दिल्ली चुनाव में हार पर कांग्रेस में घमासान

  • अपनों ने उठाए तीखे सवाल लगातार दूसरी बार भी देश की राजधानी में पार्टी नहीं खोल सकी खाता
  • शर्मिष्ठा ने चिदंबरम से पूछा- तो कांग्रेस को बंद कर देनी चाहिए दुकान
  • दिल्ली में पार्टी के चुनाव प्रभारी पीसी चाको बोले, हम नहीं पा सके अपना वोट बैंक

 

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में लगातार दूसरी बार जीरो पाने वाली कांग्रेस में घमासान मच गया है। पार्टी के 63 उम्मीदवारों की इन चुनावों में जमानत जब्त हो गई। पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम द्वारा अरविंद केजरीवाल को दी गई बधाई पर दिल्ली महिला कांग्रेस की अध्यक्ष शर्मिष्ठा मुखर्जी ने उनसे चुभते हुए सवाल पूछे हैं। वहीं पार्टी के दिल्ली चुनाव प्रभारी और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पीसी चाको ने कहा कि आप के उदय के बाद कांग्रेस कभी भी अपना वोट बैंक वापस नहीं पा सकी।
दिल्ली महिला कांग्रेस की अध्यक्ष और पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने आम आदमी पार्टी की जीत पर कांग्रेस की खुशी पर तंज किया है। आम आदमी पार्टी को जीत की चिदंबरम के बधाई देने वाले ट्वीट को अपने ऑफिशल हैंडल से री-ट्वीट करते हुए शर्मिष्ठा ने कहा, सर, उचित सम्मान के साथ बस इतना जानना चाहती हूं कि क्या कांग्रेस पार्टी राज्यों में भाजपा को हराने के लिए क्षेत्रीय दलों को आउटसोर्स कर रही है? यदि नहीं, तो फिर हम अपनी हार पर मंथन करने के बजाय आप की जीत पर गर्व क्यों कर रहे हैं? और अगर ऐसा है, तो हमें (प्रदेश कांग्रेस कमेटी) संभवत: अपनी दुकान बंद कर देनी चाहिए। वहीं, पीसी चाको ने दिल्ली चुनाव नतीजों पर निराशा जताते हुए कहा कि आप के उदय के बाद कांग्रेस कभी भी अपना वोट बैंक वापस नहीं पा सकी। उन्होंने कहा, 2013 में जब शीला दीक्षित दिल्ली की मुख्यमंत्री थी तभी से कांग्रेस का पतन शुरू हो गया था। एक नई पार्टी आप का उभरना कांग्रेस का सारा वोट बैंक छीन ले गया। हम इसे कभी वापस नहीं पा सके हैं। यह अभी भी आप के पास है। इससे पहले मंगलवार को भी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कांग्रेस की रणनीति पर सवाल उठाते हुए कहा था कि भाजपा विभाजनकारी और केजरीवाल स्मार्ट पॉलिटिक्स कर रहे हैं तो हम (कांग्रेस) क्या कर रहे हैं? शर्मिष्ठा ने दिल्ली में कांग्रेस का खाता न खुलने पर ट्वीट करते हुए कहा, हम दिल्ली में फिर हार गए। आत्ममंथन बहुत हुआ अब कार्रवाई का समय है।

क्या कहा था चिदंबरम ने

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने अरविंद केजरीवाल को जीत की बधाई देते हुए कहा था, याद कीजिए, जब दिल्ली में मतदान हुआ था, तब लाखों मलयाली, तमिल, तेलुगु, बंगाली, गुजराती और भारत के अन्य राज्यों से आए लोगों ने मतदान किया था। अगर मतदाता उन राज्यों के विचारों का प्रतिनिधित्व करते हैं जो वे आए थे, तो दिल्ली का मत, विपक्ष के विश्वास बढ़ाने का एक बूस्टर है कि भाजपा को हर राज्य में हराया जा सकता है। मैं दिल्ली के लोगों को सलाम करता हूं जिन्होंने 2021 और 2022 में अन्य राज्यों जहां चुनाव होंगे, उनके लिए मिसाल पेश की है।

दिल्ली में ही दूंगी जवाब: प्रियंका

वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्टï्रीय हवाई अड्डे से बाहर निकलते वक्त प्रियंका गांधी वाड्रा से जब दिल्ली हार का सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि दिल्ली में जवाब दूंगी। इसके बाद वह आजमगढ़ के लिए रवाना हो गईं, जहां नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान पुलिस की कार्रवाई से घायल महिलाओं से मुलाकात करेंगी। इससे पहले वाराणसी में ही प्रियंका गांधी ने एग्जिट पोल में कांग्रेस के बदतर प्रदर्शन के सवाल पर कहा था कि रिजल्ट देखेंगे।

केजरीवाल ने पेश किया सरकार बनाने का दावा

  • उपराज्यपाल से की मुलाकात, रामलीला मैदान में होगा समारोह
  • 16 फरवरी को लेंगे शपथ

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल 16 फरवरी को लगातार तीसरी बार देश की राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन रामलीला मैदान में किया जाएगा।
आज सुबह अरविंद केजरीवाल दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल से मिलने पहुंचे और सरकार गठन का दावा पेश किया। साथ ही शपथ ग्रहण की तारीख की जानकारी दी। इससे पहले राष्टï्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने अपने आवास पर पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक बुलाई थी। इसमें केजरीवाल को विधायक दल का नेता चुना गया। पार्टी के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने यह जानकारी दी। गोपाल राय ने बताया कि 16 फरवरी को शपथ लेंगे। अरविंद केजरीवाल की अगुआई में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में वापसी की है।

यूपी विधान सभा का बजट सत्र कल से सरकार ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, विपक्ष भी तैयार

  • कानून व्यवस्था और किसानों के मुद्दे पर घेरेगा सरकार को

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी विधान सभा का बजट सत्र 13 फरवरी से शुरू होने जा रहा है। इसके पहले सरकार ने आज सर्वदलीय बैठक बुलाई। विधान सभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने विधान सभा में बैठक की। इस मौके सभी दलों के विधायक मौजूद रहे।
बजट सत्र में सरकार को वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए बजट पेश करना है। वहीं विपक्ष की तरफ से भी सरकार को अलग-अलग मुद्दों पर घेरने की रणनीति तैयार की गई है। इसमें सीएए को लेकर हुई हिंसा का मुद्दा महत्वपूर्ण है। इसके अलावा विपक्ष कानून व्यवस्था और किसानों के मुद्दे पर भी सरकार को घेरेगा।

असम एनआरसी की वेबसाइट से गायब हुआ डेटा सरकार ने दी सफाई

  • गृह मंत्रालय बोला, चिंता की जरूरत नहीं, कांग्रेस ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) की अंतिम सूची का सारा डेटा आधिकारिक वेबसाइट से ऑफलाइन हो गया है। इसके पीछे आईटी कंपनी विप्रो के साथ अनुबंध का नवीनीकरण (कॉन्ट्रैक्ट रीन्यू)नहीं होने को वजह बताया जा रहा है। इसे कांग्रेस ने ‘दुर्भावनापूर्ण’ करार दिया है। वहीं केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कहा कि एनआरसी का सारा डेटा सुरक्षित है और किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं।
31 अगस्त 2019 को एनआरसी की अंतिम सूची प्रकाशित होने के बाद वास्तविक भारतीय नागरिकों के नाम शामिल और बाहर किए जाने का पूरा विवरण आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड किया गया था। यह डेटा पिछले कुछ दिनों से उपलब्ध नहीं है और इसने लोगों में दहशत पैदा कर दी है।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.