धर्म और जाति की राजनीति का प्रदूषण फैला रही भाजपा: अखिलेश यादव

  • आपसी भाईचारे में घोल रही जहर, महिलाओं को किया जा रहा अपमानित
  • बदले और विद्वेष की भावना से विपक्ष पर हमलावर है भाजपा सरकार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा की रणनीति धोखा देना है। वह कभी नहीं बदलेगी। उसने पूरा सामाजिक तानाबाना तोड़ दिया है। आपसी भाईचारे में जहर घोलने का काम किया है और धर्म तथा जाति की राजनीति का प्रदूषण फैलाया हैं। आपराधिक सियासत से मुल्क को बचाना है। सियासत में अच्छे लोग आएंगे तो सियासत स्वस्थ होगी। तभी नफरत की पराजय सुनिश्चित होगी।
उन्होंने कहा कि अधिकांश भारतीय आज भी सामाजिक रूप से उदार, राजनीतिक रूप से समझदार और धर्म जैसे व्यक्तिगत विषय को राजनीति के मंच में घसीटकर अपना सियासी फूल खिलाने वालों के विरूद्ध हैं। सीएए के विरोध में आवाज उठाने वाली महिलाओं को अपमानित किए जाने के प्रति आक्रोश जताते हुए उन्होंने कहा कि औरतों को भी आजादी का परचम उठाने का हक है। संघर्ष कभी हिन्दू-मुसलमान नहीं हो सकता है। भाजपा बदले और विद्वेष की भावना से विपक्ष पर हमलावर है। उसे अपनी कुनीतियों का विरोध ‘देशद्रोह‘ लगता है। समाजवादी सरकार के ‘यशभारती‘ सम्मान को भाजपा की राज्य सरकार द्वारा समाप्त किए जाने पर उन्होंने कहा कि यह निर्णय ‘यशभारती‘ का ही अपमान नहीं है बल्कि विद्धानों और अपने-अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वालों का भी अपमान है। पुन: समाजवादी सरकार आने पर पहले से भी अधिक सम्मान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा अपसंस्कृति का वाहक राजनीतिक संगठन है और आरएसएस तथा कथित सांस्कृतिक संगठन है। इनकी विचारधारा लोगों को जोडऩे के बजाय तोडऩे वाली है। इनका स्वतंत्रता आंदोलन के मूल्यों से कुछ लेना देना नहीं है। भाजपा सरकार में सरकार कम्पनी बन गई है। उन्होंने कहा कि गंगा-यमुनी संस्कृति से ही समाज बच सकता है।

नौकरी के नाम पर ठगी का मास्टर माइंड दबोचा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
मेरठ। सिंचाई विभाग में सरकारी नौकरी लगवाने के नाम पर कई लोगों से ठगी का आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गया। आरोपी सिंचाई विभाग में था। फंसने के डर से 2017 में रिटायरमेंट ले लिया था।
कंकरखेड़ा के गोविंदपुरी निवासी संदीप ने 2017 में सिविल लाइंस थाने में ठगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उसने बताया था कि 2016 में उसकी मुलाकात एमडीए कर्मचारी राजकुमार से हुई थी। उसने सिंचाई विभाग में सींचपाल के पद पर नौकरी लगवाने की बात की थी। छह लाख रुपये में बात तय हुई थी। शुरू में उससे एक लाख रुपये राजकुमार ने लिए। जिसके बाद उसने खरखौदा थाना क्षेत्र निवासी पिता-पुत्र रोहताश और अमित से मुलाकात कराई। उन्होंने उससे ढाई लाख लिए। इसके बाद 50 हजार लखनऊ आने-जाने के नाम पर ले लिए। उसके पास आडियो-वीडियो भी है। उसे फर्जी प्रशिक्षण और नियुक्ति पत्र भी सौंप दिया। राजफाश होने के बाद जब उसने रुपये मांगे तो धमकी दी। शिकायत पर पुलिस ने उनकी तलाश शुरू की और शुक्रवार को दबिश देकर ठगी के मास्टर माइंड और रोहताश को सोहराब गेट से दबोच लिया गया है।

https://www.youtube.com/watch?v=tn7MnWEI1V4

Loading...
Pin It