Top

अब महिला पुलिसकर्मियों को मिलेगी आधुनिक सुविधाओं से लैस बैरक

प्रदेश के 44 जिलों में शुरू हुआ निर्माण कार्य, कुल 155 भवनों को मंजूरी
29 फायर स्टेशनों, 17 थाने व 7 पुलिस चौकियों में भी बनेंगे भवन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अब महिला पुलिसकर्मियों को आधुनिक सुविधाओं से लैस बैरक मिलेगी। प्रदेश सरकार ने इसके लिए 44 जिलों में नए बैरक बनवा रही है। पुलिस आवास निगम द्वारा 155 आवासीय एवं अनावासीय भवनों का निर्माण किया जा रहा है। पुलिस आवास निगम द्वारा लगभग एक हजार करोड़ की लागत से ये निर्माण कार्य किए जा रहे हैं।
एडीजी पुलिस आवास निगम हरी राम शर्मा ने बताया कि प्रदेश के 44 जिलों में 44 बैरकों के साथ ही 155 निर्माण कार्य किये जा रहे हैं। जिसमें 29 फायर स्टेशनों,17 थानों व 7 पुलिस चौकियों के साथ आवासीय एवं अनावासीय भवन हैं। शासन द्वारा महिला पुलिस कर्मियों के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर आवासीय व्यवस्था किये जाने लिए आवास निगम को 1,00,647 लाख रूपये की धनराशि मंजूर की गयी है, जिसमें से अब तक 15,761 लाख रूपये की राशि मिल चुकी है। पुलिस आवास निगम द्वारा अब तक 7,105 लाख से अधिक की धनराशि निर्माण कार्यों पर व्यय की जा चुकी है। इन बैरकों के निर्माण से महिला पुलिसकर्मियों को तमाम असुविधाओं से मुक्ति मिल जाएगी। वर्तमान वित्तीय वर्ष में निर्माण कार्यों में अपेक्षित प्रगति अप्रैल, मई में कोरोना के कारण प्रभावित हुई, जिसकी पूर्ति के लि प्रयास किये जा रहे हैं।

रेन वाटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था भी

पुलिस आवास निगम द्वारा लोक निर्माण विभाग के साथ मिलकर आधुनिक भवनों का निर्माण किया जा रहा है। इन भवनों में वर्षा जल को संग्रहित करने की भी व्यवस्था की गई है।

इन जिलों में बन रही बैरक

हमीरपुर, मुजफ्फरनगर, लखनऊ, रामपुर, हाथरस, उन्नाव, मऊ, फिरोजाबाद, बरेली, मेरठ, गोरखपुर, मैनपुरी, कानपुर देहात, एटा, आगरा, अलीगढ़, बदायूं , मथुरा, पीलीभीत, अयोध्या, बिजनौर, गौतमबुद्धनगर, ललितपुर, जालौन व फतेहगढ़ हैं । इसके अलावा कानपुर देहात, उन्नाव, रायबरेली, बाराबंकी, सीतापुर, मुरादाबाद, बिजनौर में पुरुषों के लिए पुलिस लाइन्स में बैरक निर्माण कार्य किया जा रहा है। पुलिस आवास निगम द्वारा थाना गैड़ास बुजुर्ग (बलरामपुर), थाना नैमिषारण्य , कोतवाली देहात (सीतापुर) में अनावासीय भवन , बेल्हर कला (संतकबीरनगर) में आवासीय/अनावासीय भवन तथा थाना साड (कानपुर नगर) सहित चौकी अमृतपुर (फरूखाबाद), चौकी अमीनगर सराय (बागपत) में भी आवासीय भवनों का निर्माण कराया जायेगा। चौकी सैंदर (बाराबंकी) में, चौकी मथुरा बाजार (बलरामपुर), चौकी मछली गांव बाजार (गोंडा) व चौकी अमीनगर सराय (बागपत) में अनावासीय भवनों का निर्माण किया जा रहा है।

घाटे से उबरा पुलिस आवास निगम

पुलिस आवास निगम के अपर पुलिस महानिदेशक हरी राम शर्मा ने बताया कि वर्ष 2017-18 में पुलिस आवास निगम 11 करोड़ तथा 2018-19 में 8 करोड़ के घाटे में चल रहा था। वर्ष 2019-20 के अगस्त माह से यह निगम लाभ की ओर अग्रसर हुआ है। वर्तमान में घाटे की बजाय 1 करोड़ के लाभ में पहुंच गया है। उत्तर प्रदेश पुलिस आवास निगम की आठ निर्माण इकाइयां क्रमश: मेरठ, आगरा, कानपुर, लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर और गोंडा में स्थित हैं।

https://www.youtube.com/watch?v=umeI8x-hUFw

Next Story
Share it