टिड्डियों का आतंक खत्म करने को सरकार ने कसी कमर, अंडों को किया जाएगा नष्ट

टिड्डियों का आतंक खत्म करने को सरकार ने कसी कमर, अंडों को किया जाएगा नष्ट

गन्ने की फसल को बचाने के लिए 437 टीमों का किया गया गठन
करीब 1300 हेक्टेयर क्षेत्रफल में दवा का किया गया छिडक़ाव
शरणगाहों की जांच करेगी टीम, चलाया जाएगा अभियान
फसलों को हुए नुकसान का होगा आंकलन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। टिड्डियों का आतंक समाप्त करने के लिए प्रदेश सरकार ने कवायद तेज कर दी है। प्रदेश के 36 जिलों में टिड्डियों के अंडे देने की संभावनाओं के मद्देनजर सरकार ने बड़ा ऑपरेशन शुरू किया है। इसके तहत टिड्डियों की शरणगाहों पर जांच की जाएगी और जहां भी उनके अड्डे मिलेंगे उन्हें नष्टï कर दिया जाएगा। इन इलाकों में दवाओं का छिडक़ाव किया जाएगा।
अभी खरीफ की फसलों पर टिड्डी के हमले की आशंका कम नहीं हुई है। यूपी में अभी तक करीब 36 जिलों में टिड्डियों ने रात में डेरा डाला। संभावना जताई जा रही है कि यहां इन्होंने प्रजनन भी किया। इसी को ध्यान में रखते हुए इन जिलों में टिड्डियों के अंडों की तलाश कर उन्हें नष्ट करने का अभियान चलाया जाएगा। वहीं कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने 1777 अतिरिक्त टै्रक्टर स्प्रेयर्स खरीदने की सहमति दे दी है। साथ ही फसल नुकसान के आंकलन के निर्देश भी दिए हैं। प्रदेश मुख्यालय व जिलों में स्थापित कंट्रोल रूम को सक्रिय रखने की हिदायत भी दी गई। गौरतलब है कि प्रदेश के 57 जिलों से टिड्डियों के दल गुजरे और 36 में रात्रि प्रवास किया। रात्रि प्रवास वाले जिलों में रसायनों का स्प्रे कराया जा रहा है। हालांकि कुछ टिड्डी दल नेपाल व बिहार की सीमा में प्रवेश कर गए हैं।

गन्ना विभाग भी मुस्तैद

इस अभियान में कृषि विभाग के 5400 ट्रैक्टर मांउटेड स्प्रेयर्स के अलावा गन्ना विभाग व चीनी मिलों के 29,744 छिडक़ाव यंत्र तथा अग्निशमन विभाग की 840 गाडिय़ां भी प्रयोग में लाई गईं। दूसरी तरफ गन्ना विभाग ने गन्ने की फसल को टिड्डी दल के हमले से बचाने के लिए 437 टीमों का गठन किया है। विभाग ने जिला प्रशासन के साथ मिलकर करीब 1300 हेक्टेयर क्षेत्रफल में दवा का छिडक़ाव कराया है। विभाग का मानना है कि टिड्डियां बहुत बड़ी तादाद में हमला कर काफी कम समय में फसलों को बर्बाद कर देती हैं, लिहाजा पूरी तैयारी से ही इनसे निपटा जा सकता है।

लखनऊ में भी किया था प्रवास

लखनऊ क्षेत्र की बात करें तो यहां फर्रुखाबाद से लेकर हरदोई और सीतापुर में टिड्डियों ने प्रवास किया। इन क्षेत्रों में जगह चिन्हित कर हजारों टिड्डियों को स्प्रे टैंकर के माध्यम से मारा गया है। इसी तरह अयोध्या, वाराणसी, देवीपाटन मंडल में स्प्रे कराया जा रहा है।

https://www.youtube.com/watch?v=39MCZXdz72Q

Next Story
Share it