अस्पतालों में भर्ती मरीजों की मॉनिटरिंग के लिए लगातार राउंड पर रहें डॉक्टर: सीएम

अस्पतालों में भर्ती मरीजों की मॉनिटरिंग के लिए लगातार राउंड पर रहें डॉक्टर: सीएम

मुख्यमंत्री बोले- संक्रमितों व होम आइसोलेशन वालों से संवाद कर सहयोग किया जाए

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश के जिलाधिकारियों से खासे नाराज हैं। लखनऊ, कानपुर समेत 21 जिलों में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सीएम योगी ने वहां के जिलाधिकारियों को तलब कर लिया है। योगी ने इन जिलों के अधिकारियों से पूछा कि क्यों न आपके खिलाफ कार्रवाई शुरू करा दी जाए।
सभी जिलाधिकारियों से कहा गया है कि इंटीग्रेटेड कमांड सेंटर में सक्षम नोडल अधिकारियों तैनाती व उपस्थिति सुनिश्चित करें। योगी ने निर्देश दिए कि उनके नाम, मोबाइल नंबर व सेंटर के नंबर तीन दिन में उपलब्ध कराए जाएं। सभी इंटीग्रेटेड कमांड सेंटर में टेलीफोन दुरुस्त रहें। साथ ही कमांड सेंटर से कोविड-19 के मरीजों व होम आइसोलेशन वालों से संवाद कर सहयोग किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से प्रभावित लोगों को अस्पताल पहुंचाने के लिए फौरन एम्बुलेंस उपलब्ध हो। इसके लिए कमांड एंड कंट्रोल सेन्टर्स को प्रभावी बनाया जाए। उन्होंने कंट्रोल सेन्टर्स के प्रभावी होने पर मरीज को समय पर इलाज उपलब्ध हो सकेगा।

इन जिलों में कड़ी कार्रवाई के आसार

बांदा, भदोही, बिजनौर, बदायूं, एटा, फर्रुखाबाद, गोंडा, जालौन, जौनपुर, रायबरेली, संभल, शामली, श्रावस्ती, महाराजगंज, महोबा, मैनपुरी, प्रतापगढ़, बागपत व हरदोई के डीएम से कहा गया है कि कमांड सेंटर में नोडल अधिकारी गायब रहे। जिन्होंने फोन उठाया वह कुछ बताने में असमर्थ रहे। मुख्यमंत्री ने इस संबंध में नोडल अधिकारी से स्पष्टीकरण लेकर अपनी संस्तुति व कार्रवाई का प्रस्ताव तीन दिन में भेंजे।

आईसीयू के बेडों की संख्या दोगुनी की जाए

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेज में आईसीयू के बेडों की संख्या दोगुनी कर ली जाए। स्वास्थ्य विभाग अपने सभी जिला अस्पतालों में आईसीयू के बेडों की संख्या बढ़ाए । हर जिले में एल-2 तथा एल-3 के कोविड बेडों की संख्या बढ़ाई जाए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संबंध में लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, बरेली, गोरखपुर, झांसी, वाराणसी में विशेष सतर्कता बरती जाए। कोविड-19 संक्रमण के सम्बन्ध में ज्यादा से ज्यादा टेस्ट किए जाएं। मुख्यमंत्री ने एक उच्च स्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों की स्थिति की मॉनिटरिंग के लिए सीनियर डॉक्टर लगातार राउण्ड पर रहें। इसके अलावा कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग प्रभावी ढंग से की जाए।

https://www.youtube.com/watch?v=YtIfhzbJrco

Next Story
Share it