Top

करवाचौथ: मेहंदी लगाने वालों की होगी कोरोना जांच

करवाचौथ: मेहंदी लगाने वालों की होगी कोरोना जांच

  • लिए गए रैंडम नमूने, कल भी लिए जाएंगे सैंपल
  • स्वास्थ्य विभाग की टीमें हुई सक्रिय

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। करवाचौथ के मद्देनजर मेंहदी लगाने वालों की कोरोना जांच कराई जाएगी। राजधानी के विभिन्न इलाकों से आज एंटीजेंन और आरटीपीसीआर जांच के लिए नमूने लिए गए। महिलाओं को संक्रमण से बचाने की दिशा में स्वास्थ्य विभाग ने अहम कदम उठाया है। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि करवा चौथ को लेकर महिलाएं बाजार में मेंहदी लगवाने आती हैं। उनके स्वास्थ्य की रक्षा करते हुए कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए मेंहदी लगाने वालों की जांच कराई जाएगी। इसी कड़ी में आज कई जगह नमूने लिए गए। कल भी सैंपल लिए जाएंगे। एंटीजेन जांच रिपोर्ट तुरंत मेंहदी लगाने वालों को मुहैया करा दी जाएगी। विभाग की कई टीमें बाजार में सक्रिय है।
सीएमओ प्रवक्ता योगेश रघुवंशी के मुताबिक 29 अक्टूबर से विशेष अभियान चल रहा है। इस अभियान में ज्यादा व्यक्तियों के संपर्क में रहने वाले लोगों की जांच कराई जा रही है। उन्होंने बताया कि ब्यूटी पॉर्लर वालों की जांच कराई जा चुकी है। अब फुटपाथ पर मेंहदी लगाने वालों की जांच कराई जाएगी। इंदिरानगर स्थित भूतनाथ, हजरतगंज, अमीनाबाद, गोमतीनगर, आशियाना, आलमबाग समेत दूसरे इलाकों में जांच के लिए टीमें लगाई गई हैं। उन्होंने बताया कि आज शॉपिंग मॉल के सुरक्षाकर्मियों और चार को वाहनों की दुकानों, इलेक्ट्रिक सामान बेचने वाली दुकानों में जाकर कोरोना नमूने लिए जाएंगे।

कोरोना ने बदला करवा चौथ का ट्रेंड

अन्य पर्व व त्यौहार की तरह कोरोना काल का प्रभाव करवा चौथ पर भी पड़ रहा है। सजने-संवरने से लेकर व्रत की खुशी घर में साझा की जाएगी। ऑनलाइन खरीदारी भी खूब की जा रही है। चौक के दुकानदार संदीप गुप्ता ने बताया कि परंपरागत साडिय़ों के अलावा डिजाइनदार साडिय़ां व सलवार सूट की भी ऑनलाइन मांग ज्यादा है। इस बार बाजार में डिजाइनदार पूजा की थाली और चलनी की खूब मांग है। कोरोना से बचने के लिए कई लोग करवा की ऑनलाइन खरीदारी भी कर रहे है।

आंगनबाड़ी केंद्र में छड़ी लेकर बच्चों को पहाड़ा पढ़ाने लगीं राज्यपाल

  • बनारस में आंगनबाड़ी केंद्रों का किया दौरा
  • आनंदीबेन के साथ मंत्री स्वातीसिंह भी मौजूद थी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। वाराणसी में आज सुबह राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का अलग ही रूप दिखाई दिया। यहां तीन दिन दौरे के दूसरे दिन सुबह सुबह राज्यपाल ने सेवापुरी के आंगनबाड़ी का दौरा किया। इस दौरान वहां मौजूद बच्चों को पढ़ाने लगीं। राज्यपाल ने एक छड़ी उठाई और आंगनबाड़ी केंद्र की दीवार पर लगी गिनती को वाले पोस्टर की तरफ इशारा करके बच्चों से उसके बारे में पूछना शुरू कर दिया। कई बच्चों ने तत्काल सही जवाब दे दिया तो कुछ नहीं बता पाए। इसके बाद राज्यपाल ने बच्चों को दुलारा और वहां मिलने वाली सुविधाओं के बारे में पूछा। राज्यपाल के साथ इस दौरान सूबे की मंत्री स्वाति सिंह भी रहीं।
राज्यपाल आनंदीबेन पटेल बुधवार तक यहां के कई आयोजन में भाग लेंगी। अपने दौरे के दूसरे दिन राज्यपाल देश के पहले आदर्श ब्लाक सेवापुरी के मटुका और अमिनी आंगनबाड़ी केंद्र पर पहुंचीं। मटुका में उन्होंने गर्भवती महिलाओं और बच्चों से मुलाकात की। आंगनबाड़ी केंद्र की व्यवस्था की जानकारी लीं।

