मेहनत से ही लिखी जाती है तकदीर: सर्वेश गोयल...

अगर परिवार में बड़े स्तर का व्यापार होता है तो आमतौर पर बच्चे भी उसी व्यापार में शामिल हो जाते हैं मगर सर्वेश गोयल ने जब अपने परिवार की कई पीढिय़ों से चल रहे व्यापार को छोडक़र दस साल पहले जंगल जैसे इला...

बढ़ते अपराध और लचर पुलिस तंत्र...

सवाल यह है कि ताबड़तोड़ एनकाउंटर के बावजूद प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद क्यों हैं? क्या बदमाशों के ऊपर खाकी का खौफ खत्म हो गया है? क्या पुलिस की लापरवाह कार्य प्रणाली के कारण अपराधों के ग्राफ ...

हर बार बाढ़ से हाहाकार क्यों?...

सवाल यह है कि हर साल बारिश के समय देश में बाढ़ से हाहाकार क्यों मचता है? क्या इससे निपटने के लिए सरकार के पास कोई ठोस योजना नहीं है? क्या हर साल होने वाले जन-धन के नुकसान को रोका नहीं जा सकता है? क्य...

बुलंद हौसलों की उड़ान के पंख...

ललित गर्ग स्वतंत्रता दिवस के मौके पर ऐतिहासिक लाल किले की प्राचीर से देश के नाम अपने छठे संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भावी भारत की तस्वीर को बड़े बदलावों एवं बुलन्द इरादों के साथ प्रस्तुति...

भारत के सच की जीत

 नीरज कुमार दुबे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद यानि यूएनएससी ने बंद कमरे में जो चर्चा की उसमें भी पाकिस्तान के हाथ कुछ नहीं लगा क्योंकि पूरी दुनिया जानती है कि पाकिस्तान सिर्फ और सिर्फ झूठ बोलता है औ...