Top

किसानों को खेतिहर मजदूर बनाना चाहती है भाजपा सरकार: अखिलेश

किसानों को खेतिहर मजदूर बनाना चाहती है भाजपा सरकार: अखिलेश

खेत छीनने की लगातार की जा रही साजिश
किसानों को राहत देने में सरकार नाकाम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार अन्नदाता किसान के साथ कई तरह के छल-कपट करने की रणनीति बनाने में व्यस्त है। किसानों के खेत छीनने की मंशा के साथ प्रधानमंत्री ने अब उसे ‘उद्यमी‘ बनाने की ओर प्रयास करने की साजिश की ओर भी इशारा कर दिया है। इसका सीधा अर्थ है कि भाजपा सरकार अब किसानों को भी आयकर के दायरे में लाना चाहती है। किसान को अभी तक मिलने वाले लाभों को शीघ्र ही समाप्त कर दिया जाएगा। सपा की राय है कि किसान को अन्नदाता की श्रेणी में रहने दिया जाए लेकिन कृषि को उद्योगों जैसी सुविधाएं मिलनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि कृषि से संबंधित तीनों कानून किसानों के हितों के विरूद्ध है। इसके खिलाफ किसानों में व्यापक आक्रोश है। उसकी योजना अन्नदाता को खेतिहर मजदूर बना देने की है। किसान की खेती कारपोरेट को सौंप दी जाएगी। उसकी फसल का सौदा भी अब बड़े एजेंटों, व्यापारियों की मर्जी पर होगा। वास्तव में भाजपा सरकार किसानों के साथ सिर्फ छलावा करती आई हैं। किसानों की कर्जमाफी या उनकी आय दुगनी करने की बात हो अथवा उनकी फसल की लागत का डयोढ़ा मूल्य देने की भाजपा सरकार इनमें से एक भी वादा पूरा नहीं कर पाई है। इसके बजाय सरकार तरह-तरह के प्रपंच रचने में लगी है।
उन्होंने कहा कि किसान न केवल सबका पेट भरता है अपितु देश की सीमाओं के रक्षा के लिए अपने बेटे भी देता है। जीडीपी में वृद्धि और रोजगार की उपलब्धता भी कम ज्यादा किसान से जुड़ी है। लाकडाउन के दौर में अर्थव्यवस्था में जो भारी गिरावट आई है उसके उद्धार में भी कृषि क्षेत्र की महत्वपूर्ण भूमिका आंकी गई है। भाजपा सरकार किसान को राहत देने, उसका कर्जमाफ करने, उसकी सभी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) सुनिश्चित कराने, गन्ना किसानों का बकाया समय से दिलाने आदि के मामलों में तो पूरी तरह निष्क्रिय नजर आ रही है। जहां किसानों की जमीनों का अधिग्रहण हुआ वहां उन्हें समय से 6 गुना लाभप्रद मुआवजा भी नहीं मिला। भाजपा सरकार जनता को सिर्फ परेशान करना जानती है।

हंसिये से गला काटकर दोस्त की हत्या

आरोपी गिरफ्तार, आपसी विवाद बनी वजह

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
अलीगढ़। खैर के गांव जरारा में दो दोस्तों में मजाक-मजाक में विवाद इतना बढ़ गया कि एक ने दूसरे की हंसिये से गला काटकर हत्या कर दी। पुलिस ने देरशाम आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसने जुर्म कबूल लिया।
जरारा स्थित गोशाला में वैदिक ट्री एग्रो डेयरी प्राइवेट लिमिटेड है। यहां जरारा निवासी अजीत व प्रमोद काम करते थे। गुरुवार सुबह साढ़े पांच बजे प्रमोद परात में गोबर भर रहा था और अजीत गोबर की परात को दूर डाल रहा था। दोनों में मजाक-मजाक में किसी बात पर कहासुनी हो गई। प्रमोद ने पहले अजीत को परात फेंककर मारा, फिर हंसिया से मुंह, गर्दन व छाती पर कई प्रहार किए। लहूलुहान अजीत को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां से मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। यहां से प्राइवेट नर्सिंग होम में ले गए, जहां मौत हो गई। सीओ मोहसिन खान ने बताया कि मृतक के भाई विनोद ने प्रमोद पुत्र राकेश के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

https://www.youtube.com/watch?v=--tvc7O3lms

Next Story
Share it