विंग्स ऑफ फायर बार बना अय्याशी का अड्डा, बार बालाएं कर रहीं अश्लील डांस

  • शाम होते ही सज जाती है महफिल, पुलिस-प्रशासन बेखबर
  • नियमों को ठेंगा दिखा कर परोसी जा रही शराब और अश्लीलता

 

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अपनी तहजीब के लिए पूरे देश में जाना जाने वाले लखनऊ में अय्याशी के तमाम अड्डे बन गए हैं। यहां शाम होते ही महफिल सज जाती हैं। तेज आवाज में साउंड सिस्टम की धुन पर बार-बालाओं का अश्लील डांस और छलकते जाम शहर की तहजीब को बिगाड़ रहे हैं।
ताजा मामला शहर के किसी दूर दराज के इलाके का नहीं बल्कि शहर के बीचोंबीच हजरतगंज के संचालित विंग्स ऑफ फायर बार का है। यहां शाम होते ही शराब, ड्रग्स, विदेशी लड़कियां, रंगीनियां, म्यूजिक और डांस वाली पार्टिंया शुरू हो जाती हैं। इन पार्टियों में लोग न सिर्फ नशे में डूबते हैं बल्कि यहां ग्लैमर का भी पूरा इंतजाम होता है। बशर्ते जेब भरी होनी चाहिए। इन पार्टियों के संचालन के पीछे शहर के हाई प्रोफाइल लोग के जुड़ी सूचनाएं भी मिल रही हैं। यही कारण है कि विंग्स ऑफ फायर बार बिना फायर की एनओसी के चल रहा है। शहर के बीच में इतने बड़े अय्याशी के अड्डे पर न तो पुलिस की नजर जा रही है न ही सरकार की। ऐसे में सवाल यह उठता है कि नाका होटल जैसी अग्निकांड की घटना की पुनरावृत्ति होती है तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। हालांकि शिकायत मिलने के बाद प्रमुख सचिव आबकारी ने जांच के आदेश दिए हैं।

धड़ल्ले से खुल रहे बार

शहर के हजरतगंज ही नहीं बल्कि गोमती नगर जैसे पॉश इलाके में बने आवासीय मकानों में भी बार खुलने लगे हैं। यहां एलडीए के अभिंयताओं की मिलीभगत से आवासीय क्षेत्र व्यावसायिक में परिवर्तित हो चुके हैं। इनमें से अधिकतर ऐसे हैं जिनमें न तो फायर की एनओसी है न लिकर का लाइसेंस।

जयशंकर प्रसाद पुरस्कार से नवाजे जाएंगे विश्वभूषण मिश्र

  • लखनऊ में एडीएम टीजी पद पर तैनात हैं विश्वभूषण

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अपनी बेहतरीन प्रशासनिक कार्यप्रणाली के साथ-साथ साहित्य से गहरा नाता रखने वाले 2012 बैच के पीसीएस अफसर विश्वभूषण मिश्र को राज्य कर्मचारी साहित्य संस्थान सम्मानित करेगा। आगामी 15 मार्च को वर्ष 2019-20 का जयशंकर प्रसाद पुरस्कार श्री मिश्र को दिए जाने की घोषणा की गई है।
पुरस्कार के साथ ही उन्हें सम्मान के रूप में धनराशि भी मिलेगी। बता दें कि मौजूदा समय में विश्वभूषण मिश्र लखनऊ जिला प्रशासन में एडीएम टीजी के पद पर तैनात हैं।

कांग्रेस नेता उदित राज के विवादित बोल 2024 में फिर हो सकता है पुलवामा जैसा हमला

  • शहीद की जाति और वर्ग का हवाला देकर साधा निशाना

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। पुलवामा हमले को लेकर राहुल गांधी के बयान के बाद कांग्रेस पार्टी के नेता उदित राज ने विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि 2024 में चुनाव से पहले और पुलवामा अटैक हो सकता है।
उन्होंने यह भी आशंका जताई कि सत्ता में बने रहने के लिए मोदी सरकार ने 40 जवानों की जान का सौदा किया। उदित राज केंद्र पर निशाना साधते हुए शहीदों की जाति और वर्ग का भी हवाला दे दिया। उन्होंने कहा कि अगले लोकसभा चुनाव से पहले भी पुलवामा जैसा कोई नृशंस हमला हो सकता है। पुलवामा में उन्होंने सरकार का हाथ बताते हुए ट्वीट किया, जो लोग सत्ता पाने के लिए गुजरात में नरसंहार करवा सकते हैं, वो सत्ता बनाए रखने के लिए 40 जवानों की जान का सौदा भी कर सकते हैं। इनके लिए देशभक्ति और राष्ट्रवाद जनता को भरमाने का एक टूल भर है। उदित राज ने कहा, सोशल मीडिया पर राष्ट्रवाद का प्रचार करने वाले लोग अक्सर उच्च जाति के होते हैं और जिन सैनिकों ने मुख्य रूप से हमले में अपनी जान गंवाई वे एससी-एसटी और पिछड़े वर्ग से आते हैं।

