रूस-भारत के बीच हुए समझौतों के निहितार्थ...

सवाल यह है कि क्या ये समझौते दोनों देशों के रिश्तों की मजबूती का प्रतीक हैं? क्या इससे भारत के रक्षा, ऊर्जा और अंतरिक्ष क्षेत्र के विकास पर असर पड़ेगा? क्या इन समझौतों का भारत और अमेरिका के संबंधों प...

जनतंत्र और ज्ञान परंपरा

मनींद्र नाथ ठाकुर हाल के दिनों में यह बात लगभग साफ हो गयी है कि दुनियाभर में जनतंत्र और पूंजीवाद के बीच का रिश्ता बदलता जा रहा है। पूंजीवाद ने अपने प्रारंभिक दिनों में जनतंत्र की लड़ाई लड़ी थी। फ्रां...

बैंकों के एकीकरण से फायदे

सतीश सिंह मोदी सरकार ने 10 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के विलय की घोषणा कर दी है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के अनुसार, अगले पांच सालों में पांच लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए...

विकास की गति तेज करनी होगी

 आकार पटेल इस वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में भारत का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) केवल पांच प्रतिशत की दर से बढ़ा, जो पिछले छह वर्षों में न्यूनतम है। मेक इन इंडिया मुहिम के सिरमौर मैन्युफैक्चरिंग (विनिर्...

कितनी मंदी और कितनी चिंता?

 डॉ. अश्वनी महाजन केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने बीते 30 अगस्त 2019 को अप्रैल से जून की तिमाही के लिए जीडीपी ग्रोथ के आंकड़े प्रकाशित किये हैं, जिनके अनुसार इस तिमाही में पिछले छह सालों में सबसे कम ज...