क्या होगा जब गुंडे होंगे मंत्री…...

गोंडा में जिस प्रकार माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री ने ढाई मिनट में 56 गालियां दीं उसने साबित कर दिया कि दरअसल हम सबका भाग्य किन लोगों के हाथों में है। यह गालियां 19 साल के एक नौजवान को नहीं दी गईं बल्...

क्या सच में कुएं में घुल गई है भांग…...

जाहिर है यह भ्रष्टïचारियों को बचाने की सरकारी रणनीति का एक बड़ा उदाहरण था। सरकार किस तरह बेइमानों को बचाती है, बदायूं घूसकांड इसका जीता जागता उदाहरण है। सीएम के सामने हमेशा स्वास्थ्य मंत्री अपनी ईमान...

मोदी की रैली और किसानों का दर्द…...

उत्तर प्रदेश में भी बड़ी संख्या में किसानों ने आत्महत्या की है। ओलावृष्टिï और बेमौसम की बरसात ने किसानों को तबाह कर दिया है। किसान आंखों में आंसू भर के प्रधानमंत्री की तरफ देख रहे हैं और प्रधानमंत्री...

समाजवादियों की सरकार में पूंजीवादियों की जय जयकार…...

पैसे के आगे सब कुछ बौना हो जाता है। सभी को लगने लगता है कि पूंजी ही असली सत्य है बाकी सब बेमानी है। सबकी दौड़ पूंजी हासिल करने में लग जाती है। कोई यह नहीं सोचना चाहता कि पूंजी किस तरह हासिल हुई. &nbs...
SANJAY SHARMA - EDITOR

कैसे निपटा जाये इन खाकी वर्दी वाले गुंडो से...

सरकार बेहतर तभी मानी जाती है जब आम आदमी राहत महसूस करे और यह माने कि उसके साथ न्याय हुआ है। अगर आम आदमी की उपेक्षा की जायेगी। उसे पुलिस की गुंडागर्दी का सामना करना पड़ेगा तो स्वाभाविक रूप से उसका तन्...