Top

कोविड अस्पतालों में डï्ïयूटी करने वाले डॉक्टरों को बूस्टर डोज देने की तैयारी में सरकार

कोविड अस्पतालों में डï्ïयूटी करने वाले डॉक्टरों को बूस्टर डोज देने की तैयारी में सरकार

कोरोना वॉरियर डॉक्टरों को मिलेगी 75 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि
योजना के तहत कोविड डॉक्टरों का बीमा भी करवाएगी योगी सरकार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में कोविड-19 में ड्ïयूटी देने वाले डॉक्टरों के लिए अच्छी खबर है। प्रदेश सरकार अब कोविड अस्पतालों में डï्ïयूटी देने वाले डॉक्टरों को बूस्टर डोज देने की तैयारी में है। कोरोना काल में जो भी डॉक्टर व अन्य संक्रमितों की सेवा में लगे हैं सरकार उन्हें आर्थिक पैकेज देगी। साथ ही उनका बीमा भी करवाएगी।
कोरोना काल में प्रदेश के डॉक्टर फ्रंटलाइन वॉरियर के तौर पर खुद को जोखिम में डालकर सैकड़ों मरीजों की जान बचा रहे हैं। हालांकि इसके चलते कई डॉक्टर खुद भी संक्रमित हो गए तो कुछ की जान भी चली गयी है। इसके मद्ïदेनजर प्रदेश सरकार ने कोविड के खिलाफ जान की बाजी लगाकर ड्यूटी कर रहे ऐसे कोरोना योद्धाओं का उत्साह बढ़ाने के लिए नयी रणनीति तैयार की है। इस रणनीति के तहत कोरोना के बढ़ते मामले और डाक्टरों की कमी के चलते यूपी सरकार ने प्रोत्साहित करने की एक योजना बनाई है। इस योजना के तहत अलग-अलग विभागों से आकर कोविड की ड्यूटी करने वाले डाक्टरों को विभाग अलग से प्रोत्साहन राशि और बीमा की सुविधा देगा।

स्वास्थ्य विभाग करेगा सम्मानित

कोरोना संक्रमण के दौर में गंभीर बीमारी से ग्रस्त संक्रमितों को बेहतर इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए प्रदेश सरकार ने विशेषज्ञ चिकित्सकों की मदद लेने की योजना बनाई है। ये कोशिश सफल हो सके इसके लिए अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने स्वास्थ्य विभाग को पत्र भेजकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं। इस पत्र के बाद एनेस्थेटिक्स, कार्डियोलॉजिस्ट, नेफ्रोलॉजिस्ट, चेस्ट फीजिशियन, स्त्री एवं बाल रोग विशेषज्ञ चिकित्सकों से कार्यालय में पंजीयन कराने को कहा है। पंजीयन के बाद चिकित्सकों को 15 दिन कोविड-19 ड्यूटी करने पर 75 हजार रुपये प्रोत्साहन राशि के साथ प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत बीमा किया जाएगा। कोविड ड्यूटी करने के बाद चिकित्सकों को सेवा सम्मान के साथ प्रशस्ति पत्र देकर स्वास्थ्य विभाग सम्मानित करेगा।

जब आसमान से बरसे थे फूल

लॉकडाउन के दौरान इन कोरोना योद्घाओं के सम्मान में आसमान से फूल बरसाए गए थे। सरकार व सेना ने कोरोना वॉरियर्स के सम्मान में ऐसी पहल की थी। सेना का कहना था कि कोविड-19 में सेवा करने वाले डॉक्टर ही कोरोना से जिंदगी बचा सकते हैं। ऐसे में उनका हौसला बढ़ाना जरूरी है। भारतीय वायु सेना के जेट्स और ट्रासंपोर्ट प्लेन ने अस्पतालों और कोरोना वायरस के संक्रमण की लड़ाई में राष्टï्रीय महत्व के संस्थानों पर फूल बरसाए, जिसकी पूरे देशभर में चर्चा हुई थी। अब योगी सरकार के इस फैसले से डॉक्टर खुश है और कई संगठनों ने इसका समर्थन भी किया है।

अग्रिम रणनीति बनाने पर बल

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड प्रभावित लोगों को सुचारु और बेहतर चिकित्सा सुविधा सुनिश्चित करने के लिए सभी जिलों के जिलाधिकारी व मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिन में दो बार बैठक करने का निर्देश दिया है। बैठक में सामने आने वाली समस्याओं का तत्काल समाधान सुनिश्चित किए जाने की भी बात कहीं। कोविड अस्पतालों में तैनात चिकित्सक एवं स्टाफ नर्स वॉर्ड में जाकर मरीजों का उपचार करें। मुख्यमंत्री ने प्रतिदिन डेढ़ लाख कोविड टेस्ट होने पर जोर दिया। साथ ही प्रदेश में टेस्टिंग एवं कोविड अस्पतालों में बेड्स की संख्या बढ़ाने के लिए अग्रिम रणनीति बनाने पर बल भी दिया।

https://www.youtube.com/watch?v=YWgDBm-tvZk

Next Story
Share it