मध्य प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष बने सांसद विष्णु दत्त शर्मा

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आज तीन राज्यों के प्रदेश अध्यक्ष के नामों का ऐलान किया।
जेपी नड्डा ने दल बहादुर चौहान को सिक्किम का प्रदेश अध्यक्ष बनाया। वहीं सांसद विष्णु दत्त शर्मा को मध्य प्रदेश के पार्टी अध्यक्ष पद की कमान सौंपी और के. सुरेन्द्रन को केरल का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया। सभी को नामित अध्यक्षों को पार्टी के पदाधिकारियों ने बधाई दी है।

इमरान प्रतापगढ़ी को भेजा 1 करोड़ 4 लाख का नोटिस

  • कांग्रेस नेता पर धारा 144 के उल्लंघन का आरोप

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
मुरादाबाद। मुरादाबाद जिला प्रशासन ने कांग्रेस नेता इमरान प्रतापगढ़ी को धारा 144 के उल्लंघन के आरोप में 1 करोड़ 4 लाख 8 हजार का नोटिस भेजा है। इमरान पर नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में लोगों को भडक़ाने और प्रशासन द्वारा एहतियातन लगाई गई धारा 144 के उल्लंघन का आरोप है।
इमरान प्रतापगढ़ी ने हाल ही में ईदगाह इलाके में एक सभा को संबोधित किया, जबकि प्रशासन की तरफ से इसकी इजाजत नहीं दी गई थी। इमरान ने भीड़ को संबोधित करते हुए कहा, हमारी आंखों के सामने पिछले कुछ दिनों में ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं, जिनको देखकर मन में सवाल आता है कि हमारा देश किधर जा रहा है। हमारी बेटियों और बहनों पर पुलिस लगातार अत्याचार कर रही है। नोटिस के सवाल पर उन्होंने कहा कि देशभर में जितने आंदोलन चल रहे हैं, सरकार मुझे उसका जिम्मेदार मानती है तो मुझे खुशी है। मैं आगे भी ऐसे सभी आंदोलनों में हिस्सा लेता रहूंगा।

तिरंगे के अपमान पर अखिल भारत हिंदू महासभा का प्रदर्शन, कार्रवाई की मांग

  • आयुक्त केंद्रीय वस्तु एवं सेवाकर को सौंपा ज्ञापन नोटिस जारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ के सेन्ट्रल जीएसटी विभाग में कार्यरत अभिजीत श्रीवास्तव, अभय चौरसिया, अखिल सोनी, प्रशांत श्रीवास्तव और समीर पांडेय समेत छ लोगों ने गणतन्त्र दिवस के मौके पर झंडे का अपमान किया। साथ ही इन लोगों ने विभाग की तरफ से दी गई वर्दी भी नहीं पहनी। इस मामले पर हिंदू सभा ने शुक्रवार को प्रदर्शन कर प्रिंसिपल कमिश्नर को ज्ञापन सौंपा। इसके बाद सभी को कारण बताओ नोटिस जारी की गई है।
लखनऊ में अखिल भारत हिन्दू महासभा के लोगों ने अलीगंज स्थित केंद्रीय भवन के बाहर शुक्रवार को प्रदर्शन किया। अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्टï्रीय प्रवक्ता शिशिर चतुर्वेदी ने कहा कि आयुक्त केंद्रीय वस्तु एवं सेवाकर,केंद्रीय उत्पाद शुल्क विभाग को दिए ज्ञापन में कहा गया है कि विभाग के कुछ कर्मचारी राष्ट्रीय पर्वो पर अपने विभाग की वर्दी नहीं पहनते हैं और तिरंगे का अपमान करते हैं। उन्होंने मामले की जांच कराए जाने और दोषी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है। इसके बाद जीएसटी के प्रिंसिपल कमिश्नर महेन्द्र रंगा ने इनको कारण बताओ नोटिस जारी की है।

https://www.youtube.com/watch?v=JxHoGbFLcTk

Loading...
Pin It