यूपी के अफसरों का फरमान टीचर सजायेंगी दुल्हन तो आवारा पशु पकड़ेंगे इंजीनियर

  • शिक्षा एवं लोक निर्माण विभाग के अफसरों के आदेश से शासन-प्रशासन में मचा हडक़ंप
  • सरकार की किरकिरी कराने में जुटे अफसर, विपक्ष ने कार्यप्रणाली पर उठाए सवाल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लगता है सरकार का अपने अधिकारियों पर नियंत्रण नहीं रह गया है। यही वजह है कि विभागीय अफसर न केवल अपनी मनमानी कर रहे हैं बल्कि अपने अजीबोगरीब फरमानों से सरकार की लगातार किरकिरी भी करा रहे हैं। ऐसे ही दो नए फरमान सामने आए हैं। एक ओर सिद्धार्थनगर के खंड शिक्षा अधिकारी ने महिला शिक्षकों को सामूहिक विवाह योजना में दुल्हनों को सजाने-संवारने का आदेश जारी किया है तो दूसरी ओर लोक निर्माण विभाग ने सीएम की प्रस्तावित मिर्जापुर यात्रा को लेकर आवारा पशुओं की धर-पकड़ के लिए इंजीनियरों को आदेशित किया है। इन दोनों फरमानों के सामने आने पर विपक्ष ने सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए हैं।
प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश द्विवेदी के गृह जनपद सिद्धार्थनगर में बच्चों को पढ़ाने-लिखाने की जगह 20 महिला शिक्षकों को सामूहिक विवाह योजना में दुल्हनों को सजाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। एबीएसए ध्रुव प्रसाद जायसवाल की तरफ से इस संबंध में फरमान जारी किया गया है। उन्होंने जिन 20 शिक्षिकाओं की ड्यूटी दुल्हनें सजाने के काम में लगाई है उसमें तीन प्रिंसिपल और दो शिक्षामित्र भी शामिल थीं। इस फरमान के वायरल होने के बाद सरकार में हडक़ंप मच गया है। सरकार की किरकिरी होती देख आनन-फानन में बेसिक शिक्षा मंत्री के निर्देश पर ध्रुव प्रसाद को सस्पेंड कर दिया गया है और इस मामले में की जांच डीएम को सौंपी गई है। आदेश वापस ले लिया गया है। अभी यह मामला शांत भी नहीं हुआ था कि लोक निर्माण विभाग, मिर्जापुर के अधिशासी अभियंता ने आदेश जारी कर सरकार की फजीहत करा दी। आदेश के मुताबिक 29 जनवरी को प्रस्तावित सीएम योगी आदित्यनाथ की मिर्जापुर यात्रा के दौरान रास्ते में कोई आवारा पशु न आए, इसके लिए नौ इंजीनियर तैनात रहेंग और आवारा पशुओं को पकडऩे का काम करेंगे। इस आदेश के सुर्खियों में आने के बाद इसे भी आनन-फानन में वापस लिया गया। इस आदेश को तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया गया है। सवाल यह है कि क्या अधिकारियों को पता नहीं है कि किसको क्या काम सौंपा जाना है। वहीं विपक्ष ने सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए कहा है कि यह सरकार की मानसिकता को दर्शाता है।

इंजीनियर एसोसिएशन ने जताई आपत्ति

इस संबंध में मिर्जापुर के इंजीनियर एसोसिएशन ने पीडब्ल्यूडी विभाग को पत्र लिखकर कहा है कि उनके इंजीनियर पशुओं को पकडऩे में ट्रेंड नहीं है और अगर किसी भी कर्मचारी को चोट लगती है तो उसकी जिम्मेदारी इंजीनियर एसोसिएशन की नहीं होगी। बेहतर है कि प्रशासन किसी दूसरे एजेंसी से इस काम को कराएं।

उच्च अधिकारी बहुत चालक होते है। वे मुख्यमंत्री की समझ को भांप लेते हैं। सीएम अपनी जिम्मेदारी पूरी नहीं कर रहे हैं इसलिए अधिकारी भी कर्मचारियों से उनका मूल काम कराने की जगह उल्टे-सीधे काम करा रहे है। लिहाजा प्रदेश पिछड़ रहा है।
उदयवीर सिंह , एमएलसी, सपा

