Top

किसान के जख्मों पर नमक छिडक़ रही भाजपा सरकार: अखिलेश

किसान के जख्मों पर नमक छिडक़ रही भाजपा सरकार: अखिलेश

मंदी की चपेट में अर्थव्यवस्था प्रदेश में नहीं हुआ निवेश
खाद, बिजली और कीटनाशक हो गए महंगे

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार जश्नों की खुमारी में डूबी है जबकि बदहाल किसानों और बेरोजगार नौजवानों के घरों में अंधेरा है। इसी उपलब्धि का भाजपा नगाड़ा पीट रही है। 2020 में लगातार दूसरी तिमाही का विकास दर माइनस शून्य है। अर्थव्यवस्था मंदी की चपेट में है। प्रदेश में धेले का निवेश नहीं इसके लिए मुख्यमंत्री मुम्बई में उद्योगपतियों के सामने शरणं गच्छामि होंगे। लोकतंत्र का इससे बुरा उपहास और क्या होगा?
उन्होंने कहा कि कोई किसानों के जख्मों पर नमक छिडक़ना भाजपा से सीखे। न किसान का कर्ज माफ किया, न एमएसपी दी। गन्ना मूल्य भुगतान करने में हीलाहवाली की जा रही है। 2022 में किसान की आय दोगुनी होने की दूर-दूर तक संभावना नहीं है। किसान के उपयोग की खाद, बिजली, कीटनाशक सब महंगी है। मजबूरी में हजारों किसान आत्महत्या कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि आज किसान अपनी मांगों को लेकर आंदोलित हैं। सरकार ने साजिशन जो कृषि विधेयक पास किया है उससे किसान अपनी खेती पर स्वामित्व खो देंगे। उन्हें कारपोरेट खेती के लिए मजबूर किया जाएगा। भाजपा सरकार ने जानबूझकर इसीलिए एमएसपी का प्रावधान नहीं रखा है। किसानों को अपनी फसल बड़े व्यापरियों के हाथों बेचने की मजबूरी होगी। प्रधानमंत्री भूलें नहीं कि एक्सप्रेस-वे का उत्तर प्रदेश से परिचय समाजवादी सरकार ने ही कराया। आगरा-लखनऊ, एक्सप्रेस-वे पहली एक्सप्रेस-वे है जिसे समाजवादी पार्टी की सरकार ने बनाया था। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे भी सपा सरकार की देन है। राज्य भर में जनपदों को फोरलेन सडक़ों से जोडऩे की व्यवस्था भी समाजवादी सरकार में हुई थी। भाजपा सरकार के अब तक के कार्यकाल में प्रदेश के विकास का एक भी काम नहीं हुआ है। यह सरकार पूरी तरह विफल रही है। जनता भी इनकी जुमलेबाजी से भलीभांति परिचित हो गई है। कोई इनके भुलावे में आने वाला नहीं है।

खुले में सोने वालों के लिए रैन बसेरों की करें व्यवस्था: सीएम

आवश्यक सुविधाओं और सुरक्षा की व्यवस्था के दिए निर्देश
श्रमिकों के लिए अधिक से अधिक उत्पन्न करें रोजगार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कहा कि सभी जिलों में पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि शीत ऋतु में कोई भी व्यक्ति खुले में न सोए और यदि कोई ऐसा व्यक्ति दिखे तो उसे रैन बसेरों तक पहुंचाया जाए।
उन्होंने कहा कि सर्दी के मौसम में गरीबों और निराश्रितों को राहत पहुंचाने के लिए प्रदेश सरकार ने सभी जिलों में रैन बसेरों की व्यवस्था की है। रैन बसेरों में सभी आवश्यक सुविधाओं के साथ सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था सुनिश्चित की जाए और इनके संचालन में कोविड-19 से बचाव के सभी प्रबंध किए जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी विभाग अपने बजट का सदुपयोग करें और इस संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा नियमित समीक्षा की जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि बुंदेलखण्ड एवं विंध्य क्षेत्रों में क्रियान्वित की जा रहीं पेयजल योजनाओं को समय पर पूरा करने के लिए इनकी गहन निगरानी की जाए। पेयजल की बड़ी योजनाएं संचालित करने के लिए धनराशि की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि कामगारों की सामाजिक एवं आर्थिक सुरक्षा तथा उनके सर्वांगीण विकास के लिए राज्य सरकार ने उत्तर प्रदेश कामगार और श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजग़ार) आयोग गठित किया है। यह आयोग पूरी तरह सक्रिय रहकर श्रमिकों के लिए अधिक से अधिक सेवायोजन एवं रोजगार के अवसर सृजित कराए।

https://www.youtube.com/watch?v=z5gRpxmrsnE

Next Story
Share it