Top

किसी भी किसान को परेशानी होने पर डीएम की जवाबदेही तय होगी

किसी भी किसान को परेशानी होने पर डीएम की जवाबदेही तय होगी

प्रदेश में एक सप्ताह में तीन लाख आवेदनों पर बांटें ऋ ण
एक नवंबर तक हर गांव में पहुंच जाए आयुष्मान भारत योजना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के आवेदन स्वीकृत करने में लापरवाही न बरती जाए। साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि धान क्रय केंद्रों पर आर्थिक गड़बड़ी होने या किसानों को परेशानी होने पर डीएम की जवाबदेही तय होगी। सीएम योगी ने निर्देश दिए कि एक सप्ताह में पांच लाख आवेदन स्वीकृत हों और कम से कम तीन लाख आवेदनों पर ऋण वितरित भी कर दिया जाए।
इसके लिए सभी जिले और नगर निकायों के लक्ष्य तय करने के लिए कहा है। मुख्यमंत्री ने अपने आवास पर वीसी के जरिए प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत), मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना और धान क्रय केंद्रों के संचालन की समीक्षा की। उन्होंने जिलाधिकारियों को प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के आवेदनों की संख्या, स्वीकृत आवेदनों की संख्या और स्वीकृत आवेदनों पर ऋण वितरण की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में वर्तमान में प्राप्त आवेदनों की संख्या 5.57 लाख, स्वीकृत आवेदनों की संख्या 2.83 लाख है। यह देश में सर्वाधिक है। स्वीकृत आवेदनों पर वितरित ऋण की संख्या 99000 है, जो देश में दूसरे स्थान पर है। अब मिशन मोड में काम करते हुए अगले एक सप्ताह में पांच लाख से अधिक आवेदन पत्रों को स्वीकृत कराकर उनके सापेक्ष कम से कम तीन लाख आवेदनों पर ऋण वितरण कराएं। इसके लिए जिलाधिकारी डिस्ट्रिक्ट लेवल बैंकर्स कमेटी की बैठक करें। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत) की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस योजना में भी उत्तरप्रदेश अग्रणी है। अभियान चलाकर आयुष्मान भारत और मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के गोल्डन कार्ड बनाए और बांटे जाएं। एक नवंबर, 2020 को प्रदेश का प्रत्येक गांव प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से संतृप्त हो जाए। जिलाधिकारी योजना की साप्ताहिक समीक्षा करें।

शहीद पुलिसकर्मियों के परिवार वालों को सम्मानित करेंगे सीएम
मुख्यमंत्री 21 अक्टूबर को पुलिस स्मृति दिवस पर रिजर्व पुलिस लाइंस लखनऊ में होने वाली शोक परेड में शामिल होंगे। वह कानपुर के बिकरू कांड में शहीद होने वाले सभी आठ पुलिसकर्मियों के परिवारों को सम्मानित करेंगे। साथ ही एक अन्य पुलिसकर्मी का परिवार सम्मानित किया जाएगा। पुलिस ने शोक परेड की तैयारियां शुरू कर दी हैं। डीजीपी एचसी अवस्थी ने पूर्वाभ्यास परेड का निरीक्षण भी किया। इससे पहले कोविड-19 की गाइडलाइंस का पालन करते हुए फुल ड्रेस रिहर्सल किया गया। पुलिस स्मृति दिवस पर इन सभी नौ पुलिसकर्मियों के परिवारों को सम्मानित किया जाएगा।

बैंकों से सहयोग की अपील
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विभिन्न बैंकों के मुख्य महाप्रबंधकों और महाप्रबंधकों से सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि हर जिले और नगर निकाय के लिए लक्ष्य निर्धारित किया जाए। बैंक भी हर ब्रांच लक्ष्य सौंपें। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 651 नगर निकाय हैं। 27 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी योजना के लाभार्थियों से संवाद करेंगे। यह संवाद कार्यक्रम सभी नगर निकायों में आयोजित किया जाए।

पीलीभीत की तरह चलें हर जिले के धान क्रय केंद्र
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने धान क्रय केंद्रों के संचालन की भी समीक्षा की। कहा कि प्रस्तावित सभी 4000 केंद्र चलने चाहिए। जिलाधिकारी आवश्यकतानुसार अतिरिक्त केंद्र शुरू कर सकते हैं। किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य के अनुरूप ही धान का मूल्य मिले। किसान को परेशानी होने या आर्थिक कदाचार की शिकायत पर जिलाधिकारी की जवाबदेही तय होगी। योगी ने पीलीभीत के केंद्रों की प्रशंसा करते हुए कहा कि पीलीभीत की तरह ही सभी जिलों में व्यवस्था करें।

https://www.youtube.com/watch?v=GKZf_3O9z2g

Next Story
Share it