आप की आंधी में फुस्स हो गया शाहीन बाग का करंट केजरीवाल को प्रचंड बहुमत

  • तीसरी बार दिल्ली में बनेगी आप की सरकार भाजपा के सपनों पर फिरा पानी
  • शाहीन बाग के प्रदर्शन को मुद्दा बनाना नहीं आया काम, कांग्रेस की हालत पतली

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। ढाई सौ से ज्यादा सांसद, हिंदुस्तान से लेकर पाकिस्तान तक की बातें, कई राज्यों के सीएम, राज्यों के दर्जनों मंत्री , गोली मारने से लेकर मस्जिद तोडऩे तक के वादे से लेकर शाहीन बाग के करंट तक भाजपा ने दिल्ली के चुनाव में अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी। खुद गृह मंत्री अमित शाह ने डोर-टू-डोर कैंपेन करके दिल्ली का चुनाव बदलने की पूरी कोशिश की थी मगर आम आदमी पार्टी का विकास इन सब पर भारी पड़ गया। प्रचंड बहुमत से केजरीवाल का तीसरी बार सरकार बनाना साबित कर रहा है कि देश की राजधानी के लोगों ने सबसे ज्यादा जिस मुद््दे पर फोकस किया वो विकास का था। इस जीत का सबसे बड़ा पहलू यह भी है कि अब केजरीवाल पीएम मोदी के सामने विपक्ष का एक मजबूत चेहरा होंगे। माना जा रहा है कि उनके शपथ ग्रहण समारोह में देश के बड़े प्रमुख विपक्षी नेता भी शामिल होंगे।
दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे की तस्वीर करीब-करीब साफ हो गई है। 70 सीटों के रुझान से आम आदमी पार्टी तीसरी बार दिल्ली में सरकार बनाती दिख रही है। रूझानों से साफ है कि आप की आंधी में शाहीन बाग का करंट फुस्स हो गया है और केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को प्रचंड बहुमत मिलता दिख रहा है। ताजा रुझानों में आम आदमी पार्टी 58 जबकि भाजपा 12 सीटों पर आगे चल रही है। दूसरी ओर कांग्रेस का खाता नहीं खुला है। कई कांग्रेस प्रत्याशियों ने नतीजे से पहले ही हार स्वीकार कर ली है। आखिरी नतीजे आने तक सीटों में कुछ अंतर आ सकता है।

आप ने शुरू किया राष्टï्र निर्माण का कैंपेन

दिल्ली चुनाव के वोटों की गिनती जारी है। रुझानों में आम आदमी पार्टी की प्रचंड बहुमत से सरकार बनाती दिख रही है। वोटों की गिनती के बीच आप ने एक और कैंपेन की शुरुआत की है। यह कैंपेन है, राष्ट्र निर्माण। आम आदमी पार्टी (आप) के पार्टी दफ्तर पर आज नया पोस्टर लगा है। इस पोस्टर में लिखा है- राष्टï्र निर्माण के लिए आप से जुड़े। जुडऩे के लिए इस नंबर पर 9871010101 मिस कॉल दें।

केजरीवाल को आतंकी कहे जाने और विकास को बनाया मुद्दा

चुनाव प्रचार में भाजपा ने बार-बार शाहीन बाग का मसला उठाया और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आतंकी तक कह दिया। इसका जवाब केजरीवाल ने यह देकर दिया कि दिल्ली की जनता तय करेगी कि मैं आतंकी हूं या नहीं। हर जनसभा में केजरीवाल ने आतंकी कहे जाने का मसला उठाया और अपने कामों को गिनाते हुए कहा कि आप तय कीजिए कि आपका बेटा आतंकी है या नहीं।

दिल्ली परिणाम का संदेश पूरे देश में जाएगा। जनता एक बार फिर किसान, गरीब, नौजवान, विकास और खुशहाली के लिए मतदान करेगी। जो नफरत की राजनीति भाजपा बहुत दिनों से कर रही है उसमें वह असफल रहेगी।
अखिलेश यादव, सपा प्रमुख

मैं पार्टी के प्रदर्शन की जिम्मेदारी लेता हूं। हम इसके पीछे के कारकों का विश्लेषण करेंगे। हमारे वोट प्रतिशत में गिरावट का कारण भाजपा और आप दोनों द्वारा ध्रुवीकरण की राजनीति है।
सुभाष चोपड़ा, कांग्रेस अध्यक्ष, दिल्ली

परिणाम जो भी हों राज्य प्रमुख होने के नाते मैं जिम्मेदार हूं।
मनोज तिवारी, भाजपा अध्यक्ष, दिल्ली

भारत की आत्मा बचाने के लिए दिल्ली का धन्यवाद।
प्रशांत किशोर, आप के रणनीतिकार

हम जीत के लिए आश्वस्त हैं क्योंकि हमने पिछले 5 सालों में लोगों के लिए काम किया है।
मनीष सिसोदिया, उपमुख्यमंत्री, दिल्ली

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.