नगर निगम के दो अभियंताओं समेत पांच पर आरोप तय

  • गाडिय़ों के पुर्जे खरीदने में हुआ था फर्जीवाड़ा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। नगर निगम में गाडिय़ों के पुर्जे खरीदने में हुए फर्जीवाड़े में दो अभियंता समेत पांच पर आरोप तय हो गए हैं। इनके खिलाफ कार्रवाई के लिए कमेटी ने रिपोर्ट नगर आयुक्त को भेज दी है।
नगर निगम की कार्यशाला में स्पेयर पाट्र्स खरीद में वर्ष 2018-2019 में कर्मचारियों ने जमकर खेल किया था। इससे नगर निगम को 80.23 लाख रुपए की चपत लगी है। इसका खुलासा होते ही नगर निगम में हडक़ंप मच गया था। अपर नगर आयुक्त अमित कुमार की अध्यक्षता में जांच कमेटी बनी। कमेटी ने जांच करने के बाद गुरुवार को रिपोर्ट सौंप दी है। इसमें सहायक अभियंता राजेश प्रकाश जोशी, अवर अभियंता दिनेश कुमार सिंह, फोरमैन ललित मिश्र, स्टोर कीपर विकास भटनागर व विनय यादव को दोषी पाया गया है। अपर नगर आयुक्त अमित कुमार ने बताया कि 20 तरह की गाडिय़ों के लिए कुल 8600 प्रकार के स्पेयर पाट्र्स खरीदे गए। वर्ष 2018-2019 के कुछ महीनों में करीब चार करोड़ के पाट्र्स खरीदे गए। पार्ट्स के रेट में 20 फीसदी की वृद्धि कर दी गई।

वाणिज्यकर में कैडर रिव्यू नहीं होने पर कर्मी नाराज

  • मांग पूरी नहीं होने पर दी आंदोलन की चेतावनी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश वाणिज्यकर संघ ने विभाग में कैडर रिव्यू नहीं किये जाने पर नाराजगी जताई है। अध्यक्ष राजवर्धन सिंह, वाणिज्य कर अधिकारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष कपिल देव तिवारी और चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी महासंघ के प्रदेश महामंत्री सुरेश सिंह यादव ने कैडर रिव्यू नहीं कराये जाने को कर्मचारियों के मौलिक अधिकारों का हनन बताया है। उन्होंने चेताया है कि विभागीय संगठनों के मुताबिक अगर समय रहते मांग को पूरा नही किया गया तो अधिकारी व कर्मचारी सडक़ पर उतर सकते हैं।
कर्मचारी नेताओं का कहना है कि केन्द्र सरकार सरकार विभागों में बेहतर कार्यप्रणाली और पारदर्शिता लाने के लिये समय के साथ परिवर्तन और तकनीकि दक्षता को बढ़ावा दे रही है जबकि उत्तर प्रदेश में वाणिज्य कर जैसे राजस्व वसूली में महत्वपूर्ण विभाग वर्षों पुराने ढर्रे में चल रहे हैं। प्रदेश में 2017 में जीएसटी व्यवस्था लागू होने के बाद कैडर रिव्यू की जरूरत थी। इसके लिए विभाग ने जीएसटी लागू होने के साथ ही आईआईएम से विभागीय पुर्नसंरचना बनवाने के लिए लगभग 59 लाख का भुगतन कर रिपोर्ट तैयार कराई थी।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.