ओमेक्स के निदेशक मुकेश का नया ड्रामा गिरफ्तारी से बचने के लिए मामूली कर्मचारी को बनाया निदेशक

  • भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति को धता बताकर आरोपी को बचाने में जुटी पुलिस

मुजाहिद जैदी
लखनऊ। नहर को बंद करके ओमेक्स के लिए सडक़ बनवाने के मामले में जल शक्ति मंत्री महेन्द्र सिंह के कड़े तेवर भी अब पुलिस की चालबाजी के आगे फीके पड़ते नजर आ रहे हैं। करोड़ों की डील के बाद पुलिस ही ओमेक्स के फरार निदेशक मुकेश कुमार को बचने के रास्ते सुझा रही है। इसी क्रम में ओमेक्स के मामूली सुरक्षाकर्मी मनोज तिवारी को ही कंपनी का निदेशक बना दिया गया। पहले गैर जमानती वारंट हासिल करने वाली पुलिस अब उसी मुकेश को बचाने में जुटी है। हैरानी की बात है कि नहर पाट कर सडक़ बनवाने का मामला यूपी के सबसे ताकतवर मंत्री से जुड़ा है फिर भी पुलिस अभियुक्तों को गिरफ्तार नहीं कर रही है।
लखनऊ के पश्चिम कल्ली में नहर पाटने को लेकर शुरू हुआ यह मामला अब राजनैतिक और नौकरशाही खेमे में चर्चा का विषय बना हुआ है। जल शक्ति मंत्री के निर्देश पर दर्ज हुई इस एफआईआर में भी पुलिस के मामूली अधिकारी खेल कर लेंगे इसका अंदाजा किसी को नहीं था। मगर एफआईआर दर्ज होने के बाद जिस तरह ओमेक्स ने पैसा पानी की तरह बहाया उसने जल शक्ति मंत्री के निर्देशों को भी हवा में उड़ा दिया।
दरअसल, मुकेश कुमार ओमेक्स की यूपी लाइफ लाइन है। यूपी के दर्जनों छोटे से बड़े अफसरों की काली कमाई को मुकेश ने ही ओमेक्स में निवेश करा रखा है, ऐसी सामान्य चर्चा है। मुकेश की जिंदगी भी किसी राजा से कम नहीं लगती। निदेशक के रूप में लखनऊ प्रवास के दौरान सालों से मुकेश ने कोई फ्लैट नहीं लिया था। वो लगातार फाइव स्टार होटलों में रुकता था और यहां कई बड़े अफसरों की दावतें करके उनके निवेश की प्लानिंग करता था।
अब देखना यह है कि भ्रष्टाचार के विरुद्घ जीरो टॉलरेंस का दावा करने वाली योगी सरकार की पुलिस मुकेश तक पहुंच पाती है या अपने पैसों के दम पर मुकेश्

ओमेक्स की सैकड़ों बोगस कंपनियों की भी चर्चा

इस पूरे घटनाक्रम में एक और बड़ा सनसनीखेज खुलासा सामने आया है। मुकेश कुमार के बारे में बताया जाता है कि वो दो दर्जन से अधिक बोगस कंपनियों का निदेशक था। इन कंपनियों में जो अफसर ओमेक्स में पैसा लगाते थे उनके परिजनों को शामिल कर लिया जाता था और निवेश की गयी रकम का ब्याज इन्हीं कंपनियों से ब्याज के रूप में मिलता रहता था।

भाजपा के बड़े नताओं के साथ फ ोटो लगाकर रौब गांठता था मुकेश

पुलिस जब मुकेश की तलाश में ओमेक्स गयी तो उसका दफ्तर देखकर भौचक्की रह गयी। पूरे दफ्तर में मुकेश ने सीएम, डिप्टी सीएम एवं अन्य बड़े नेताओं के साथ खीची गई अपनी बड़ी-बड़ी फोटो लगा रखी थी। इन्हीं फोटोज को देखकर निवेश करने वाले लोग भौचक्का हो जाते थे और मुकेश के मायाजाल में आसानी से उलझ जाते थे।