बच्चों का ड्रॉप आउट एक फीसदी से कम रहे

नई शिक्षा नीति की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि इसमें छोटे बच्चों के लिए पर्यावरण, विज्ञान, कौशल विकास समेत कई अलग-अलग पाठ्यक्रम हैं। उन्होंने कहा कि बच्चों का गांवों में सामूहिक टूर और खेल कराएं, संस्कारों व संस्कृतियों से रूबरू कराएं। शैक्षिक कैलेंडर में नाश्ता व भोजन का भी प्रावधान करें। राज्यपाल ने कुपोषित बच्चों एवं टीवी संक्रमित बच्चों को गोद लेने और उन्हें स्वस्थ बनाने में हर वर्ग से आगे आने का आह्वान किया। राज्यपाल ने कहा कि बच्चों का ड्रॉप आउट एक फीसदी से कम रहे, यह भी सजगता रखें।

यूपी सरकार का पुतला फूंका

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अमौसी एयरपोर्ट का रखरखाव अडानी ग्रुप को दिए जाने के खिलाफ कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई ने देर रात एयरपोर्ट के बाहर प्रदर्शन किया। भाजपा सरकार और गौतम अडानी का पुतला फूंका। एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष मोहम्मद तारिक ने बताया कि हम अडानी ग्रुप को एयरपोर्ट सौंपने का विरोध करते हैं। इसलिए हमने कार्यकर्ताओं ने बीजेपी सरकार का पुतला फूंका है। गौरतलब है कि चौधरी चरण सिंह अंतरराष्टï्रीय एयरपोर्ट पर यात्री सुविधाओं का जिम्मा एक नवंबर से अडानी ग्रुप के हाथ में हो गया है।

मकान की छत गिरने से तीन की मौत, 10 घायल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी के संभल में हयातनगर थाना क्षेत्र में रात तीन बजे एक मकान की छत भरभरा कर गिर गई। घर के बरामदे में मौजूद स्वजन व रिश्तेदार मलबे के नीचे दब गए। छत गिरने की आवाज सुनकर पड़ोसी मौके पर पहुंंच गए। थोड़ी देर में पुलिस भी आ गई। मलबा हटा कर लोगों को बाहर निकाला गया लेकिन तब तक दो बच्चे समेत तीन लोगों की मौत हो चुकी थी, जबकि 10 से ज्यादा लोग घायल है।
पुलिस के अनुसार थाना क्षेत्र के मुहल्ला पीला खदाना निवासी मसीत के बेटे शकील की सोमवार को बरात रामपुर जनपद के थाना शाहबाद क्षेत्र के गांव हिम्मतपुर गई थी। जहां देर शाम को शकील दुल्हन सिमरन के साथ लौट आया। घर में चारों तरफ खुशी का माहौल था। सभी नाच गाकर खुशियां मना रहे थे। शकील मजदूरी करके परिवार का पालन पोषण करता है। इसके चलते उसका घर भी कच्चा था और छत बल्लियों की मदद से बनी हुई थी। सभी रिश्तेदार व स्वजन घर के बरामदे में एक साथ मौजूद थे। स्वजनों ने बताया कि देर रात तीन बजे अचानक बरामदे की छत भरभरा कर गिर पड़ी, जिससे वहा बरामदे में मौजूद स्वजन व रिश्तेदार मलबे के नीचे दब गए। शोर-शराबा सुनकर आस-पड़ोस के लोग दौड़े पुलिस को सूचना दी। पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और लोगों की मदद से मलबे को हटाकर घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा। यहां चिकित्सक ने शकील की बहन नईम जहां (35) पत्नी जमील निवासी गांव धर्मपुर थाना बिलारी, भांजे मोनिस (4) पुत्र अनीस गांव चितनपुर थाना बहजोई व ममेरी भतीजी आलिया (3) पुत्री उस्मान गांव चिमयावली थाना कोतवाली को मृत घोषित कर दिया।

https://www.youtube.com/watch?v=RPPknaEMIJU

Next Story
Share it