स्कूली वाहन, असुरक्षित बच्चे और प्रबंधतंत्र...

सवाल यह है कि क्या वैन या अन्य वाहनों से रोजाना स्कूल जाने वाले बच्चों का जीवन सुरक्षित है? क्या निजी स्कूलों का प्रबंधतंत्र बच्चों की सुरक्षा को लेकर गंभीर नहीं है? क्या इन स्कूली वाहनों में तैनात ड...

कर्मियों को नहीं मिल रहा पीएफ का पैसा करोड़ों रुपए दबाए बैठीं कार्यदाय...

नगर आयुक्त तक पहुंचा मामला, 3600 कर्मचारी हो रहे प्रभावित कर्मचारी संघ ने ब्यौरा सार्वजनिक करने की मांग की 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क लखनऊ। नगर निगम में कार्यदायी संस्थाओं के माध्यम से तैनात कर्मचारियों की...

असुरक्षित पटाखा व्यवसाय और हादसे...

दरअसल पटाखे रखने और बनाने के लाइसेंस तो सरकार जारी कर देती है किंतु यह जानने की जरूरत नहीं समझी जाती कि पटाखे बनाने का काम करने वाले कितने प्रशिक्षित हैं? गलतियां और लापरवाही भयंकर हादसे का सबब बनती ...

तो फिर किसने की आरुषि की हत्या...

नौ साल के बाद भी सवाल वही है कि आरुषि और हेमराज की हत्या किसने की? पुलिस, सीबीआई और अदालत मिलकर भी इस मर्डर मिस्ट्री को नहीं सुलझा सके। यह ऑनर किलिंग थी या फिर किसी अन्य के अवैध संबंधों में बाधक बनने...

आखिर क्यों पैदा होती हैं यह स्थितियां...

कोल इंडिया का लगभग 911 करोड़ रुपया उत्तर प्रदेश विद्युत उत्पादन निगम पर बकाया है। बकाया धनराशि की वजह से एक तो पहले ही कोल इंडिया कम मात्रा में कोयला दे रहा है जिसके कारण राज्य विद्युत उत्पादन निगम क...