जब सरकार ही बेपरवाह हो तो अधिकारी लापरवाह होंगे ही। अधिकारियों से उनके विभाग के निजी काम लेने चाहिए। वैसे भी हर विभाग में कर्मचारियों की भारी कमी है। ऐसे में उन्हें आवारा पशुओं को पकडऩे और शादी के कार्य में लगाना सरकार की मानसिकता को दर्शाता है।
अजय कुमार लल्लू, प्रदेश अध्यक्ष, कांग्रेस

जो आदेश था वह मोडिफाइड होकर आ गया है। भाजपा का मानना है कि जिसके जिम्मे जो काम है उससे वही काम लेना चाहिए। मनीष शुक्ला, प्रवक्ता, भाजपा

साल 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य: मोदी

  • 21वीं सदी में कोई भूखा न रहे इसकी जिम्मेदारी सभी की
  • ग्लोबल पोटेटो कॉन्क्लेव को पीएम ने किया संबोधित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। गुजरात के गांधीनगर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज तीसरे ग्लोबल पोटेटो कॉन्क्लेव को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया। उन्होंने कहा कि 21वीं शताब्दी में भी कोई भूखा और कुपोषित न रहे, इसकी बड़ी जिम्मेदारी सभी के कंधों पर है। हमारा लक्ष्य 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने की है।
उन्होंने कहा कि सरकार का जोर कृषि टेक्नॉलॉजी आधारित स्टार्ट अप्स को प्रमोट करने पर भी है ताकि स्मार्ट और प्रिसिजन एग्रीकल्चर के लिए जरूरी किसानों के डेटाबेस और एग्री स्टैक का उपयोग किया जा सके। उन्होंने कहा कि किसान और उपभोक्ता के बीच के बिचौलियों और उपज की बर्बादी को कम करना हमारी प्राथमिकता है। इसके लिए परंपरागत कृषि को बढ़ावा दिया जा रहा है। इस महीने के शुरुआत में एक साथ 6 करोड़ किसानों के बैंक खातों में 12 हजार करोड़ रुपए की राशि ट्रांसफर करके एक नया रिकॉर्ड भी बनाया गया है। फूड प्रोसेसिंग से जुड़े सेक्टर को प्रमोट करने के लिए केंद्र सरकार ने भी अनेक कदम उठाए हैं। किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य को लेकर तेजी से कदम उठाए जा रहे हैं। किसानों के प्रयास और सरकार की पॉलिसी के समन्वय का ही परिणाम है कि अनेक अनाजों और दूसरे खाने के सामान के उत्पादन में भारत दुनिया के टॉप-थ्री देशों में है।

शाहीन बाग पर भाजपा सांसद के बिगड़े बोल, कहा वे आपके घरों में घुसेंगे, करेंगे रेप

  • कहा, कश्मीर जैसी आग लगाने की हो रही साजिश
  • दिल्ली में सरकार बनी तो एक घंटे में खत्म करा देंगे प्रदर्शन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। दिल्ली चुनाव में प्रचार और सभी मुद्दे अब शाहीन बाग की ओर सिमटते नजर आ रहे हैं। पश्चिम दिल्ली से भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा ने शाहीन बाग की तुलना कश्मीर से की है और कहा कि ये लोग आपके घरों में घुसेंगे, रेप करेंगे और मारेंगे। अगर उनकी पार्टी सत्ता में आई तो एक घंटे के भीतर शाहीन बाग को खाली करा दिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया कहते हैं कि मैं शाहीन बाग के साथ हूं। दिल्ली की जनता जानती है कि एक आग कुछ साल पहले कश्मीर में लगी थी। वहां कश्मीर पंडितों की बहन-बेटियों के साथ रेप हुआ था। उसके बाद वह आग यूपी, हैदराबाद, केरल में लगती रही। आज वह आग दिल्ली के एक कोने में लग गई है। ये लोग आपके घरों में घुसेंगे, आपकी बहन-बेटियों को उठाएंगे, रेप करेंगे, उनको मारेंगे। इसलिए आज समय है। कल मोदी और अमित शाह नहीं आएंगे बचाने।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.