाख आवास मांगे हैं। ये आवास उन 44 जिलों के लिए मांगे गए हैं जो केंद्र सरकार की गरीब कल्याण योजना से बाहर हैं। केंद्र सरकार ने चालू वित्तीय वर्ष में आत्मनिर्भर भारत की गरीब कल्याण योजना में शामिल राज्य के 31 जिलों के लिए 5.52 लाख आवास स्वीकृत किए हैं। राज्य के ग्राम्य विकास मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हर हाल में 2022 तक सभी गरीबों को घर देने की योजना पर काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री निर्देश पर 5.52 लाख जो नए आवास स्वीकृत हुए हैं उन्हें बनवाने की प्रक्रिया तेज की गई है। इसमें से 1.19 लाख आवास के लाभार्थियों का खाता खुलवा कर धनराशि उनके खातों में ट्रांसफर करने की प्रक्रिया शुरू की गई है। शेष लाभार्थियों को भी आवास बनाने की धनराशि जल्द दी जाएगी। वित्तीय वर्ष के अंत तक सभी स्वीकृत आवास बना दिए जाएंगे।

सीएम योगी ने किया कोविड-19 की बीएसएल लैब का उद्ïघाटन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज अपने सरकारी आवास से वीडियो कॉॅन्फे्रंसिंग के जरिए कोविड-19 की बीएसएल लैब का उद्ïघाटन किया। इस अवसर पर सीएम योगी ने कहा कि पूरी दुनिया कोरोना से जूझ रही है। भारत में भी काफी केस बढ़ गए हैं। कोरोना के केस लगातार यूपी में भी बढ़ रहे हैं। कोरोना पर नियंत्रण के लिए प्रदेश में रोजाना पौने दो लाख टेस्ट किए जा रहे है। प्रदेश में अब तक 80 लाख से ज्यादा लोगों का कोरोना टेस्ट हो चुका है। कोरोना नियंत्रण पर हरसंभव प्रयास जारी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से सावधान रहें और दूसरों को जागरुक करें। साथ ही मास्क लगाए व दो गज की दूरी का पालन करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना को लेकर यूपी में बेहतरीन काम किया गया है। यह कामयाबी टीम वर्क से मिली है। डब्ल्यूएचओ ने यूपी के काम की सराहना भी की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 24 करोड़ लोगों को कोरोना से बचाने के लिए हम हरसंभव वो प्रयास करेंगे, जिसकी जनता को जरूरत है।

अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए धन जुटाएंगे संघ और विहिप कार्यकर्ता

धन संग्रह अभियान 15 जनवरी से 27 फरवरी तक देशभर में चलेगा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण की दिव्यता और भव्यता का संबल राष्टï्रीय स्वयंसेवक संघ बनेगा। संघ सूत्रों का कहना है कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट को मंदिर निर्माण में आवश्यकता पडऩे वाली निधि संग्रह के लिए स्वयंसेवकों को लगाया जाएगा।
योजना बन रही है कि स्वयंसेवकों और विहिप कार्यकर्ताओं की टोलियां घर-घर संपर्क कर निधि संग्रह करेंगी। उन्हें दस करोड़ परिवारों तक पहुंचने का लक्ष्य दिया जाएगा। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि श्रीराम मंदिर निर्माण का कार्य तो शुरू हो गया है, लेकिन उसमें कुल कितनी धनराशि खर्च होगी अभी उसका बजट ट्रस्ट ने नहीं तैयार किया है। ट्रस्ट ने जनभागीदारी से मंदिर निर्माण कराने की योजना बनाई है। इसके मद्देनजर धन संग्रह की रूपरेखा जल्द तैयार कर ली जाएगी। उसी अनुरूप अभियान चलाया जााएगा। अयोध्या में 67.3 एकड़ परिसर में 2.7 एकड़ भूखंड पर बनने वाले मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है। तीन तल के मंदिर की शिखर सहित कुल ऊंचाई 161 फीट होगी। धन संग्रह अभियान 15 जनवरी से 27 फरवरी तक देशभर में चलेगा।

https://www.youtube.com/watch?v=GNatOdmdLPk

Next Story
Share it