सीएम योगी ने शुरू की श्रमिक भरण पोषण योजना, मजदूरों के खातों में भेजी धनराशि

  • 5.97 लाख दिहाड़ी मजदूरों को एक हजार रुपये की पहली किस्त जारी
    लॉकडाउन को देखते हुए सरकार ने की पहल, अन्य को भी किया जाएगा चिन्हित

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को ‘नर से नारायण सेवा’ के तहत श्रमिक भरण पोषण योजना की शुरुआत की। कोरोना के प्रकोप को देखते हुए प्रदेश के करीब 5.97 लाख दिहाड़ी मजदूरों को 1000 रुपये की पहली किस्त डीबीटी के जरिए उनके अकाउंट में भेज दी गई। सीएम ने एक श्रमिक को प्रतीकात्मक तौर पर 1000 रुपये का चेक भी दिया। श्रम विभाग में 20.37 लाख मजदूर पंजीकृत हैं। बचे हुए लोगों को भी जल्द ही सहायता राशि भेजी जाएगी।
सीएम ने अपने सरकारी आवास पर धनराशि हस्तांतरित करने के बाद कहा कि रेहड़ी, ठेला, खोमचा, रिक्शा, ई-रिक्शा चालक और पल्लेदारों को भी एक हजार रुपये दिए जाएंगे। इसके लिए नगर विकास विभाग को कार्रवाई के लिए अधिकृत कर दिया गया है। सीएम ने कहा कि कोरोना के चलते सोशल डिस्टेंस बनाने और होम क्वारंटीन के कारण लोगों का रोजगार प्रभावित हुआ है। इसके चलते यह व्यवस्था की जा रही है। सीएम ने कहा कि ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में जो इस सुविधा से वंचित रह गए हैं और किसी भी योजना से आच्छादित नहीं हैं व जिनके आय के स्रोत बंद हो गए हैं, उन्हें चिह्नित कर जिला स्तर पर 1000 की सहायता राशि उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए डीएम को निर्देशित कर दिया गया है।
इस मौके पर श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी आदि उपस्थित रहे। मुख्यमंत्री ने श्रम विभाग और इलाहाबाद बैंक के महाप्रबंधक व कर्मचारियों को भरण-पोषण भत्ता तत्काल जारी करने व खातों में पहुंचाने के लिए सराहना की।

राशन देने की कार्रवाई भी होगी तेज

सीएम ने कहा कि अंत्योदय राशन कार्ड धारक, निराश्रित वृद्धा अवस्था पेंशन, दिव्यांगजन पेंशन, निर्माण श्रमिक और प्रतिदिन कमाने वाले श्रमिकों को जल्द ही नि:शुल्क राशन के तहत 20 किलो गेहूं व 15 किलो चावल वितरित किया जाएगा।

https://www.youtube.com/watch?v=smTtNPIIInw

Loading...
Pin It