राम भक्तों पर गोलियां चलाने वाले राम राज्य को क्या समझेंगे: योगी

  • कहा, अयोध्या, बनारस और गोरखपुर में ब्लास्ट करने वाले लोगों के मददगार बेनकाब

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम राज्य की अवधारणा को लेकर उठते सवालों पर विपक्ष को करारा जबाव दिया है। उन्होंने आज सदन में कहा कि ऐसे लोग समझ ही नहीं सकते की राम राज्य क्या होता है,जिन लोगों ने राम भक्तों पर गोलियां चलवाई थी। ऐसे लोगों की हरकतों पर आज सुप्रीम कोर्ट ने भी अपनी मुहर लगा दी है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन लोगों ने राम भक्तों पर गोलियां चलवाईं। अयोध्या और बनारस और गोरखपुर समेत कई जगह होने वाले ब्लास्ट के आरोपियो की मदद की थी। उनके चेहरे बेनकाब हो चुके हैं। वहीं सपा से नेता विरोधी दल राम गोविंद चौधरी ने लोक सेवा आयोग में आरक्षण खत्म किए जाने के मामले को सदन में उठाया। उन्होंने कहा कि आरक्षण को लेकर सपा ने सदन में नियम 56 के तहत मामला उठाया था, जिस पर सरकार की तरफ से उचित जवाब नहीं आया। इसलिए समाजवादी पार्टी ने सदन का बर्हिगमन किया। यह भी कहा कि मोहन भागवत पहले ही कह चुके हैं कि देश से आरक्षण समाप्त होना चाहिए उसी की तर्ज पर उत्तर प्रदेश सरकार चल रही है।

राम मंदिर ट्रस्ट में पदेन सदस्य बने अवनीश अवस्थी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार गठित राम मंदिर ट्रस्ट में अधिकारों को लेकर आंशिक बदलाव किया गया है। इसमें भारत सरकार से अनुमोदन मिलने के बाद ट्रस्ट के बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज में यूपी सरकार के प्रतिनिधि के रूप में अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव गृह विभाग और अनुज कुमार झा जिलाधिकारी अयोध्या को ट्रस्ट में पदेन सदस्य के रूप में नामित किया गया है।
भारत सरकार के निर्णयों के संबंध में विशेष कार्याधिकारी अशोक कुमार सिंह ने जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यदि जिलाधिकारी अयोध्या हिंदू धर्म को मानने वाले न हों तो उनके स्थान पर अपर जिलाधिकारी अयोध्या जो हिंदू धर्म को मानने वाले हों पदेन सदस्य होंगे।

मनोज तिवारी, रविकिशन, निरहुआ चार दिन तक मचायेंगे लखनऊ में धूम पहली बार हो रहा इस तरह का मैच

  • ईकाना स्टेडियम में भोजपुरी इंडस्ट्री प्रीमियर लीग के चौथे संस्करण का आयोजन

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। भोजपुरी सिनेमा के स्टार मनोज तिवारी, रविकिशन, निरहुआ समेत 50 से अधिक कलाकार लखनऊ में मौजूद हैं। ये सभी राजधानी की अटल बिहारी वाजयेपी ईकाना स्टेडियम में कल से भोजपुरी इंडस्ट्री प्रीमियर लीग के चौथे संस्करण में अपनी-अपनी टीमों के साथ क्रिकेट की पिच पर जोर-आजमाइश करेंगे। इसके लिए भोजपुरी अभिनेता पिच पर जमकर पसीना बहा रहे हैं।
भोजपुरी कलाकार प्रवेश लाल यादव ने बताया कि प्रारंभ में रवि किशन इलेवन, मनोज तिवारी इलेवन, निरहुआ इलेवन और प्रवेश लाल इलेवन टीमें बनाई गई थीं। इसमें जब पहला मैच खेला गया तो उसमें रवि किशन की टीम चैम्पियन रही। इसके बाद हमने क्रिकेट मैच को बड़े स्तर पर ले जाने और खेलने का निर्णय लिया। इस लीग के सीजन तीन का मैच दमन में खेला गया था। अब भोजपुरी इंडस्ट्री प्रीमियर लीग का चौथा संस्करण लखनऊ के ईकाना स्टेडियम में खेला जाएगा। इस बार प्रीमियर लीग में मनोज तिवारी की टीम भोजपुरी टाइगर, दिनेश लाल यादव की टीम भोजपुरी जवान, रवि किशन की टीम भोजपुरी योद्घा और पवन सिंह की टीम भोजपुरी सुल्तान के बीच क्रिकेट मैच खेला जाएगा। ये चारों टीमें बहुत मजबूत हैं। इसमें भोजपुरी इंडस्ट्री से जुड़े सभी कलाकार खेलते हैं।

https://www.youtube.com/watch?v=QB-DLNUL5Bo

Loading...
Pin It