Top

कोरोना का प्रभावी टीका आने तक नहीं बरती जाए कोई ढिलाई: सीएम योगी

कोरोना का प्रभावी टीका आने तक नहीं बरती जाए कोई ढिलाई: सीएम योगी

90 फीसदी से अधिक हुआ उत्तर प्रदेश का कोरोना रिकवरी रेट
कोरोना की रोकथाम और प्रसार पर नियंत्रण के लिए पूरी तरह से ऐहतियात बरतने की जरूरत

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। कोरोना के संक्रमण काल में उठाए गए तमाम कदमों की मदद से उत्तर प्रदेश में कोविड की रोकथाम में बड़े पैमाने पर मदद मिली है। प्रदेश में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट 90 फीसदी से अधिक हो गया है। हालांकि सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि प्रदेश में कोरोना की रोकथाम और प्रसार पर नियंत्रण के लिए सभी ऐहतियातों को बरकरार रखा जाए। साथ ही वैक्सीन आने तक कोई भी ढिलाई ना बरती जाए।
लोकभवन में हुई समीक्षा बैठक के दौरान सीएम योगी ने निर्देश दिया कि शासन स्तर पर स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी लखनऊ, वाराणसी, मेरठ और मथुरा के जिला प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठï अधिकारियों से नियमित संवाद स्थापित करते हुए कोविड-19 के नियंत्रण के संबंध में उनका मार्गदर्शन करें। सीएम ने कहा कि कोविड-19 का प्रभावी टीका आने तक कोई ढिलाई ना बरती जाए। एहतियात के मूल मंत्र के साथ ही भविष्य में भी इस बीमारी के खिलाफ जंग जारी रहेगी। मरीजों की सुविधा के लिए एम्बुलेंस सेवा सक्रियता से कार्य करे। सीएम ने कोरोना टेस्टिंग की प्रक्रिया को भी जरूरतों के हिसाब से पूर्व की भांति ही जारी रखने के निर्देश दिए।

अनाज की खरीद बढ़ाने के निर्देश

मुख्यमंत्री ने न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना के तहत स्थापित धान खरीद केंद्रों को प्रभावी तरीके से संचालित करते हुए किसानों की अधिक से अधिक उपज की खरीदी की जाए। किसानों को सभी सहूलियतें उपलब्ध कराने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि धान बेचने वाले सभी किसानों के खाते में 72 घंटे के अन्दर भुगतान की धनराशि ट्रांसफर कर दी जाए। उन्होंने कहा कि सब्जी और दालों के मूल्य को नियंत्रित करने के लिए सभी जिलाधिकारी अपने-अपने जनपदों में प्रभावी कार्यवाही करें।

इन सात जिलों में अब भी टेंशन बरकरार

यूपी में कोरोना का रिकवरी रेट 90 फीसदी से अधिक होने के बावजूद अब भी 7 प्रमुख जिलों में और सतर्कता बरतने के लिए कहा गया है। प्रदेश के इन 7 जिलों में अब भी अधिक संख्या में कोविड के मामले आ रहे हैं। इन जिलों में बीते 24 घंटे में बड़ी संख्या में कोरोना केस सामने आए हैं। इनमें लखनऊ (279 केस), गोरखपुर (173 केस), प्रयागराज (151 केस), गाजियाबाद (149 केस), गौतमबुद्ध नगर (139 केस) शामिल हैं। इसके अलावा मेरठ में 139 केस और वाराणसी में 100 कोरोना मामले मिले हैं। इन सभी जिलों में सीएम ने अधिक सतर्कता बरतने और नियमों का सख्ती से पालन कराने के लिए कहा है।

पेंशनर ऑनलाइन दे सकेंगे जीवन प्रमाणपत्र

यूपी सरकार ने पेंशन से गुजारा कर रहे बुजुर्गों को बड़ी राहत दी है। पेंशन धारक अब अपने जीवित रहने का प्रमाणपत्र ऑनलाइन दे सकेंगे। मुख्यमंत्री ने वित्त विभाग को निर्देश दिया है कि पेंशनधारकों को जीवन प्रमाणपत्र देने की व्यवस्था को सरल बनाया जाए। उन्होंने कहा कि वित्त विभाग यह सुनिश्चित करे कि पेंशनरों को बार-बार कोषागार जाकर बेवजह परेशान न होना पड़े। नई व्यवस्था के माध्यम से पेंशनधारक अपने घर या फिर कामन सर्विस सेन्टर से जीवन प्रमाणपत्र पेश कर आसानी से पेंशन प्राप्त करते रहेंगे। सीएम योगी ने कहा कि इस संबंध में ऑनलाइन प्रक्रिया विकसित करते हुए इसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए।

https://www.youtube.com/watch?v=hvgCU7Fe6Uk

Next Story
Share it