Top

ठेंगे पर हाईकोर्ट के आदेश, राजधानी में धड़ल्ले से चल रहीं अवैध डेयरियां

ठेंगे पर हाईकोर्ट के आदेश, राजधानी में धड़ल्ले से चल रहीं अवैध डेयरियां

शहर की सीमा से अवैध डेयरियों को बाहर करने में नाकाम नगर निगम
नगर निगम कर्मियों की मिलीभगत से चल रहा खेल
सडक़ों पर घूम रहे मवेशी दे रहे हादसों को न्योता

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। हाईकोर्ट के आदेशों के बावजूद नगर निगम आज तक अवैध डेयरियों को शहर की सीमा से बाहर नहीं कर सका। लिहाजा शहर भर में अवैध डेयरियां धड़ल्ले से संचालित की जा रही हैं। इन डेयरियों में पाले गए मवेशियों की गंदगी से नाले चोक हो रहे हैं। इससे कोरोना काल में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। इसके अलावा सडक़ों पर घूम रहे मवेशी हादसों को न्योता दे रहे हैं। यह सारा खेल नगर निगम कर्मियों की मिलीभगत से चल रहा है। वहीं नगर निगम के अधिकारी कोर्ट के आदेशों का पालन कराने को लेकर गंभीर नहीं दिख रहे हैं। इससे आम आदमी को खासी परेशानी उठानी पड़ रही है।
राजधानी के विभिन्न इलाकों में अवैध डेयरियां फल-फूल रही हैं। राजधानी में प्लॉट खरीदकर उसमे डेयरियों का संचालन किया जा रहा है। शहर में करीब दो हजार से अधिक डेयरियां, अवैध रूप से संचालित हो रही हैं। इस मामले में हाईकोर्ट ने कई बार आदेश जारी किए लेकिन निगम के अधिकारी इसको लागू करने में हीलाहवाली कर रहे हैं। हाईकोर्ट ने 21 मई 2017 को अपने आदेश में सडक़ों पर घूम रहे पशुओं को पकडऩे के साथ डेयरियों को शहर की सीमा से हटाने का आदेश जारी किया था। हाईकोर्ट के इस आदेश के बाद प्रशासन ने रणनीति बनायी थी। डेयरियों को हटाने की कार्ययोजना बनाई गई। डेयरी संचालकों को कहा गया कि 20 जून तक वे डेयरियों को शहर से बाहर ले जाएं, अगर तय समय पर स्थानांतरण नहीं हुआ तो 21 जून 2017 तक नगर निगम, जिला प्रशासन और पुलिस डेयरियों को बलपूर्वक हटा देगी। इससे पूर्व 27 मई 1999 को भी हाईकोर्ट ने शहरी सीमा से डेयरियों को हटाने का आदेश दिया था। कोर्ट के आदेश पर नगर निगम व पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाते हुए कुछ डेयरियों को शहरी सीमा से बाहर किया लेकिन स्थितियों में कोई खास बदलाव नहीं आया। डेयरी संचालक फिर पुरानी जगह पर आ गए। इसके बाद भी हाईकोर्ट कई बार आदेश दे चुका है लेकिन स्थितियां जस की तस हैं।

क्या है गाइडलाइंस
नगर निगम ने डेयरी खोलने की सीमा तय कर दी है। फैजाबाद रोड पर चिनहट, सीतापुर रोड पर सेमरा गांव, कानपुर रोड पर दारोगा खेड़ा, सुलतानपुर रोड पर कटाई का पुल, रायबरेली रोड पर पीजीआई के आगे ही डेयरियां खोली जा सकती हैं।

यहां फल-फूल रही डेयरियां

गौतमपल्ली में अवैध डेयरी संचालित हैं। यह इलाका सीएम आवास से मात्र पांच सौ मीटर की दूरी पर है जबकि इंदिरा नगर के तकरोही स्थित डूडा कालोनी में एक दर्जन से अधिक डेयरियां संचालित हैं। इसके आलावा जानकीपुरम और गुडम्बा में भी दो दर्जन से अधिक डेयरियां संचालित हैं। सर्वोदय नगर और रहीम नगर में भी एक दर्जन से अधिक डेयरियां संचालित हैं। वहीं गोमतीनगर के ग्वारी चौराहे से सीएमएस गोमतीनगर विस्तार जाने वाले पुल के नीचे ही अवैध कब्जा करके डेयरियां बना दी गई हैं। पुल के नीचे चार दर्जन से अधिक मवेशी पाले गए हैं।

डेयरी संचालक कर चुके हैं मारपीट

खादर इलाके में अवैध डेयरी संचालक कार्रवाई करने पहुंचे कर्मियों व शिकायतकर्ताओं से मारपीट तक करते हैं। पिछले दिनों कल्यानपुर में विरोध करने वालों को डेयरी संचालकों ने जमकर पीटा था।

संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। जहां कहीं भी अवैध डेयरियां चल रही हैं, अभियान चलाकर सभी को राजधानी की सीमा के बाहर किया जायेगा।
अजय द्विवेदी,नगर आयुक्त

https://www.youtube.com/watch?v=aiWNUABP7Ew

Next Story
Share it